• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Delhi Government: सर्दियों में वायु प्रदूषण से न‍िजात द‍िलाने को सरकार ने बनाया 'व‍िंटर एक्‍शन प्‍लान'

Delhi Government: सर्दियों में वायु प्रदूषण से न‍िजात द‍िलाने को सरकार ने बनाया 'व‍िंटर एक्‍शन प्‍लान'

सर्दियों में वायु प्रदूषण से न‍िजात द‍िलाने को लेकर द‍िल्‍ली सरकार ने व‍िंटर एक्‍शन प्‍लान तैयार क‍िया है.  (File Photo)

सर्दियों में वायु प्रदूषण से न‍िजात द‍िलाने को लेकर द‍िल्‍ली सरकार ने व‍िंटर एक्‍शन प्‍लान तैयार क‍िया है. (File Photo)

Delhi Government: सर्दियों में वायु प्रदूषण से न‍िजात द‍िलाने को लेकर द‍िल्‍ली सरकार ने व‍िंटर एक्‍शन प्‍लान तैयार क‍िया है ज‍िसके तहत अब स‍िलस‍िलेवार तरीके से योजना पर कार्रवाई की जाएगी. पराली से फैलने वाले प्रदूषण से न‍िजात द‍िलाने की ल‍िए बड़ी योजना तैयार की है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 24 सितंबर को बायो डि-कंपोजर का घोल बनाने की प्रक्रिया की शुरूआत करेंगे ज‍िसको 5 अक्‍टूबर तक तैयार कर ल‍िया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. द‍िल्‍ली में वायु प्रदूषण (Air Pollution) के ख‍िलाफ केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) ने लड़ाई लड़ने की तैयारी अभी से शुरू कर दी है. सर्दियों में वायु प्रदूषण से न‍िजात द‍िलाने को लेकर द‍िल्‍ली सरकार ने व‍िंटर एक्‍शन प्‍लान (Winter Action Plan) तैयार क‍िया है ज‍िसके तहत अब स‍िलस‍िलेवार तरीके से योजना पर कार्रवाई की जाएगी.

    पराली से फैलने वाले प्रदूषण से न‍िजात द‍िलाने की ल‍िए बड़ी योजना तैयार की है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) 24 सितंबर को बायो डि-कंपोजर का घोल बनाने की प्रक्रिया की शुरूआत करेंगे ज‍िसको 5 अक्‍टूबर तक तैयार कर ल‍िया जाएगा.
    ये भी पढ़ें: द‍िल्‍ली में बड़े पैमाने पर कई सीनियर IAS का ट्रांसफर, DTC के एमडी, जल बोर्ड CEO, हेल्‍थ सेक्रेटरी इनमें शामिल 

    पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने पिछले साल की तरह इस बार भी इच्छुक किसानों के खेत में बायो डि-कंपोजर का निःशुल्क छिड़काव करने के लिए घोल बनाने की तैयारी शुरू कर दी है. सीएम केजरीवाल 24 सितंबर को घोल बनाने की प्रक्रिया की शुरूआत करेंगे. भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, पूसा के सहयोग से खरखरी नाहर में यह घोल तैयार किया जाएगा.

    पर्यावरण मंत्री ने कहा कि थर्ड पार्टी ऑडिट की रिपोर्ट से किसान बहुत उत्साहित हैं और गैर बासमती धान वाले खेतों में भी छिड़काव की मांग किए हैं. इसलिए इस बार 2 हजार एकड़ के बजाय 4 हजार एकड़ खेत के लिए घोल तैयार किया जाएगा और इस पर करीब 50 लाख रुपए खर्च आएगा.

    ये भी पढ़ें: Assembly Elections 2022 : अब गोवा में बेरोजगार युवाओं से संवाद करेंगे सीएम अरव‍िंद केजरीवाल 

    उन्होंने केंद्र सरकार से पराली और बायो डि-कंपोजर के मुद्दे पर जल्द निर्णय लेने की मांग की, ताकि समय रहते सभी राज्यों में बायो डि-कंपोजर का छिड़काव किया जा सके. उन्होंने केंद्र से अपील की कि इसे इमरजेंसी मानते हुए जल्द कार्रवाई की जाए, ताकि दिल्ली समेत उत्तर भारत के लोगों को पराली की समस्या से निजात मिल सके.

    पड़ोसी राज्यों में पराली जलने से बढ़ता है द‍िल्‍ली में प्रदूषण
    मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के अंदर प्रदूषण की समस्या के समाधान के लिए दिल्ली सरकार लगातार अलग-अलग विभागों के साथ बैठक कर अपना विंटर एक्शन प्लान बनाने की तरफ बढ़ रही है. सभी विभाग अपने विंटर एक्शन प्लान बना रहे हैं, जिसे हम 30 सितंबर तक तैयार कर लेंगे. उसके बाद हम प्लान को मुख्यमंत्री के सामने प्रस्तुत करेंगे और विचार-विमर्श के बाद उसे घोषित करेंगे. प्रदूषण को बढ़ाने में पराली की एक अहम भूमिका होती है. जब दिल्ली के चारों तरफ पड़ोसी राज्यों में पराली जलनी शुरू होती है, तो उसके धुएं की चादर पूरी दिल्ली को घेर लेती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज