होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

वृंदावन की तर्ज पर इस्कॉन द्वारका में कृष्ण जन्माष्टमी उत्सव की तैयारी, आकर्षक रोशनी में बिखरेंगे भक्ति के रंग

वृंदावन की तर्ज पर इस्कॉन द्वारका में कृष्ण जन्माष्टमी उत्सव की तैयारी, आकर्षक रोशनी में बिखरेंगे भक्ति के रंग

19 अगस्त को वृंदावन की तर्ज पर जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्मदिन बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा.

19 अगस्त को वृंदावन की तर्ज पर जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्मदिन बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा.

janmashtami festival: भक्ति और प्रेम के रंगों में सराबोर कृष्ण भक्त जन्माष्टमी की तैयारियों में पूरे उत्साह के साथ जुटे हुए हैं. दिल्ली के इस्कॉन द्वारका में उत्सव का यह सिलसिला 13 अगस्त को हरि नाम शोभायात्रा के साथ शुरू हो गया. 19 अगस्त को वृंदावन की तर्ज पर जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्मदिन बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. भक्ति और प्रेम के रंगों में सराबोर कृष्ण भक्त जन्माष्टमी की तैयारियों में पूरे उत्साह के साथ जुटे हुए हैं. दिल्ली के इस्कॉन द्वारका में उत्सव का यह सिलसिला 13 अगस्त को हरि नाम शोभायात्रा के साथ शुरू हो गया. मंदिर में कथा और कीर्तन का कार्यक्रम चल रहा है. 19 अगस्त को वृंदावन की तर्ज पर जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्मदिन बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा. आधी रात को भगवान कृष्ण के जन्म के पश्चात उनका दिव्य अभिषेक, श्रृंगार, आरती और भोग का कार्यक्रम रहेगा. मिट्टी की हांडियों में माखन और मिश्री का भोग भी उन्हें अर्पित किया जाएगा. रंग-बिरंगे मोहक परिधानों में बच्चों एवं युवाओं द्वारा दामोदर लीला, अघासुर लीला, गोवर्धन लीला आदि लीलाओं का मंचन किया जाएगा. इसके बाद भक्तों के लिए प्रसाद वितरण किया जाएगा.

पूर्ण उत्साह के साथ धूमधाम से भगवान का जन्मोत्सव मनाने के लिए देश-विदेश के फूलों से सजावट आरंभ हो गई है. भक्तों के स्वागत के लिए आंगन की चमक-दमक का काम भी शुरू हो गया है. चारों ओर कहीं रंगोली के रंग भरने के लिए डिजाइनिंग शुरू हो गई है, तो कहीं लहरदार परदों की छटा के लिए पंडाल सजाए जा रहे हैं. चांद-तारों की तरह मंदिर उस दिन जगमगाता रहे, इसलिए प्रकाश-व्यवस्था के लिए भी अति आधुनिक उपकरणों को विशेष रूप से मंगाया जा रहा है. खासतौर से एलईडी और डिजिटल लाइटें और तेज रोशनी का विशेष प्रबंध किया जा रहा है.

मंदिर के प्रमुख प्रबंधकों का कहना है कि इस दिन भगवान के जन्म की खुशी में मंदिर को बाहरी प्रकाश से सजाया जाता है, लेकिन हमारा प्रयास है कि रोशनी की यह किरन भक्तों के हृदय तक पहुंचे, वे सर्वोच्च भगवान श्रीकृष्ण से जुड़ने का प्रयास करें.

Tags: New Delhi news, Sri Krishna Janmashtami

अगली ख़बर