LOCKDOWN 4.0 : आरोग्य सेतु में है ग्रीन स्टेटस तो ही कर सकेंगे हवाई यात्रा, जानिए सभी शर्तें

फ्लाइट ऑपरेशन के दौरान COVID 19 से बचाव का विशेष ध्‍यान रखा जाएगा. (फाइल फोटो)
फ्लाइट ऑपरेशन के दौरान COVID 19 से बचाव का विशेष ध्‍यान रखा जाएगा. (फाइल फोटो)

आरोग्‍य सेतु (Arogya Setu) एप्‍लीकेशन में ग्रीन स्‍टेटस वाले मुसाफिरों (Passenger) को ही एयरपोर्ट टर्मिनल (Airport Terminal) में प्रवेश करने की इजाजत दी जाएगी.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. COVID-19 के खिलाफ देश में जारी जंग को देखते हुए मंत्रालय ने एयरपोर्ट ऑपरेटर (Airport Operator) एवं एयरलाइंस (Airlines) की सहमति के बाद एक स्‍टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) तैयार किया है. जिसमें, एयरपोर्ट ऑपरेटर, एयरलाइंस के साथ-साथ यात्रियों (Passenger) के दायित्‍वों का भी जिक्र किया गया है. इस एसओपी (SOP) में बताया गया है कि कोविड-19 (COVID-19) से बचाव के लिए एयरपोर्ट ऑपरेटर और एयरलाइंस को किन बातों का ध्‍यान रखना है. साथ ही, इस एसओपी में यात्रियों के लिए भी ‘क्‍या करें और क्‍या न करें’ की जानकारी दी गई है. उन्‍होंने बताया कि सभी एजेंसीज की कोशिश है कि कोराना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण (Infection) से बचाव करते हुए सभी यात्रियों को सुरक्षित उनके गंतव्‍य तक पहुंचाया जा सके.

अब फ्लाइट के समय से 2 घंटे पहले पहुंचना होगा एयरपोर्ट
विमानन क्षेत्र से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, नई एसओपी लागू होने के बाद एयरपोर्ट पर होने वाली सभी प्रक्रियाओं में लगने वाला समय बढ़ जाएगा. इसी बात को ध्‍यान में रखते हुए, नई एसओपी में मुसाफिरों को अपनी फ्लाइट (Flight) के निर्धारित समय से 2 घंटे पहले एयरपोर्ट (Airport) पहुंचने की सलाह दी गई है. उन्‍होंने बताया कि यात्रियों के मोबाइल फोन में आरोग्‍य सेतु (Arogya Setu) एप्‍लीकेशन का इंस्‍टाल होना अनिवार्य किया गया है. आयोग्‍य सेतु में ग्रीन स्‍टेटस (Green Status) वाले मुसाफिरों को ही एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग (Airport Terminal Building) में प्रवेश की इजाजत दी जाएगी. इसके अलावा, यात्रियों के लिए ग्‍लब्‍स, मास्‍क और शू-कवर पहनना अनिवार्य किया गया है. कुछ एयरपोर्ट पर आवश्‍यकता अनुसार, फेस शील्‍ड और पीईपी किट (PEP Kit) पहनने की भी सलाह दी गई है.

 यात्री अपने साथ ले जा सकेंगे सिर्फ एक ही चेक-इन बैग
नई एसओपी के तहत, मुसाफिरों को अब अपने साथ केबिन बैगेज (Cabin Baggage) ले जाने की इजाजत नहीं मिलेगी. यात्री अपने साथ सिर्फ 20 किलो तक का एक चेक-इन बैग (Check in Baggage) ही ले जा सकेंगे. कम से कम संपर्क के लिए अब मुसाफिरों को अपना बैग खुद ही बैगेज बेल्‍ट में रखना होगा. वहीं, एक्‍सेस बैगेज (Excess Baggage) की स्थिति में यात्री सिर्फ डिजिटल मोड (Digital Payment) से ही भुगतान कर सकेंगे. एयरपोर्ट पर किसी भी तरह की नगद ट्रांजेक्‍शन की मनाही रहेगी. एयरलाइंस को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि चेक-इन काउंटर से सीमित संख्‍या में ही यात्रियों को सुरक्षा जांच के लिए भेजें, जिससे सोशल डिस्‍टेंसिंग (Social Distancing) का पूरी तरह से पालन किया जा सके. इसके अतिरिक्‍त, एसओपी में एयरलाइंस को निर्देश दिए गए हैं कि एयरक्राफ्ट में प्रवेश से पहले सभी मुसाफिरों की टेंपरेचर जांच अनिवार्य होगी.



ये भी पढ़ेंः- बिहार और UP के लिए आज रवाना होंगी 6 श्रमिक स्‍पेशल ट्रेनें, यहां देखें शेड्यूल

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज