Kisan Andolan: समर्थन जुटाने के लिए राकेश टिकैत मार्च में पांच राज्यों का करेंगे दौरा

उन्होंने कहा कि तेलंगाना में छह मार्च को एक कार्यक्रम निर्धारित है. (फाइल फोटो)

उन्होंने कहा कि तेलंगाना में छह मार्च को एक कार्यक्रम निर्धारित है. (फाइल फोटो)

बीकेयू के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक (Dharmendra Malik) ने कहा, ’मार्च में उत्तराखंड, राजस्थान, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना में किसानों की बैठकें होंगी.

  • Share this:
गाजियाबाद. केंद्र सरकार (Central Government) के नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन के लिए समर्थन जुटाने की खातिर किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) मार्च में पांच राज्यों का दौरा करेंगे. भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के एक पदाधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. पदाधिकारी ने कहा कि बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता और किसान आंदोलन का एक प्रमुख चेहरा टिकैत एक मार्च से दौरे की शुरुआत करेंगे. बीकेयू के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक (Dharmendra Malik) ने कहा, ’मार्च में उत्तराखंड, राजस्थान, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना में किसानों की बैठकें होंगी, उत्तर प्रदेश में भी दो बैठकें होंगी.’ मलिक ने कहा कि राजस्थान में दो बैठकें और मध्य प्रदेश में तीन बैठकें होंगी. 20, 21 और 22 मार्च को अंतिम तीन बैठकें कर्नाटक में होंगी.

ये कानून किसानों के हित में हैं

उन्होंने कहा कि तेलंगाना में छह मार्च को एक कार्यक्रम निर्धारित है, लेकिन राज्य में कुछ चुनावों के कारण हमें अभी तक इसकी अनुमति नहीं मिली है. यदि अनुमति मिल जाती है, तो तेलंगाना में बैठक निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होगी.’’ गौरतलब है कि नवंबर से ही सिंघू, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर हजारों किसान तीनों नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं और केंद्र सरकार से इन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं. सरकार ने किसान यूनियनों के साथ 11 दौर की औपचारिक बातचीत की है. सरकार का कहना है कि ये कानून किसानों के हित में हैं.

छांव की व्यवस्था कर दी है
वहीं, शुक्रवार को खबर सामने आई थी कि तीनों कृषि कानूनों को वापस करने की मांग पर अड़े किसानों ने अब दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर धरने में आने वाले किसानों को गर्मी से बचाने का इंतजाम कर लिया है. लगातार बदल रहे मौसम के चलते अब गर्मी पड़ने लगी है. ऐसे में किसानों का धरना स्थल पर बैठना थोड़ा मुश्किल हो गया है. इसके चलते अब संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों की सुविधा के लिए टेंट लगाकर छांव की व्यवस्था कर दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज