Home /News /delhi-ncr /

kejriwal government to provide free sewer connection of 25000 households of east delhi

Delhi: यमुना सफाई को लेकर केजरीवाल सरकार का बड़ा ऐलान, 25 हजार पर‍िवारों को म‍िलेगा फ्री सीवर कनेक्‍शन

पूर्वी द‍िल्‍ली के करावल नगर और मुस्‍तफाबाद व‍िधानसभा की 12 कालोन‍ियों के अलग-अलग घरों को मुफ्त सीवर कनेक्‍शन द‍िया जाएगा.

पूर्वी द‍िल्‍ली के करावल नगर और मुस्‍तफाबाद व‍िधानसभा की 12 कालोन‍ियों के अलग-अलग घरों को मुफ्त सीवर कनेक्‍शन द‍िया जाएगा.

Mukhyamantri Muft Sewer Connection Yojna: पूर्वी दिल्ली के करावल नगर और मुस्तफाबाद निर्वाचन क्षेत्रों में 12 कॉलोनियों के अलग-अलग घरों में सीवर कनेक्शन प्रदान किया जाएगा. लगभग 25,000 परिवारों को केजरीवाल सरकार के इस फैसले से लाभ मिलेगा. इस परियोजना के लिए 19 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. द‍िल्‍ली की आम आदमी पार्टी सरकार (AAP Government) 2025 तक यमुना नदी (Yamuna River) की सफाई पूरी करने, हर घर को 24 घंटे नल से साफ पानी देने और सभी अनाधिकृत कॉलोनियों (Unauthorized Colonies) के घरों को सीवर लाइन (Sewer Line) से जोड़ने को लेकर गंभीरता से काम कर रही है. इसको लेकर सरकार ने फैसला क‍िया है क‍ि पूर्वी द‍िल्‍ली के करावल नगर और मुस्‍तफाबाद व‍िधानसभा की 12 कालोन‍ियों के अलग-अलग घरों को मुफ्त सीवर कनेक्‍शन (Free Sewer Connection) द‍िया जाएगा. यानी 25 हजार पर‍िवारों को फ्री सीवर कनेक्‍शन का लाभ म‍िलेगा.

जल मंत्री व द‍िल्‍ली जल बोर्ड के अध्‍यक्ष सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain) की अध्‍यक्षता में आज बृहस्पतिवार को दिल्ली सचिवालय में सी‍न‍ियर अफसरों के साथ मीट‍िंग आयोज‍ित की गई. मीट‍िंग में नई सीवर लाइनें बिछाने, लोगों को घरेलू सीवर कनेक्शन उपलब्ध कराने, मौजूदा एसटीपी को अपग्रेड करने, जेजे क्लस्टर कॉलोनियों में आरओ पानी की सुविधा देने और दिल्ली जल बोर्ड की राजस्व प्रबंधन प्रणाली में सुधार करने को लेकर चर्चा की गई. यमुना सफाई पर केंद्रित बोर्ड बैठक में राष्ट्रीय राजधानी में वेस्टवाटर मैनेजमेंट से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं को मंजूरी दी गई. साथ ही अधिकारियों को सभी परियोजनाओं को समय सीमा के अंदर काम पूरा करने के निर्देश दिए.

Delhi: सीवेज की समस्‍या से न‍िपटने को केजरीवाल सरकार ने बनाया प्‍लान, पायलेट प्रोजेक्‍ट के तौर पर चुने ये पांच इलाके

25 हजार घरों को मुफ्त सीवर कनेक्शन 19 करोड़ का बजट आवंटित 

बोर्ड बैठक में निर्णय लिया गया कि पूर्वी दिल्ली के करावल नगर और मुस्तफाबाद निर्वाचन क्षेत्रों में 12 कॉलोनियों के अलग-अलग घरों में सीवर कनेक्शन प्रदान किया जाएगा. लगभग 25,000 परिवारों को केजरीवाल सरकार के इस फैसले से लाभ मिलेगा. इस परियोजना के लिए 19 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया जाएगा. सीवर कनेक्शन ऐसी कॉलोनियों में दिया जाएगा, जिनके घरों में सीवर कनेक्शन नहीं हैं और दिल्ली की मुख्य सीवेज प्रबंधन प्रणाली के बजाय सीवर के पानी को खुली नालियों और सार्वजनिक स्थानों पर छोड़ते हैं.

इन घरों को दिल्ली जल बोर्ड द्वारा पहले से बिछाई गई सीवरेज लाइनों से जोड़ा जाएगा, जिसके बाद यहां के सीवरेज को ट्रीट करने के लिए यमुना विहार एसटीपी तक पहुंचाया जाएगा. इससे यमुना में प्रवाहित होने से पहले करीब 2.5 करोड़ लीटर सीवेज का उपचार करने में मदद मिलेगी. साथ ही केजरीवाल सरकार के 2025 तक यमुना की सफाई का लक्ष्य पूरा होने में भी अहम योगदान रहेगा. आसपास के लोगों को गंदे पानी के कारण होने वाली बीमारियों से राहत और स्वच्छ वातारण मिलेगा. लोगों को फुटपाथ के नीचे सीवेज के रिसाव के कारण घरों की नींव को कमजोर होने का डर भी नहीं सताएगा.

इन 12 कॉलोनियों में दिया जाएगा सीवर कनेक्शन

चंदू नगर, मूंगा नगर, राजीव गांधी नगर, नेहरू विहार, ओल्ड मुस्तफाबाद गली नंबर 1-9, मुस्तफाबाद एक्सटेंशन गली नंबर 10-27, दयालपुर एक्सटेंशन ए, बी, सी, डी, ई और एफ ब्लॉक, और न्यू चौहानपुर गांव के आसपास के क्षेत्र, खजूरी खास गांव एलओपी और आसपास के क्षेत्र (खजुरी खास ए-डी ब्लॉक), खजूरी खास एक्सटेंशन ई-ब्लॉक, खजूरी खास एक्सटेंशन ई-ब्लॉक (एलओपी, खजूरी खास एफ-ब्लॉक और चांद बाग प्रमुख रूप से शाम‍िल हैं.

बुराड़ी और नरेला में बिछाई जाएगी नई सीवर लाइनें

बोर्ड ने नरेला में 10 किमी और बुराड़ी में 25 किमी की सीवर लाइनें बिछाने की मंजूरी दी है. नरेला और बुराड़ी में सीवर लाइनों से निकलने वाले सीवेज को उनके संबंधित एसटीपी तक पहुंचाया जाएगा. यानि नरेला के सीवरेज को नरेला एसटीपी और बुराड़ी का कोरोनेशन एसटीपी में ले जाया जाएगा. नरेला एसटीपी कैचमेंट एरिया के तहत आने वाली कॉलोनियों के सिंघू ग्रुप में 10 किलोमीटर सीवर लाइन और कोरोनेशन एसटीपी कैचमेंट एरिया के तहत आने वाले प्रधान एन्क्लेव में 25 किलोमीटर सीवर लाइन बिछाई जाएगी. वर्तमान में इन दोनों क्षेत्रों में सीवरेज लाइन नहीं है.

नाले के जरिये यहां से उत्पन्न सीवेज यमुना नदी में बहता है. खुले क्षेत्रों में सीवेज का पानी बहने से लोगों को मलेरिया, डेंगू, हैजा और टाइफाइड सहित कई घातक बीमारियों के होने का डर बना रहता है. यहां पर सीवर लाइनें बिछने से इस तरह की बीमारियों को फैलने से रोका जा सकेगा. इलाके के लोगों के स्वास्थ्य और स्वच्छता मानकों में सुधार होगा. वहीं, यमुना में सीधे सीवेज के गंदे पानी को गिरने से रोका जा सकेगा. परियोजना के पूरा होने के बाद नरेला की करीब 15,000 लोगों और बुराड़ी के 41,000 लोगों को फायदा मिलेगा.

Tags: Delhi Government, Delhi news, Satyendra jain, Yamuna River

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर