लाइव टीवी

निर्भया कांड: दोषियों के वकील ने कहा - क्या गारंटी, इनको फांसी देने से देश में रुक जाएंगे रेप

News18Hindi
Updated: December 13, 2019, 11:44 AM IST
निर्भया कांड: दोषियों के वकील ने कहा - क्या गारंटी, इनको फांसी देने से देश में रुक जाएंगे रेप
दोषियों के वकील एपी सिंह पहले भी ऐसे बयान देकर सुर्खियों में रहे हैं.

पहले भी वकील एपी सिंह विवादित बयान दे चुके हैं. उन्‍हाेंने कहा था, यदि मेरी बहन-बेटी किसी से संबंध रखती और रात को उसके साथ घूमती तो पेट्रोल (Petrol) छिड़ककर आग लगा देता.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 13, 2019, 11:44 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एक तरफ पूरे देश में निर्भया (Nirbhaya) के दोषियों को जल्द फांसी देने की मांग उठ रही है. वहीं, दूसरी तरफ दोषियों के वकील (Lawyer) एपी सिंह ने कहा, 'क्या कोई इस बात की गारंटी दे सकता है कि इन चारों को फांसी पर लटकाने के बाद देश में रेप होने बंद हो जाएंगे. वहींं, संसद में बैठने वाले लोग यह कहते हैं कि ऐसे अपराधियों को गोली मार देनी चाहिए, लेकिन ऐसा कहना संविधान का अपमान है.'

पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान
एपी सिंह विवादित बयान देने के लिए पहले भी चर्चा में रहे हैं. उन्‍होंने 2013 में एक बयान दिया था कि अगर मेरी बहन या बेटी रात के समय किसी गैर-पुरुष के साथ घर से बाहर जाएगी और किसी के साथ शादी से पहले शारीरिक संबंध रखेगी, बॉयफ्रेंड रखती है और देश की सभ्‍यता-संस्कृति के हिसाब से नहीं चलती तो मैं उसे पेट्रोल छिड़ककर आग लगा देता. इसके बाद बार काउंसिल ने इस पर संज्ञान लेते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की बात भी की थी. उनके इस बयान का देशभर में विरोध भी हुआ था.



आज कोर्ट ने भी लगाई फटकारवहीं, शुक्रवार को पटियाला हाउस कोर्ट ने भी एपी सिंह को फटकार लगाई. अदालत ने कहा कि आप केस की सुनवाई के दौरान कोर्ट में मौजूद नहीं होते हैं. ऐसा कर आप मामले में कोई भी फैसला आने में देरी कर रहे हैं.

पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई टली
निर्भया मामले में शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चारों दोषियों को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया, लेकिन मामले की सुनवाई टाल दी गई. कोर्ट ने कहा कि इस केस से जुड़ा एक मामला सुप्रीम कोर्ट में है. इसलिए वहां जब तक निपटारा नहीं होता मामले की सुनवाई नहीं कर सकते हैं. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट निर्भया गैंगरेप के दोषी अक्षय कुमार सिंह की पुनर्विचार याचिका पर 17 दिसंबर को सुनवाई करेगा. तीन न्यायाधीशों की पीठ उस याचिका पर सुनवाई करेगी, जिसमें अक्षय ने दिल्ली के प्रदूषण का हवाला देते हुए मौत की सजा पर सवाल उठाए थे.

जल्लाद का इंतजाम करने में जुटा तिहाड़ जेल प्रशासन
बता दें कि निर्भया के दोषी भले ही अपने आपको बचाने की हर मुमकिन कोशिश में लगे हों, लेकिन तिहाड़ प्रशासन चारों दोषियों को फांसी देने की तैयारी कर चुका है. फांसी के लिए जल्लाद का इंतजाम करने के लिए यूपी के जेल प्रशासन को भी तिहाड़ प्रशासन की ओर से पत्र लिखा गया है.

ये भी पढ़ेंः पवन जल्लाद बोला- मां काली की पूजा कर निर्भया के गुनहगारों को चढ़ाऊंगा सूली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 10:55 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर