Home /News /delhi-ncr /

Lockdown: कोर्ट ने केंद्र व दिल्ली सरकार से भुखमरी के शिकार आवारा जानवरों पर मांगा जवाब

Lockdown: कोर्ट ने केंद्र व दिल्ली सरकार से भुखमरी के शिकार आवारा जानवरों पर मांगा जवाब

दिल्ली हाई कोर्ट ने डॉक्टरों की कमिटी बनाने को कहा. (फाइल फोटो)

दिल्ली हाई कोर्ट ने डॉक्टरों की कमिटी बनाने को कहा. (फाइल फोटो)

दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने केंद्र और दिल्ली सरकार से एक याचिका पर जवाब मांगा है, जिसमें उन्हें निर्देश देने की मांग की गई है कि कोरोना वायरस (coronavirus) के चलते जारी लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान आवारा जानवरों को भोजन और पानी मुहैया कराया जाए.

अधिक पढ़ें ...
    नयी दिल्ली. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Pandemic coronavirus) के चलते इस समय देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) है. ऐसे में लोगों के साथ-साथ आवारा पशुओं को भी भोजन-पानी की काफी दिक्कत हो रही हैं. ऐसे में पशुओं के कल्याण के लिए काम करने वाली संस्था ने हाई कोर्ट (Delhi High Court) में याचिका दायर की थी. जिस पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र व दिल्ली सरकार से जवाब मांगा है. साथ ही मत्स्य एवं पशुपालन मंत्रालय, भारतीय पशु कल्याण बोर्ड और नगर निकायों को भी नोटिस जारी किया गया है.

    10 जून को होगी अगली सुनवाई
    दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को केंद्र और दिल्ली सरकार से एक याचिका पर जवाब मांगा है, जिसमें उन्हें निर्देश देने की मांग की गई है कि कोरोना वायरस के चलते जारी लॉकडाउन के दौरान आवारा जानवरों को भोजन और पानी मुहैया कराया जाए. न्यायमूर्ति सिद्धार्थ मृदुल और न्यायमूर्ति तलवंत सिंह के पीठ ने मत्स्य एवं पशुपालन मंत्रालय, दिल्ली सरकार, भारतीय पशु कल्याण बोर्ड और नगर निकायों को नोटिस जारी किया. पीठ ने याचिका पर सुनवाई की, 10 जून तक उनसे जवाब मांगा.

    स्वयंसेवकों को यात्रा पास जारी किए जाएं

    याचिकाकर्ता की तरफ से पेश वकील गौरी पुरी ने बताया कि उच्च न्यायालय ने दिल्ली सरकार से यह भी कहा कि लॉकडाउन के दौरान जानवरों के कल्याण में लगे स्वयंसेवकों को सहानुभूति के आधार पर यात्रा पास जारी किए जाएं. केंद्र सरकार के वकील अनुराग अहलूवालिया ने मंत्रालय के लिए नोटिस स्वीकार किया. आरती पुरी की याचिका पर यह आदेश आया जो पिछले 15 वर्षों से पशुओं के कल्याण के लिए काम कर रही हैं. उन्होंने कहा कि आवारा पशु और अन्य जानवर मुख्यत: कचरे और रेस्तरां, कैंटीन और बाजार स्थलों पर लोगों के बचे भोजन पर निर्भर रहते हैं. इनमें से सब कोविड-19 महामारी के चलते बंद हैं. याचिका में कहा गया कि जो लोग उन्हें खाना खिलाते थे, वे भी लॉकडाउन के कारण घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं और इसलिए आवारा पशु भुखमरी की कगार पर हैं. (भाषा से इनपुट)

    ये भी पढ़ें-Meerut COVID-19 Update: घर जाते समय भावुक हुए जमाती, बोले- डॉक्टर्स ने मां-बाप की तरह ख्‍याल रखा


    Tags: Central government, Coronavirus, Delhi Government, DELHI HIGH COURT, Lockdown

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर