लाइव टीवी

केजरीवाल के शपथ समारोह में अन्य दलों के नेता और CM नहीं होंगे शामिल, जानिए वजह
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 13, 2020, 6:40 AM IST
केजरीवाल के शपथ समारोह में अन्य दलों के नेता और CM नहीं होंगे शामिल, जानिए वजह
केजरीवाल ने उपराज्यपाल को पत्र लिखकर सरकार बनाने का दावा पेश किया है (फाइल फोटो)

रामलीला मैदान में 16 फरवरी को होने वाले अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के शपथ ग्रहण समारोह में आम आदमी पार्टी (AAP) संभवत: दूसरे दलों के वरिष्ठ नेताओं और मुख्यमंत्रियों को आमंत्रित नहीं करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 13, 2020, 6:40 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने पार्टी के विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद सरकार बनाने का दावा पेश किया है. केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल (Anil Baijal) को पत्र लिखकर सरकार बनाने का दावा पेश किया है. वह 16 फरवरी को शपथ लेंगे. वहीं उनके शपथ ग्रहण समारोह में अन्य दलों के नेताओं के शामिल होने पर सस्पेंस गहरा गया है.

सूत्रों के मुताबिक, रामलीला मैदान में रविवार को होने वाले अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के शपथ ग्रहण समारोह में आम आदमी पार्टी (AAP) संभवत: दूसरे दलों के वरिष्ठ नेताओं और मुख्यमंत्रियों को आमंत्रित नहीं करेगी. सूत्रों ने बताया कि आप प्रमुख द्वारा अगली सरकार बनाने के लिए दावा पेश किया जाना औपचारिक प्रक्रिया है. केजरीवाल को बुधवार को पार्टी के विधायक दल का नेता चुना गया.

शपथ में अन्य दलों के नेता नहीं होंगे शामिल!
दिल्ली विधानसभा चुनाव में बेहतरीन जीत दर्ज करके केजरीवाल 16 फरवरी को लगातार तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं. सूत्रों ने बताया कि शपथग्रहण समारोह जनता के लिए खुला है, लेकिन आम आदमी पार्टी दूसरे दलों के नेताओं और मुख्यमंत्रियों को बुलाने पर विचार नहीं कर रही है, क्योंकि वह केन्द्र की भाजपा नीत सरकार के खिलाफ ‘टकराव वाली’ छवि नहीं बनाना चाहती. हालांकि, उन्होंने कहा कि पार्टी ने अभी तक अंतिम फैसला नहीं लिया है.

AAP को मिली बंपर जीत
बता दें कि मंगलवार को आए दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी को जबरदस्त जीत हासिल हुई है. दिल्ली की 70 सीटों में से उसने 62 पर अपना कब्जा जमाया है. वहीं बीजेपी को महज आठ सीटों पर ही जीत नसीब हुई. पिछली बार की तरह इस बार भी कांग्रेस का खाता नहीं खुला. आप को कुल पड़े वोटों का 53.6 प्रतिशत शेयर मिला जबकि बीजेपी को 38.5 फीसदी मत पड़े. कांग्रेस के हिस्से में महज 4.26 प्रतिशत वोट शेयर रहा.

इस बंपर मिली जीत के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों का शुक्रिया अदा किया और उन्हें सार्वजनिक तौर पर 'आई लव यू' कहा. यह लगातार तीसरी बार होगा जब आम आदमी पार्टी दिल्ली में सरकार बनाएगी.(भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली हार पर बोलीं प्रियंका- अभी हमें बहुत संघर्ष करना है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 5:47 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर