Home /News /delhi-ncr /

गणतंत्र दिवस समारोह 2022 के अभिन्‍न अंग होंगी 750 मीटर के दस विशाल नामावली

गणतंत्र दिवस समारोह 2022 के अभिन्‍न अंग होंगी 750 मीटर के दस विशाल नामावली

नामावली पेंटिंग के लिए कला कुंभ कलाकार कार्यशालाओं के साथ आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाया.

नामावली पेंटिंग के लिए कला कुंभ कलाकार कार्यशालाओं के साथ आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाया.

संस्कृति मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय के सहयोग से विशाल नामावली तैयार की गई है. राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय (एनजीएमए) नई दिल्ली ने लगभग 750 मीटर की नामावली पेंटिंग के लिए कला कुंभ कलाकार कार्यशालाओं के साथ आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाया. नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट के महानिदेशक अद्वैत गरनायक ने आज नई दिल्ली में यह जानकारी दी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. स्वतंत्रता आंदोलन के गुमनाम नायकों की वीरता की कहानियों के 750 मीटर लंबे दस विशाल नामावाली गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होंगे. संस्कृति मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय के सहयोग से विशाल नामावली तैयार की गई है. राष्ट्रीय आधुनिक कला संग्रहालय (एनजीएमए) नई दिल्ली ने लगभग 750 मीटर की नामावली पेंटिंग के लिए कला कुंभ कलाकार कार्यशालाओं के साथ आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाया. नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट के महानिदेशक अद्वैत गरनायक ने आज नई दिल्ली में यह जानकारी दी.

    अद्वैत गरनायक ने कहा कि ये नामावली देश के विविध भौगोलिक स्थानों से कला के विभिन्न रूपों के साथ राष्ट्रीय गौरव और उत्कृष्टता को व्यक्त करती है. उन्होंने कहा कि एक भारत श्रेष्ठ भारत के सच्चे सार का उत्सव इन कार्यशालाओं में दिखाई दिया, जहां भारत के स्वतंत्रता आंदोलन के गुमनाम नायकों के वीर जीवन और संघर्षों को चित्रित करते हुए हमारी सांस्कृतिक पहलुओं में हमारे देश की समृद्ध विविधता देखी गई. दो स्थानों ओडिशा और चंडीगढ़ में फैले पांच सौ से अधिक कलाकारों द्वारा परिश्रमपूर्वक शोध किया गया और उत्साहपूर्वक उसे चित्रित किया गया.

    उन्‍होंने बताया कि संस्कृति मंत्रालय के प्रमुख कार्यक्रम के अनुरूप इन कार्यशालाओं में सहयोग और सामूहिक कार्य की पहलुओं को रेखांकित किया गया है. नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट, नई दिल्ली ने ओडिशा में 11 से 17 दिसंबर तक भुवनेश्वर में कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और सिलिकॉन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और चंडीगढ़ में 25 दिसंबर 2021 से 2 जनवरी 2022 तक चितकारा विश्वविद्यालय के साथ मिलकर काम किया.

    भुवनेश्वर में आयोजित कलाकुंभ में चित्रित की गई नामावली में उड़ीसा, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, बंगाल, और आंध्र प्रदेश के स्वतंत्रता संग्राम के गुमनाम नायकों के चित्रों को चित्रित किया गया है, जिसमें उनकी वीरता और संघर्ष की कहानी को दर्शाया गया है. इसके साथ ही कलाकारों ने यहां पटचित्र, तलपात्र चित्र, मंजुसा, जादुपतुआ और मधुबनी कला का चित्रण किया गया.

    चंडीगढ़ में चित्रित की गई नामावली में लद्दाख, जम्मू, कश्मीर, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, तेलंगाना, तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक के गुमनाम नायकों की वीरता और संघर्ष की कहानियों को दर्शाया गया है. इसके साथ ही कलाकारों ने कला के स्वदेशी रूपों जैसे फड़, पिचवई, लघु, कलमकारी, मंदाना, थंगका और वारली को दर्शाती कलात्मक अभिव्यक्तियां दीं.

    Tags: Republic Day Parade

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर