• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Delhi Government: एपीजे स्कूल को टेकओवर करेगी केजरीवाल सरकार, LG को भेजी फाइल

Delhi Government: एपीजे स्कूल को टेकओवर करेगी केजरीवाल सरकार, LG को भेजी फाइल

शिक्षा निदेशालय ने दिल्ली के शेख सराय स्थित एपीजे स्कूल (Apeejay School) के प्रबंधन को अपने हाथ में लेने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्णय लिया है.  (फाइल फोटो)

शिक्षा निदेशालय ने दिल्ली के शेख सराय स्थित एपीजे स्कूल (Apeejay School) के प्रबंधन को अपने हाथ में लेने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्णय लिया है. (फाइल फोटो)

Delhi Government: शिक्षा निदेशालय ने दिल्ली के शेख सराय स्थित एपीजे स्कूल (Apeejay School) के प्रबंधन को अपने हाथ में लेने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्णय लिया है. मनमाने तरीके से बढ़ाई गई फीस को वापस लेने के लिए एपीजे स्कूल प्रबंधन आदेशों का पालन करने में हर बार विफल रहा है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) के शिक्षा निदेशालय ने दिल्ली के शेख सराय स्थित एपीजे स्कूल (Apeejay School) के प्रबंधन को अपने हाथ में लेने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्णय लिया है. मनमाने तरीके से बढ़ाई गई फीस को वापस लेने के लिए केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) की ओर से कई बार आदेश जारी किये जा चुके है. लेकिन एपीजे स्कूल प्रबंधन उन आदेशों का पालन करने में हर बार विफल रहा है.

    मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने एपीजे स्कूल के प्रबंधन को अपने हाथ में लेने के लिए शिक्षा निदेशालय के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. अब यह फाइल एलजी के पास भेजी गई है. डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने अभिभावकों को आश्वस्त किया है कि दिल्ली सरकार हमेशा उनके साथ खड़ी है और किसी भी तरह का अन्याय नहीं होने देगी.

    ये भी पढ़ें: स्कूल, कॉलेज खोले जाएं या नहीं? हां, तो कैसे? दिल्ली सरकार को आप भे​जिए अपने सुझाव

    शिक्षा निदेशालय ने वित्तीय वर्ष 2012-2013 से 2018-2019 के लिए एपीजे स्कूल के वित्तीय विवरण का गहनता से निरीक्षण किया था. अभिलेखों के विस्तृत निरीक्षण के दौरान विभाग ने पाया कि वर्ष 2018-2019 के लिए स्कूल के पास कुल धनराशि 49,72,45,586 रुपए है.

    इस धनराशि में से 18,87,02,422 रुपये खर्च होने का अनुमान लगाया गया था. 18,87,02,422 रुपए खर्च होने के बाद भी स्कूल प्रबंधन के पास करीब 30,85,43,164 रुपए की धनराशि शुद्ध रूप से सरप्लस में थी.

    इसके बाद विभाग इस निष्कर्ष पर पहुंचा कि स्कूल प्रबंधन को अभी फीस बढ़ाने की कोई आवश्यकता नहीं है. इस संबंध में निदेशालय ने शैक्षणिक सत्र 2018-2019 और 2019-2020 के लिए स्कूल द्वारा प्रस्तावित शुल्क ढांचे को स्वीकार करने से इन्कार कर दिया. इसके बाद निदेशालय ने स्कूल को नोटिस जारी कर पूछा कि क्यों न स्कूल की मान्यता रद्द कर दी जाए या फिर सरकार क्यों न स्कूल का प्रबंधन अपने हाथ में ले ले.

    ये भी पढ़ें: COVID 19 से सैलून व ब्यूटी पार्लर इंडस्ट्री को 350 करोड़ का नुकसान, सरकार से GST दरों को घटाने की मांग

    शिक्षा निदेशालय ने स्कूल को कई बार नोटिस जारी कर बढ़ाई गई फीस को नहीं वसूलने और जवाब प्रस्तुत करने का आदेश दिया था, लेकिन स्कूल ने कोई जवाब नहीं दिया. स्कूल ने शिक्षा निदेशालय के आदेश के खिलाफ हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया, लेकिन हाईकोर्ट ने शिक्षा निदेशालय के उस आदेश का समर्थन किया, जिसमें स्कूल से बढ़ी हुई फीस वापस लेने के लिए कहा गया था.

    इस स्थिति को देखते हुए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने शेख सराय स्थित एपीजे स्कूल के प्रबंधन को अपने हाथ में लेने का निर्णय किया है और शिक्षा निदेशालय के प्रस्ताव को सीएम अरविंद केजरीवाल ने मंजूरी दे दी है. अब इस फैसले को आगे एलजी के पास भेज दिया गया है.

    डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि केजरीवाल सरकार किसी भी तरह का अन्याय नहीं होने देगी. हम अभिभावकों के साथ हैं और उन्हें आश्वस्त करते हैं कि हम इस तरह के अन्याय के खिलाफ हमेशा उनके साथ खड़े रहेंगे और उन्हें किसी भी तरह की कठिनाई का सामना नहीं करने देंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज