Home /News /delhi-ncr /

प्रदूषण को काबू करने के लिए केजरीवाल सरकार ने उठाए ये 10 बड़े कदम, पब्लिक ट्रांसपोर्ट को भी देगी बढ़ावा

प्रदूषण को काबू करने के लिए केजरीवाल सरकार ने उठाए ये 10 बड़े कदम, पब्लिक ट्रांसपोर्ट को भी देगी बढ़ावा

केजरीवाल सरकार ने वायु प्रदूषण को काबू करने के लिए दिल्ली में 10 बड़े कदम उठाए हैं.

केजरीवाल सरकार ने वायु प्रदूषण को काबू करने के लिए दिल्ली में 10 बड़े कदम उठाए हैं.

Air Pollution News: दिल्ली की केजरीवाल सरकार (Kejriwal Govt) ने वायु प्रदूषण (Air Pollution) को काबू करने के लिए बुधवार को 10 बड़े कदम उठाए हैं. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने संबंधित विभागों के साथ बैठक कर कई निर्णय लिए हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. दिल्ली की केजरीवाल सरकार (Kejriwal Govt) ने वायु प्रदूषण (Air Pollution) को काबू करने के लिए बुधवार को 10 बड़े कदम उठाए हैं. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने संबंधित विभागों के साथ बैठक कर कई निर्णय लिए हैं. गोपाल राय के मुताबिक, दिल्ली में पब्लिक ट्रांसपोर्ट (Public Transport) को बढ़ाने के लिए अब एक हजार प्राइवेट सीएनजी बसों (CNG Buses) को हायर किया जाएगा. इसके साथ ही निर्माण और डिमोलिशन गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. साथ ही दिल्ली सरकार के विभागों में वर्क फ्रॉम होम 21 नवंबर तक बढ़ा दिया गया है. स्कूल-कॉलेज समेत सभी शैक्षणिक संस्थान अगले आदेश तक बंद रहेंगे.

    पर्यावरण मंत्री ने बताया कि दिल्ली पुलिस और ट्रांसपोर्ट विभाग को आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बाहर से आने वाली ट्रक को दिल्ली में प्रवेश करने पर रोक लगाने के निर्देश दिए गए हैं. मेट्रो और डीटीसी ने यात्रियों को खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति देने पर पुनर्विचार करने के लिए डीडीएमए को पत्र लिखा है. 10 साल पुरानी डीजल और 15 साल पुरानी पेट्रोल गाड़ियों पर पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी और दिल्ली में गैस के अलावा प्रदूषित ईंधन से कोई इंडस्ट्री चलती पाई जाएगी तो उस पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी. इन सभी निर्णयों को तत्काल प्रभाव से लागू करने के लिए दिशा-निर्देश जारी किया गया है.

    air pollution

    17 नवंबर तक दिल्ली के अंदर सभी निर्माण और ध्वस्तीकरण गतिविधियों को बंद कर दिया गया है. (File pic)

    दिल्ली सरकार ने उठाए ये कदम
    पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि दिल्ली के अंदर बढ़े हुए प्रदूषण को रोकने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में बैठक के बाद दिल्ली सरकार ने कुछ इमरजेंसी कदम उठाए थे. जिसके तहत 17 नवंबर तक दिल्ली के अंदर सभी निर्माण और ध्वस्तीकरण गतिविधियों को बंद कर दिया गया था. दिल्ली सरकार की ओर से पहले लिए निर्णय और कल एयर क्वालिटी मैनेजमेंट कमीशन की हुई पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और दिल्ली की संयुक्त बैठक में दिए गए दिशा-निर्देश के आधार पर आज हमने अलग-अलग विभागों के साथ बैठक की. इस बैठक में कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं. आज की बैठक में दिल्ली के अंदर निर्माण और ध्वस्तीकरण गतिविधियों पर प्रतिबंध बढ़ाकर 21 नवंबर तक करने का निर्णय लिया गया है. अब दिल्ली के अंदर निर्माण और ध्वस्तीकरण गतिविधियों पर 21 नवंबर तक प्रतिबंध रहेगा.

    21 नवंबर तक सरकारी विभागों में 100 फीसदी WFH
    दिल्ली के अंदर 21 नवंबर तक 100 फीसद सरकारी विभागों में वर्क फ्रॉम होम रहेगा. इसके अलावा दिल्ली में स्कूल-कॉलेज, इंस्टीट्यूट, ट्रेनिंग सेंटर और लाइब्रेसी आदि अगले आदेश तक बंद रखने का निर्णय लिया गया है. मेट्रो और डीटीसी ने खड़े होकर यात्रा करने पर लगे प्रतिबंध पर पुनर्विचार के लिए डीडीएमए को पत्र लिखा है. पुलिस विभाग और ट्रसपोर्ट विभाग मिलकर इस आदेश का पालन सुनिश्चित कराएगा. दिल्ली के अंदर पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ाने के लिए एक हजार प्राइवेट सीएनजी बसों को हायर करने की प्रकिया कल से शुरू की जाएगी. एक हजार प्राइवेट सीएनजी बसों को हायर करके सड़क पर उतारेंगे, जिससे लोग पब्लिक ट्रांसपोर्ट का अधिक से अधिक उपयोग करें.

    Delhi, air pollution, water sprinkling, Diwali, Gopal Rai, 114 water tankers deployed, दिल्ली, वायु प्रदूषण, पानी छिड़काव, दिवाली, गोपाल राय, 114 पानी के टैंकर तैनात

    दिल्ली के अंदर 372 वाटर स्प्रिंकलिंग के टैंकर काम कर रहे हैं. (सांकेतिक फोटो)

    डीटीसी और मेट्रो में यात्रियों की संख्या बढ़ेगी?
    मेट्रो और डीटीसी की तरफ से डीडीएमए को पत्र लिखा गया है. अभी तक कोरोना की स्थिति की वजह से मेट्रो और डीटीसी बसों में केवल बैठ कर यात्रा करने की अनुमति है. बसों और मेट्रो में खड़े होकर यात्रा करने पर रोक है. इस संबंध में डीडीएम को पत्र लिख कर पुनर्विचार किया जाए और नया दिशा-निर्देश दिया जाए, जिससे कि इनमें यात्री क्षमता को बढ़ाया जा सके.

    ये भी पढ़ें: रोड टैक्स जमा नहीं किया तो अब होगा चालान और गाड़ी में रेडियम प्लेट नहीं लगाया तो 10 हजार रुपये का जुर्माना

    ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन 15 दिन के लिए बढ़ा
    गोपाल राय ने आगे कहा कि दिल्ली के अंदर 10 साल पुरानी डीजल गाड़ियों और 15 साल पुरानी पेट्रोल की गाड़ियों की सूची ट्रांसपोर्ट विभाग की ओर से पुलिस विभाग को सौंपा गया है, जिसके आधार पर पुलिस इन वाहनों को सड़क पर चलने पर रोक लगाएगी. पीयूसी का पेट्रोल पंपों पर जांच अभियान चल रहा था, उसे और सघन किया जाएगा, जिससे कि प्रदूषण पैदा करने वाली गाड़ियों को रोका जा सके. इसके अलावा अभी दिल्ली के अंदर 372 वाटर स्प्रिंकलिंग के टैंकर काम कर रहे हैं. दिल्ली में चिंहित 13 हॉटस्पॉट पर फायर ब्रिगेड की मशीनों को लगाया जाएगा, जिससे कि वहां पर पानी का छिड़काव और ज्यादा किया जा सके. दिल्ली के अंदर गैस के अलावा, जो भी इंडस्ट्री चल रही है, उसे बंद किया जाएगा.

    Tags: Air pollution in Delhi, CM Arvind Kejriwal, Delhi news update, Delhi pollution, Gopal Rai

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर