Home /News /delhi-ncr /

बंदर भगाने वाला निकला कोरोना पॉजिटिव, रेल भवन के कई अधिकारी क्वारंटाइन

बंदर भगाने वाला निकला कोरोना पॉजिटिव, रेल भवन के कई अधिकारी क्वारंटाइन

अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाने के लिए सरकार पिछले दो महीनों से बंद पड़े दफ्तरों और बिजनेस को धीरे-धीरे खोल रही है.

अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाने के लिए सरकार पिछले दो महीनों से बंद पड़े दफ्तरों और बिजनेस को धीरे-धीरे खोल रही है.

रेलवे मंत्रालय में लंगूर रखने वाले कर्मचारी की विजिट की जांच करने के बाद रेलवे बोर्ड ने पाया कि कर्मचारी जनरल ब्रांच के अधिकारियों के संपर्क में आया था. जिसके बाद अधिकारियों को क्वारंटीन कर दिया गया है.

    नई दिल्ली. रेल भवन में आधिकारिक रूप से बंदर भगाने के लिए तैनात किए गए लंंगूर को साथ लेकर आने वाले कर्मचारी के कोरोना पॉजिटव (Corona Positive) पाए जाने का मामला सामने आया है, जिसके चलते रेलवे मंत्रालय के एक सेक्शन में बैठने वाले अधिकारियों को होम क्वारेंटाइन में भेज दिया गया है. मंत्रालय के सीनियर अधिकारी की जांच में सामने आया कि सरकारी पॉलिसी के अनुसार, रेल भवन परिसर में बंदर भगाने के लिए लंंगूर साथ लेकर आने वाले कर्मचारी को तैनात किया गया, जो 4 मई तक मंत्रालय में आया.

    इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक मिनिस्ट्री में उसकी विजिट और मूवमेंट की जांच के बाद रेलवे बोर्ड ने पाया कि वह जनरल ब्रांच के अधिकारियों के सम्पर्क में आया था, जिसके बाद बोर्ड ने इन अधिकारियों को 18 मई तक होम क्वारेंटाइन में भेजने के निर्देश दिए हैं.

    रेलवे मंत्रालय के सीनियर अधिकारी ने बताया कि सौभाग्य से वे सभी स्वास्थ्य प्रोटोकाल्स का पालन कर रहे थे. सभी कर्मचारी मास्क पहनने के साथ ही एक दूसरे से दूरी भी रख रहे थे. इसलिए उन्हें नहीं लगता कि उस व्यक्ति से किसी को बीमारी होने का खतरा है. हालांकि वह शख्स बाहर अन्य जगहों पर गया था इसलिए उस सब को ट्रेस किया जा रहा है.

    एक कर्मचारी मिला था कोरोना पॉजिटिव
    बता दें कि हाल ही में रायसीना रोड पर बने पांच मंजिला रेल भवन की चौथी मंजिल पर काम कर रहे रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के कर्मचारी का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया था. वह कर्मचारी 6 मई तक ऑफिस आया था. जिसके बाद पूरे रेल भवन में सेनिटाइजेशन का काम किया जा रहा था और दो दिन के लिए पूरी बिल्डिंग को सील कर दिया गया था.

    गौरतलब है कि लुटियन्स दिल्ली में बंदरों का आतंक सरकार के लिए एक बहुत बड़ी समस्या हैं. जिसके कारण मंत्रालय को बन्दर भगाने के लिए लंंगूर रखने वाले लोगों को तैनात करना पड़ता है ताकि रोजाना के काम किये जा सकें.

    यहां तक कि रेल भवन की बालकनी, कॉरिडोर, दरवाजों, खिड़कियों से बन्दर अक्सर आकर आतंक फैलाते हैं. शास्त्री भवन के अधिकारी भी कई बार बन्दरों के छीनने को लेकर शिकायत कर चुके हैं. वहीं एनडीएमसी भी बंदरों को भगाने के लिए लंंगूर रखने वाले लोगों को आर्थिक मदद देती है.

    ये भी पढ़ें: Economic Package: क्या इसलिए एग्रीकल्चर सप्लाई चेन में रिफॉर्म करना चाहते हैं पीएम मोदी?

    ये है किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने का तरीका, इस स्कीम से अब भी वंचित हैं 7 करोड़ किसान

    Tags: Corona positive, Indian railway, Indian Railways, Lockdown. Covid 19

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर