Home /News /delhi-ncr /

kejriwal government will set up decentralized stp across delhi to deal with sewage problem

Delhi: सीवेज की समस्‍या से न‍िपटने को केजरीवाल सरकार ने बनाया प्‍लान, पायलेट प्रोजेक्‍ट के तौर पर चुने ये पांच इलाके

द‍िल्‍लीभर में डिसेंट्रलाइज्ड सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने की तैयारी की है.

द‍िल्‍लीभर में डिसेंट्रलाइज्ड सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने की तैयारी की है.

Decentralized STP: द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) की ओर से अब द‍िल्‍लीभर में डिसेंट्रलाइज्ड सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट ( Decentralized STP) बनाने की तैयारी की है. पायलट प्रोजेक्‍ट के तौर इनकी शुरुआत पांच जगहों पर लगाकर की जा रही है. इन सभी का न‍िर्माण द‍िल्‍ली जल बोर्ड की ओर से क‍िया जा रहा है. डि-एसटीपी एक ऐसा मैकेनिज्म है जिसमें एक छोटा सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (STP) लगाया जाता है जिसकी मदद से गंदा पानी जहां से उत्पन्न हो रहा है उसे उसी जगह ट्रीट किया जा सके.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. द‍िल्‍ली सीवरेज की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए अब केजरीवाल सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) की ओर से अब द‍िल्‍लीभर में डिसेंट्रलाइज्ड सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट ( Decentralized STP) बनाने की तैयारी की है. पायलट प्रोजेक्‍ट के तौर इनकी शुरुआत पांच जगहों पर लगाकर की जा रही है. इन सभी का न‍िर्माण द‍िल्‍ली जल बोर्ड की ओर से क‍िया जा रहा है. इसी कड़ी में सोमवार को जल मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain) ने निर्माणाधीन कार्य का निरीक्षण करने के लिए पीतमपुरा के संदेश विहार स्थित एक पार्क का दौरा किया.

उन्होंने संबंधित अधिकारियों को पब्लिक पार्क का सौंदर्यीकरण कर बेहतर बनाने और यहां उपलब्ध जगह का किफायत से इस्तेमाल करने के आदेश दिए. जल मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि डिसेंट्रलाइज्ड-एसटीपी सौंदर्य की दृष्टि से भी सुंदर दिखना चाहिए और वहीं, सार्वजनिक सुविधा से समझौता भी नहीं होना चाहिए.

ये भी पढ़ें: दिल्ली में लगेगा भारत का सबसे बड़ा सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, साल के अंत तक चालू होने की है उम्मीद

इस तरह से समझे डिसेंट्रलाइज्ड सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट की वर्क‍िंंग 
डिसेंट्रलाइज्ड सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट एक ऐसा मैकेनिज्म है जिसमें एक छोटा सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट (Sewage Treatment Plant) लगाया जाता है जिसकी मदद से गंदा पानी जहां से उत्पन्न हो रहा है उसे उसी जगह ट्रीट किया जा सके. दिल्ली सरकार का लक्ष्य डिसेंट्रलाइज्ड-एसटीपी के जरिए दिल्ली के ज्यादा से ज्यादा पार्कों में पानी की सिंचाई की समस्या का समाधान करना है. इस पहल का उद्देश्य स्थानीय स्तर पर सीवेज के पानी का उपचार करना और इसका उपयोग बागवानी के लिए करना है.

जल मंत्री सत्येंद्र जैन ने निर्माणाधीन कार्य का निरीक्षण करने के लिए पीतमपुरा के संदेश विहार स्थित एक पार्क का दौरा किया.

जल मंत्री सत्येंद्र जैन ने निर्माणाधीन कार्य का निरीक्षण करने के लिए पीतमपुरा के संदेश विहार स्थित एक पार्क का दौरा किया.

ये होते हैं डिसेंट्रलाइज्ड सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के फायदे
इसके अलावा, डिसेंट्रलाइज्ड- एसटीपी खाद की खरीद पर खर्च होने वाली राशि की बचत भी करेंगे, क्योंकि रिसायक्लड पानी में सभी आवश्यक पोषक तत्त्व होंगे और इस प्रकार किसी अतिरिक्त उर्वरक या खाद की आवश्यकता नहीं होगी. दिल्ली की अधिकांश कॉलोनियों में बढ़ते जल प्रदूषण, दुर्गंध और भूमिगत जल स्तर में गिरावट के बोझ से मुक्ति भी मिलेगी. डिसेंट्रलाइज्ड-सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के माध्यम से दिल्ली के पार्कों में सिंचाई के पुराने तरीकों को बदला जाएगा. ये डिसेंट्रलाइज्ड एसटीपी कॉलोनियों के अंदर पार्कों में लगाए जाएंगे.

इन पांच जगहों पर डी-एसटीपी का हो रहा निर्माण
दिल्ली सरकार संदेश विहार मिलाकर कुल पांच जगहों पर पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इन ट्रीटमेंट प्लांट्स का निर्माण कर रही है. इसमें शेख सराय, रोज गार्डन, प्रह्लादपुर, संदेश विहार, मॉडल टाउन के इलाके शामिल हैं.

Tags: Delhi Government, Delhi news, Satyendra jain, STP

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर