अपना शहर चुनें

States

Kisan Aandolan: गाजीपुर बॉर्डर पर डटे किसानों को मिली दवा, डॉक्टर ने किया चेकअप

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों को दवा बांटी गई.
गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों को दवा बांटी गई.

Kisan Aandolan: गाजीपुर सीमा (Ghazipur Border) पर मौजूद किसानों को वॉलंटियर्स की टीम ने दवाई बांटी. आंदोलन कर रहे किसानों का चेकअप भी किया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 2:01 AM IST
  • Share this:
दिल्ली: नई कृषि नीतियों (New Agriculture Law 2020) के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है. किसान अभी भी दिल्ली (Delhi) की सीमाओं में डटे हुए हैं और पीछे हटने का नाम नहीं ले रहे हैं. तो वहीं  गाजीपुर सीमा (Ghazipur Border) पर मौजूद किसानों को वॉलंटियर्स की टीम ने दवाई बांटी. आंदोलन कर रहे किसानों का चेकअप भी किया गया. किसानों की जांच करने आए डॉक्टर का कहना है कि ज्यादातर मरीज को गैस्ट्रिक और शरीर में दर्द की समस्या है. यह पहला दिन है जो हम यहां आए हैं. हमने अब तक लगभग 100 मरीजों का इलाज कर चुके हैं.

इधर सिंघु बॉर्डर पर पंजाब से घोड़े आए हैं. यह घोड़े ट्रकों में लाए गए हैं. अभी 40 से 50 घोड़े आए हैं. लेकिन किसानों का कहना है कि अगर जरूरत पड़ी तो और भी मंगवाएंगे. घोड़ों के साथ पंजाब से कुछ और लोग भी आए हैं. घोड़ों के बारे में जब किसानों से पूछा गया तो उनका कहना था, पुलिस हमें दिल्ली  में नहीं जाने दे रही है. हर तरफ बैरिकेड लगा दिए हैं. अगर जरूरत पड़ी तो हम घोड़ों पर सवार होकर बैरिकेड लांघेंगे. लेकिन मांगें नहीं माने जाने पर हम दिल्ली जरूर जाएंगे.


ये भी पढ़ें: किसानों पर ट्वीट के बाद खाप पंचायतों की Kangana Ranaut को खुली चेतावनी- हिम्मत हो तो हरियाणा आकर दिखाएं





बेटी की शादी में घर नहीं गया किसान

किसान अपने घर का सारा कामकाज छोड़कर प्रदर्शन में डटे हुए हैं. एक ऐसे ही किसान हैं सुभाष चीमा जिनकी बेटी की शादी थी, लेकिन वे इसमें शामिल नहीं हुए क्योंकि उनके लिए किसानों की आवाज उठाना ज्यादा जरूरी है. किसान सुभाष चीमा ने अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से की बातचीत में कहा कि आज वो जो कुछ भी हैं अपनी खेती-किसानी की वजह से हैं.

पीएम मोदी के लिए बनाया लड्डू

हरियाणा के किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए 5 किलो बूंदी का लड्डू बनाया है. किसानों और सरकार के बीच कड़वाहट कम हो इसके लिए बड़ा लड्डू भेजा जा रहा है. मालूम हो कि शनिवार को सरकार के साथ किसानों की बातचीत होनी है. वार्ता सफल हो और मिठास घोलने के लिए किसानों नेलड्डू बनाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज