Home /News /delhi-ncr /

Kisan Andolan- किसान आंदोलन चलेगा लंबा, जानें किसानों की तैयारी 

Kisan Andolan- किसान आंदोलन चलेगा लंबा, जानें किसानों की तैयारी 

आगे की रणनीति के लिए मंगलवार को संयुक्‍त किसान मोर्चा की बैठक होगी. सांकेतिक  फोटो

आगे की रणनीति के लिए मंगलवार को संयुक्‍त किसान मोर्चा की बैठक होगी. सांकेतिक फोटो

Kisan andolan: कृषि कानूनों को लेकर दिल्‍ली बॉर्डर पर चल रहा किसानों का आंदोलन लंबा चलेगा. यूपी गेट पर किसान नेताओं ने इसके संकेत दे दिए हैं. गाजीपुर बार्डर पर किसानों के टेंट को सर्दियों के अनुसार तैयार किया जाएगा. इसके साथ ही प्रदर्शन स्‍थल पर सर्दियों के बचने की व्‍यवस्‍थाएं की जाएंगी. जिससे प्रदर्शन में शामिल किसानों को किसी भी तरह की परेशानी न हो. उन्‍होंने स्‍पष्‍ट संकेत दे दिए हैं कि प्रदर्शन अभी लंबा चलेगा और दिल्‍ली जाने वाला रास्‍ता भी अभी नहीं खुलेगा. आगे की रणनीति के लिए मंगलवार को किसानों की बैठक बुलाई गई है.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. नए कृषि कानूनों को लेकर दिल्‍ली बॉर्डर पर चल रहा किसानों का आंदोलन लंबा चलेगा. यूपी गेट पर किसान नेताओं ने इसके संकेत दे दिए हैं. किसान सर्दियों के अनुसार टेंट लगाने की तैयारी कर रहे हैं, जिससे उन्‍हें परेशानी न हो. किसानों ने स्‍पष्‍ट संकेत दिए हैं कि दिल्‍ली जाने वाला रास्‍ता अभी नहीं खोला जाएगा. साथ ही, 26 नवंबर से किसानों के आंदोलन को एक साल होने वाला है. इस संबंध में मंगलवार को किसानों की बैठक में रणनीति तय की जाएगी.

    गाजीपुर बार्डर पर किसानों के टेंट अभी गर्मियों और बरसात के अनुसार बने हैं, लेकिन मौसम बदल रहा है इसलिए अब इन्‍हें सर्दियों के अनुसार तैयार किया जाएगा. इसके साथ ही प्रदर्शन स्‍थल पर सर्दियों के बचने की व्‍यवस्‍थाएं की जाएंगी.

    संयुक्त किसान मोर्चा गाजीपुर सीमा के प्रवक्ता जगतार सिंह बाजवा कहा  कि अब सभी टेंट पॉलिथिन और मोटे तिरपालों से ढके जाएंगे, जिससे धरने में शामिल किसानों को किसी भी तरह की परेशानी न हो. उन्‍होंने स्‍पष्‍ट संकेत दे दिए हैं कि प्रदर्शन अभी लंबा चलेगा और दिल्‍ली जाने वाला रास्‍ता भी अभी नहीं खुलेगा. यानी गाजियाबाद और मेरठ से दिल्‍ली जाने वालों को अभी राहत की उम्‍मीद नहीं है.

    गाजीपुर में शुरू हुए किसान आंदोलन को 26 नवंबर को एक वर्ष पूरा होने वाला है. इस मौके पर भारतीय किसान यूनियन नई रणनीति का ऐलान कर सकती है. इसके लिए मंगलवार को सिंघु बार्डर पर किसान मोर्चा की बैठक का आयोजन किया गया है. इस बैठक में आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा और उसी के अनुसार अगला कदम उठाया जाएगा.

    संभावना व्‍यक्‍त की जा रही है कि 26 नवंबर के बाद से आंदोलन दोबारा से पिछले साल जैसी रफ्तार पकड़ सकता है. किसानों की क्रमवार आंदोलन में शामिल होने के लिए ड्यूटी लगाई जा सकती है, जिससे किसानों को खेती का काम भी प्रभावित न हो और आंदोलन में पहले जैसा शुरू हो सके.

    Tags: Kisan, Kisan Aandolan, Kisan Bill, Kisan protest news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर