अपना शहर चुनें

States

Ghaziabad News: अल्टीमेटम के बाद UP Gate धरनास्‍थल खाली करवाने पहुंची पुलिस, किसान अड़े, नहीं हटेंगे

किसान नेता राकेश टिकैत सरेंडर भी कर सकते हैं. (File)
किसान नेता राकेश टिकैत सरेंडर भी कर सकते हैं. (File)

Farmer Protest: गाजियाबाद प्रशासन ने किसानों को यूपी गेट धरना स्थल खाली करने के लिए अल्टीमेटम दे दिया है. इसके साथ ही किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने सरेंडर करने की बात से साफ तौर पर इनकार कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 5:32 PM IST
  • Share this:
दिल्ली. गाजियाबाद (Ghaziabad) प्रशासन ने किसानों को यूपी गेट (UP Gate) धरना स्थल खाली करने के लिए अल्टीमेटम दे दिया है. माना जा रहा है कि आज किसान धरना स्थल खाली कर सकते हैं. जिला मजिस्ट्रेट अजय शंकर पांडेय सहित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी एवं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर मौजूद है. तो वहीं किसान भी वापस यूपी गेट की ओर लौट रहे हैं. किसान धरना खत्म करने के पक्ष में नहीं है. इसके साथ ही खबर आ रही है कि किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) सरेंडर करने की बात से साफ तौर पर इनकार कर दिया है.

वहीं उत्तर प्रदेश के योगी सरकार ने प्रदेश के विभिन्न जिलों में चल रहे किसान आंदोलन  के धरनों को समाप्त कराना शुरू कर दिया है. एक दिन पहले आधी रात को बागपत के बड़ौत में किसानों का धरना समाप्त करा दिया गया है, इसके बाद आज गुरुवार को मथुरा में डीएम और एसएसपी ने वार्ता कर किसानों को धरना समाप्त कराने पर मना लिया. अब यूपी के सबसे बड़े गाजीपुर बॉर्डर के धरने को खत्म कराने की तैयारी को लेकर सुगबुगाहट तेज हो गई है. हालांकि प्रशासन की तरफ से इस पर अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.





राकेश टिकैत ने दिया बड़ा बयान
दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के आंदोलन के खत्म होने की खबर के बीच किसान नेता राकेश टिकैत ने बड़ा बयान दिया है. राकेश टिकैत का कहना है कि शासन-प्रशासन अपनी मंशा साफ करें. धरना स्थल पर लाइट काटने,पानी ना पहुंचाने की बताएं वजह.

ये भी पढ़ें: Ambikapru News: फेसबुक पोस्ट कर कांग्रेस नेता ने खाया जहर, मंत्री की मौजूदगी में महिला ने मारा था थप्पड़

दिल्ली पुलिस ने टिकैत को थमाया नोटिस

इस बीच दिल्ली पुलिस गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसान धरना प्रदर्शन स्थल पर नोटिस लेकर पहुंची. नोटिस में किसान नेता राकेश टिकैत से सवाल किए गए हैं और उनसे मामले में तीन दिन के भीतर जवाब देने भी कहा गया है. नोटिस में कहा गया है कि दिल्ली पुलिस की तरफ से ट्रैक्टर रैली को लेकर जो शर्तें रखी गईं थीं, उसका उल्लंघन क्यों किया गया है? शर्तों के मानने पर ही ट्रैक्टर रैली निकालने की अनुमति दी गई थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया. इसको लेकर ही किसान नेताओं से सवाल जवाब किए जा रहे हैं. दिल्ली पुलिस ने राकेश टिकैत से इसके तहत ही नोटिस के जरिए सवाल किए हैं.

बता दें कि गाजीपुर स्थित लोकेशन पर मौजूद कुछ किसानों से गुरुवार को मुलाकात करने राकेश टिकैत आए थे. उसी दौरान दिल्ली पुलिस के अधिकारी द्वारा किसान नेता राकेश टिकैत को नोटिस दिया गया है. बता दें कि गणतंत्र दिवस पर निकाली गई ट्रैक्टर रैली ने दिल्ली में हिंसा का रूप ले लिया था. इस हिंसा में कई लोग घायल हुए, कुछ की मौत भी हो गई है. रैली के बाद पुलिस अब एक्शन मोड में है और किसान संगठन व उनके नेताओं को नोटिस जारी किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज