Home /News /delhi-ncr /

kejriwal government speeds up the project of real time source apportionment system

Delhi: प्रदूषण में रियल टाइम कारकों का पता लगाएगी केजरीवाल सरकार, अगस्‍त तक यहां तैयार होगी सुपर साइट

द‍िल्‍ली सरकार ने रियल टाइम वास्तविक डाटा का पता लगाने के ल‍िए पहली सुपर साइट पंडारा में बनाई जा रही है. (फ़ाइल फोटो)

द‍िल्‍ली सरकार ने रियल टाइम वास्तविक डाटा का पता लगाने के ल‍िए पहली सुपर साइट पंडारा में बनाई जा रही है. (फ़ाइल फोटो)

Real-Time Source Apportionment System: केजरीवाल सरकार (Kejriwal government) ने रियल टाइम वास्तविक डाटा (real time data) का पता लगाने के ल‍िए योजना तैयार की है. इसके ल‍िए पहली सुपर साइट पंडारा में बनाई जा रही है. दिल्ली में अगस्त में रियल टाइम सोर्स अपॉर्शन्मन्ट परियोजना (Real-Time Source Apportionment System) की सुपरसाइट और मोबाइल लैब को लांच किया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. दिल्ली में प्रदूषण की समस्‍या (Delhi pollution problem) से न‍िपटने के ल‍िए केजरीवाल सरकार (Kejriwal government) की ओर से हरसंभव प्रयास क‍िए जा रहे हैं. इसके ल‍िए सरकार ने रियल टाइम वास्तविक डाटा (Real Time Data) का पता लगाने के ल‍िए योजना तैयार की है. इसके ल‍िए पहली सुपर साइट पंडारा में बनाई जा रही है. दिल्ली में अगस्त में रियल टाइम सोर्स अपॉर्शन्मन्ट परियोजना (Real-Time Source Apportionment System) की सुपरसाइट और मोबाइल लैब (Supersite and Mobile Lab) को लांच किया जाएगा.

    पर्यावरण मंत्री गोपाल राय की अध्यक्षता में आज दिल्ली सचिवालय में रीयल-टाइम सोर्स अपॉर्शन्मन्ट परियोजना को लेकर समीक्षा बैठक की गई. बैठक में डीपीसीसी, आईआईटी कानपुर, आईआईटी दिल्ली और टेरी के विशेषज्ञ और अधिकारी मौजूद रहें.

    Delhi: हर‍ियाली से लबरेज नजर आएंगी रोडसाइड, केजरीवाल सरकार ने तैयार क‍िया ये बड़ा प्‍लान

    मंत्री गोपाल राय ने बताया कि आईआईटी कानपुर की टीम ने अवगत कराया कि दिल्ली में प्रदूषण के वास्तविक स्रोतों का पता लगाने के लिए सुपर साइट की स्थापना जल्द हो जाएगी जिसके तहत एसकेवी, पंडारा रोड में सुपर साइट का निर्माण किया जाएगा. सुपरसाइट 36 वर्ग मीटर क्षेत्र में बनाई जाएगी. इसके साथ ही दिल्ली में अगस्त से प्रदूषण के रियल टाइम कारकों का पता लगेगा, जिससे प्रदूषण के उस सोर्स को नियंत्रित करने की रणनीति बनाने में मदद मिलेगी.

    पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि इस तरह की परियोजना से दिल्ली वायु प्रदूषण का वास्तविक समय स्रोत विभाजन करने वाला पहला शहर बनेगा. रीयल-टाइम सोर्स अपॉर्शन्मन्ट परियोजना दिल्ली में किसी भी स्थान पर वायु प्रदूषण में वृद्धि के लिए जिम्मेदार कारकों की पहचान करने में मदद करेगी. यह वाहन, धूल, बायोमास जलने, पराली जलाने और उद्योग उत्सर्जन जैसे विभिन्न प्रदूषण स्रोतों के वास्तविक समय के प्रभाव को समझने में मदद करेगी.

    इसके परिणामों के आधार पर दिल्ली सरकार प्रदूषण के स्रोतों पर अंकुश लगाने के लिए आवश्यक कदम उठा सकेगी. इससे दिल्ली के प्रदूषण के विभिन्न कारकों की पहचान करने और उनको दूर करने में मदद मिलेगी. प्रदूषण पूर्वानुमान प्राप्त होने से सरकार को निर्माण स्थल पर प्रतिबंध, वाहनों पर प्रतिबंध सहित अन्य नीतिगत निर्णय लेने में भी मदद मिलेगी.

    Tags: Delhi air pollution, Delhi news, Delhi pollution, Gopal Rai, Kejriwal Government

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर