कार पर लिखे 'L' ने ले ली 23 हजार लोगों की जान!

इस तरह के हादसों से संबद्ध प्रशिक्षु चालकों में कार के साथ ही मोटरसाइकिल सवार भी हैं. (Demo Pic)
इस तरह के हादसों से संबद्ध प्रशिक्षु चालकों में कार के साथ ही मोटरसाइकिल सवार भी हैं. (Demo Pic)

साल 2018 में लर्निंग लाइसेंस (Learning Licence) पर वाहन चलाने वालों ने बड़ी संख्या में रोड (Road) पर एक्सीडेंट (Accident) किए हैं. इस संबंध में ट्रांसपोर्ट मंत्रालय ने 2018 के आंकड़े जारी किए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 1:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सड़क पर चल रहे कई वाहनों पर आपने 'L' लिखा देखा होगा. यह प्रतीक होता है लर्नर या यानी प्रशिक्षु चालक का. ऐसे में इन चालकों की पकड़ ड्राइविंग पर इतनी अच्छी नहीं होती. इनके लिए गति से लेकर कई अन्य नियम भी होते हैं जिनकी पालना जरूरी होती है. हालांकि कभी भी किसी ने इन्हें किसी भी तरह से खतरे के तौर पर नहीं देखा होगा. लेकिन अब खबर चौंकाने वाली है. 2018 में देशभर में प्रशिक्षु चालकों के वाहनों से हुए हादसों में 23 हजार से ज्यादा लोगाें की मौत हो गई. इन चालकों में केवल कार ही नहीं  बल्कि मोटरसाइकिल चालक भी थे.

कार सवारों ने ज्यादा किए हादसे
ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री की ओर से जारी हुए आंकड़ों पर जाएं तो साल 2018 में लर्निंग लाइसेंस पर वाहन चलाने वालों ने बड़ी संख्या में रोड पर एक्सीडेंट किए हैं. इन एक्सीडेंट में 23593 लोगों की जान गई है. एक्सीडेंट करने वालों में बाइक, कार सवार ऐसे लोग थे जो लर्निंग लाइसेंस के साथ वाहन चला रहे थे. एक्सीडेंट करने वालों में बड़ी संख्या कार सवारों की है.


सख्त हैं नियम


आरटीओ रिटायर्ड रविन्द्र सिंह का इस बारे में कहना है कि लर्निग लाइसेंस धारक अकेले वाहन ड्राइव नहीं कर सकते हैं. अगर अकेले कार या बाइक चलानी है तो मुख्य सड़क से हटकर चलानी होगी. जैसे किसी खुले मैदान या कॉलोनी के अंदर. लर्निंग लाइसेंस धारक अगर अपना वाहन सड़क पर चलाना चाहता है तो उसके साथ एक ट्रेंड ड्राइवर का होना जरूरी है. उन्होंने बताया कि कार के फ्रंट और बैक ग्लास पर लाल रंग से अंग्रेजी में 'L' लिखा जाना चाहिए. बाइक पर भी यही लिखा जाना चाहिए और इसकी लंबाई कम से कम छह इंच होनी चाहिए. इस नियम का पालन न करने पर 100 रुपये से 500 रुपये का जुर्माना लगाने का प्रावधान है. गलती सामने आने पर लर्निग लाइसेंस को रद्द भी किया जा सकता है."

ये भी पढ़ें- उन्नाव गैंगरेप: सफदरजंग अस्पताल में भर्ती पीड़िता के बारे में मेडिकल सुपरिटेंडेंट ने किया था ये बड़ा खुलासा

अयोध्या मामलाः अजित डोभाल ने योगी सरकार को लिखा लैटर, UP में हो रही चर्चा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज