Home /News /delhi-ncr /

Omicron New Variant: कोरोना की संभाव‍ित थर्ड वेव से न‍िपटने को केजरीवाल सरकार की तैयारी, बनाया ये बड़ा प्‍लान

Omicron New Variant: कोरोना की संभाव‍ित थर्ड वेव से न‍िपटने को केजरीवाल सरकार की तैयारी, बनाया ये बड़ा प्‍लान

कोरोना के नए वेर‍िएंट के आए मामलों के बाद द‍िल्‍ली सरकार भी पूरी तरह से अलर्ट हो चुकी है.File photo)

कोरोना के नए वेर‍िएंट के आए मामलों के बाद द‍िल्‍ली सरकार भी पूरी तरह से अलर्ट हो चुकी है.File photo)

Omicron Corona new Variant: दक्ष‍िण अफ्रीका और दूसरे कई देशों में कोरोना के नए वेर‍िएंट के आए मामलों के बाद द‍िल्‍ली सरकार भी पूरी तरह से अलर्ट हो चुकी है. केजरीवाल सरकार जहां वायु प्रदूषण की समस्‍या से लड़ रही है. वहीं अब कोरोना की संभाव‍ित तीसरी लहर को लेकर पहले से ही तैयार‍ियां कर रही है. अस्‍पतालों में जहां बेड बढ़ाने का काम क‍िया जा रहा है. वहीं कई नए अस्‍पतालों का न‍िर्माण भी क‍िया जा रहा है. कई जगह पर मेक श‍िफ्ट अस्‍पताल भी तैयार क‍िए जा रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई द‍िल्‍ली. द‍िल्‍ली में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की दूसरी लहर के बाद अब तीसरी लहर (Third Wave) की संभावना जताई जा रही है. दक्ष‍िण अफ्रीका (South Africa) और दूसरे कई देशों में कोरोना के नए वेर‍िएंट (Corona New Variant) के आए मामलों के बाद द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) भी पूरी तरह से अलर्ट हो चुकी है.

    केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) जहां वायु प्रदूषण की समस्‍या से लड़ रही है. वहीं अब कोरोना की संभाव‍ित तीसरी लहर को लेकर पहले से ही तैयार‍ियां कर रही है. अस्‍पतालों में जहां बेड बढ़ाने का काम क‍िया जा रहा है. वहीं कई नए अस्‍पतालों का न‍िर्माण भी क‍िया जा रहा है. कई जगह पर मेक श‍िफ्ट अस्‍पताल (Make Shift Hospital) भी तैयार क‍िए जा रहे हैं.

    इस बीच देखा जाए तो द‍िल्‍ली सरकार कोरोना की संभाव‍ित तीसरी लहर (Corona Third Wave) से न‍िपटने के ल‍िए अपने स्‍वास्‍थ्‍य बुन‍ियादी ढांचे को चुस्‍त दुरूस्‍त करने के साथ-साथ और मजबूत करने की पुरजोर कोश‍िश में जुटी हुई है. द‍िल्‍ली में कोरोना की दूसरी लहर समाप्‍त होने और उसके न‍ियंत्रण में आने के बाद से ही केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) कई बड़ी योजनाओं पर तेजी से काम करती आ रही है.

    अस्‍पतालों में आईसीयू बेड्स बढ़ाने से लेकर नए अस्‍पतालों का तेजी से न‍िर्माण भी कर रही है. साथ ही अस्पतालों में करीब 80 पीएसए प्लांट भी लगाए जा रहे हैं. इन सभी संयंत्रों को जल्‍द चालू करने की योजना भी है.

    बताते चलें क‍ि द‍िल्‍ली सरकार की ओर से कोरोना संक्रमण को काबू करने और कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई को और मजबूती से लड़ने के लिए 1544 करोड़ रुपए कैबिनेट ने भी मंजूर क‍िए थे. यह राश‍ि वित्तीय वर्ष 2021-22 में खर्च की जाएगी. इस सभी को सरकार कोरोना महामारी से मजबूती के साथ लड़ने में टेस्टिंग और लैब सुदृढ़ीकरण करने, दवा व उपकरण खरीदने, अतिरिक्त मानव संसाधन जुटाने, अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने और कोविड देखभाल केंद्रों के प्रबंधन आदि पर खर्च करेगी.

    ये भी पढ़ें: DDMA: इन देशों के यात्र‍ियों का एयरपोर्ट पर RT-PCR Test अन‍िवार्य, पॉज‍ि‍ट‍िव म‍िलने पर होंगे क्‍वारेंटाइन व होम आइसोलेट

    इस बीच देखा जाए तो द‍िल्‍ली सरकार कोविड-19 (Covid-19) की संभावित तीसरी लहर से न‍िपटने के ल‍िए राज्य नोडल अधिकारी और राज्य स्तरीय टास्क फोर्स का भी गठन कर चुकी है. दक्ष‍िण अफ्रीका और दूसरे कई देशों में कोरोना के नए वेर‍िएंट ओम‍िक्रॉन के मामले आने के बाद पूरी सतर्कता बरतने के न‍िर्देश द‍िए जा रहे हैं. साथ ही एक्‍सपर्ट दिल्ली सहित देश में कोविड-19 की तीसरी लहर आने की आशंका भी जता रहे हैं. एक्‍सपर्ट यह संभावना भी जता रहे हैं कि अगर संभावित तीसरी लहर आती है, तो बीती कोविड-19 लहरों से कहीं ज्यादा मामले आ सकते हैं.

    बताया जाता है क‍ि ओम‍िक्रॉन दूसरे कोरोना के सभी वेर‍िएंट से ज्‍यादा घातक होगा. इस सभी के मद्देनजर दिल्ली सरकार कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर के प्रबंधन की तैयारि‍यों में तेजी से जुट गई है. हालांक‍ि सरकार की ओर से पहले ही राज्य नोडल अधिकारी और कई कार्य आधारित उप समितियों के तहत एक राज्य स्तरीय टास्क फोर्स का गठन की जा चुकी हैं.

    नए अस्‍पतालों में तैयार क‍िए जा रहे 7,000 आईसीयू बेड
    द‍िल्‍ली सरकार अस्‍पतालों में बेड्स की संख्या को बढ़ाने की हरसंभव कोश‍िश में जुटी हुई है. सरकार की ओर से जहां मौजूदा अस्‍पतालों में बेड्स बढ़ाए जा रहे हैं. वहीं नए अस्पतालों का न‍िर्माण भी क‍िया जा रहा है. केजरीवाल सरकार दिल्ली में 7 नए अस्पताल बना रही है ज‍िससे अस्‍पतालों में 6,836 आईसीयू बेड बढ़ जाएंगे. दिल्ली में आईसीयू बेड की क्षमता बढ़कर 17 हजार के पार पहुंच जाएगी.

    ये भी पढ़ें: Omicron New Variant: कोरोना के नए वेर‍िएंट ओम‍िक्रॉन को लेकर केजरीवाल सरकार अलर्ट, सीएम ने कल बुलाई हाईलेवल मीट‍िंग 

    मौजूदा सरकारी अस्‍पतालों में दस हजार आईसीयू बेड उपलब्‍ध
    द‍िल्‍ली सरकार की ओर से जो नए आईसीयू बेड बनाए जा रहे हैं वो सरिता विहार, शालीमार बाग, सुल्तानपुरी, किराड़ी, रघुबीर नगर, जीटीबी अस्पताल और चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय में अस्पताल बनाए जा रहे हैं. दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में लगभग 10 हजार आईसीयू बेड हैं. नए 7,000 बेड बढ़ाए जाने के बाद आईसीयू बेड़ की क्षमता में लगभग 70 फीसदी का इजाफा होगा. शालीमार बाग में 1430 आईसीयू बेड़, किराड़ी में 458 आईसीयू बेड़, जीटीबी अस्पताल में 1912 आईसीयू बेड, रघुवीर नगर में 1565 आईसीयू बेड़, सीएनबीसी में 2.32 610 आईसीयू बेड और सुल्तानपुरी में 525 आईसीयू बेड का अस्पताल न‍िर्माणाधीन है. इन अस्पतालों में इमरजेंसी, ओपीडी, वार्ड सहित सभी सुविधाएं उपलब्‍ध होंगी.

    ये भी पढ़ें: Omicron Variant के चलते अब IGI Airport पर साउथ अफ्रीका से आने वाले यात्र‍ियों की होगी गहन जांच, केंद्र ने ल‍िया ये फैसला 

    ऑक्सीजन के मामले में दिल्ली को आत्मनिर्भर बना रही केजरीवाल सरकार
    इतना ही नहीं केजरीवाल सरकार संभाव‍ित तीसरी लहर से न‍िपटने के ल‍िए सरकारी अस्पतालों को ऑक्सीजन सुव‍िधा से लैस करने की कोश‍िश में जुटी हुई है. दिल्ली के अस्पतालों में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट्स लगा रही है, ताकि अस्पतालों की बाहर से ऑक्सीजन लेने की निर्भरता कम हो सके और आपातकाल के दौरान दूसरे अस्पताल भी इन प्लांट्स से ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल करा सकें.

    कोरोना की पिछली लहर के दौरान दिल्ली में ऑक्सीजन की मांग बढ़ गई थी और कई अस्पतालों को ऑक्सीजन की किल्लत से जूझना पड़ा था. भविष्य में किसी भी संकट के दौरान ऐसी स्थिति उत्पन्न न हो, इसके लिए केजरीवाल सरकार, दिल्ली को ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर भी बना रही है.

    Tags: Arvind kejriwal, Corona third wave, COVID 19, Delhi Government, Delhi news, Omicron, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर