Lockdown 0.3: नोएडा की 1200 से ज्यादा कंपनियों में काम शुरू, 750 के आवेदन खारिज
Greater-Noida News in Hindi

Lockdown 0.3: नोएडा की 1200 से ज्यादा कंपनियों में काम शुरू, 750 के आवेदन खारिज
औद्योगिक विकास की प्रकिया को एक बार फिर पटरी में लाने की कवायद शुरू हो गई है. (फाइल फोटो)

नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु महेश्वरी ने बताया कि आज 850 उद्योगों को 57 हजार कर्मचारियों के साथ काम करने की अनुमति दी गई है.

  • Share this:
नोएडा. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Pandemic Coronavirus) के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) के चलते उद्योग-धंधे ठप पड़ गए थे लेकिन लॉकडाउन 0.3 में अब धीरे-धीरे इन्हें खोलने की कवायद का असर दिखना शुरू हो गया है. उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर में बंद पड़ी औद्योगिक इकाइयों तथा वाणिज्यिक संस्थानों पर लटके ताले अब खुलने लगे हैं. शुक्रवार तक करीब ढाई हजार संस्थानों को काम शुरू करने की अनुमति मिल चुकी है और 1200 से ज्यादा उद्योगों तथा 50 से ज्यादा बिल्डरों ने काम शुरू भी कर दिया है.

750 के आवेदन हुए खारिज
नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु महेश्वरी ने बताया कि आज 850 उद्योगों को 57 हजार कर्मचारियों के साथ काम करने की अनुमति दी गई है. उन्होंने बताया कि 1600 फैक्ट्रियों के प्रबंधकों ने उद्योग शुरू करने का आवेदन दिया था, जिनमें 750 के आवेदन को खारिज कर दिया गया. उन्होंने बताया कि 20 बिल्डरों को 3,300 कर्मचारियों/ श्रमिकों के साथ निर्माण की अनुमति दी गई है. उन्होंने बताया कि 50 अन्य उद्योग/ वाणिज्य निर्माण की अनुमति दी गई है, जिसमें करीब 3000 श्रमिक काम करेंगे.

मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने बताया कि प्राधिकरण की 30 परियोजनाओं को काम करने की अनुमति दी गई है, जिनमें 650 श्रमिक काम करेंगे. उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी कुछ वाणिज्यिक संस्थानों (Commercial institutions) बिल्डरों व फैक्ट्रियों (builders and factories) को काम करने की अनुमति दी गई है. ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण (Greater Noida Authority) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण ने बताया कि 806 उद्योगपतियों ने अपनी कंपनी चलाने के लिए आवेदन किया था] जिसमें आज 201 उद्योगों को चलाने की अनुमति दी गई है. 588 लोगों के आवेदन को निरस्त किया गया है. उन्होंने बताया कि 74 बिल्डरों को काम करने की अनुमति ग्रेटर नोएडा में दी गई है. उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी कुछ कारखानों तथा बिल्डरों को काम करने की अनुमति दी गई है. (भाषा -इनपुट)
ये भी पढ़ें- Lockdown: महानगरों से पलायन कर गांवों में पहुंचे लाखों प्रवासी मजदूरों को मनरेगा से आस


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज