अपना शहर चुनें

States

गुवाहाटी लोकसभा सीट: भारत रत्‍न भूपेन हजारिका लड़ चुके हैं चुनाव

गुवाहाटी लोकसभा सीट से प्रसिद्ध गायक भूपेन हजारिका भी चुनाव लड़ चुके हैं. हालांकि वे दूसरे नंबर पर रहे.
गुवाहाटी लोकसभा सीट से प्रसिद्ध गायक भूपेन हजारिका भी चुनाव लड़ चुके हैं. हालांकि वे दूसरे नंबर पर रहे.

2019 लोकसभा चुनावों की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी ने यहां से सांसद बिजोया चक्रवर्ती का टिकट काटकर क्‍वीन ओझा को मैदान में उतारा है. जबकि कांग्रेस ने भी पूर्व प्रत्‍याशी के बजाया बबीता शर्मा को टिकट दी है. ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस से मनोज शर्मा चुनाव लड़ेंगे.

  • Share this:
असम का गुवाहाटी शहर काफी खूबसूरत है. इसके साथ ही यह पूर्वोत्‍तर का सबसे बड़ा जिला भी है. प्रसिद्ध गायक भूपेन हजारिका ने गुवाहाटी में पढ़ाई की इसके साथ ही 2004 में यहां से बीजेपी के टिकट पर चुनाव भी लड़े. हालांकि हजारिका जीत नहीं पाए. भारत सरकार ने 2019 में ह‍जारिका को मरणोपरांत देश के सर्वोच्‍च भारत रत्‍न सम्‍मान से नवाजा है. इससे पहले उन्‍हें पद्मविभूषण, पद्मभूषण, दादा साहेब फाल्‍के आदि सम्‍मान भी मिल चुके हैं.

राजनीतिक परिपेक्ष्‍य में देखें तो गुवाहाटी लोकसभा सीट बीजेपी का गढ़ मानी जाती है. पिछले दो बार से लगातार बीजेपी यहां जीत रही है. इससे पहले के आंकड़े यहां की जनता के मूड को बताते हैं कि यहां हर बार किसी नए दल ने चुनाव जीता. शुरुआती चुनावों को देखें तो 1951 और 1956 में दो बार यहां कांग्रेस पार्टी ने चुनाव जीता. इसके बाद 1957 और 1962 में यहां से प्रजा सोशलिस्‍ट पार्टी का झंडा बुलंद हुआ. 1967 में यहां से कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ऑ‍फ इंडिया ने भी सीट निकाली. हालांकि अगले ही चुनाव में 1971 में कांग्रेस उम्‍मीदवार दिनेश गोस्‍वामी ने इस सीट पर कब्‍जा किया.

1977 में भारतीय लोकदल के हिस्‍से में यह सीट आई. 1985 में दिनेश गोस्‍वामी ने यहां निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीतकर संसद पहुंचे. उसके बाद यह सीट कांग्रेस और असम गण परिषद के पास भी रही. 1999 में जाकर यहां बीजेपी ने अपना खाता खोला. हलांकि 2004 में यहां से बीजेपी उम्‍मीदवार भूपेन हजारिका हार गए लेकिन 2009 और 2014 में यह सीट बीजेपी के पास रही.



गुवाहाटी सीट पर पिछले दो बार से बीजेपी का कब्‍जा है.
गुवाहाटी सीट पर पिछले दो बार से बीजेपी का कब्‍जा है.

गुवाहाटी लोकसभा सीट पर तीसरे चरण में 23 अप्रैल को मतदान हुआ. इस सीट पर पिछली बार के मुकाबले ज्यादा वोटिंग हुई. चुनाव आयोग से मिले आंकड़ों के मुताबिक इस बार 80.81 फीसदी वोटिंग हुई. जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में 78.35 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाला था. तीसरे चरण में असम में 84.48 फीसदी मतदान रहा.

कौन हैं प्रत्‍याशी?
2019 लोकसभा चुनावों की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी ने यहां से सांसद बिजोया चक्रवर्ती का टिकट काटकर क्‍वीन ओझा को मैदान में उतारा है. जबकि कांग्रेस ने भी पूर्व प्रत्‍याशी के बजाया बबीता शर्मा को टिकट दी है. ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस से मनोज शर्मा चुनाव लड़ेंगे.

इस लोकसभा सीट पर कांग्रेस और बीजेपी में टक्‍कर है. हालांकि यहां कांग्रेस कभी लगातार कई बार तक चुनाव नहीं जीत पाई.
इस लोकसभा सीट पर कांग्रेस और बीजेपी में टक्‍कर है. हालांकि यहां कांग्रेस कभी लगातार कई बार तक चुनाव नहीं जीत पाई.


2014 में बीजेपी को मिली बड़ी जीत
गुवाहाटी लोकसभा सीट से बीजेपी ने 2014 लोकसभा चुनाव में बड़ी जीत हासिल की. बीजेपी उम्‍मीदवार बिजोया चक्रवर्ती को 7,64,985 वोट मिले. जबकि कांग्रेस प्रत्‍याशी मनीष बोरा को 4,49,201 वाेट ही हासिल हो सके. इस दौरान तीसरे नंबर पर 1,37,254 वोटों के साथ एआईयूडीएफ के गोपी नाथ दास रहे. चौथे नंबर पर एजीपी के बीरेंद्र प्रसाद वैश्‍य रहे.

सामाजिक समीकरण
गुवाहाटी संसदीय क्षेत्र में कुल 10 विधानसभा सीटें आती हैं. इसमें 6 विधानसभा सीटों पर बीजेपी का कब्‍जा है जबकि बची 4 पर कांग्रेस काबिज है. दुधनई (ST) में बीजेपी, दिसपुर में बीजेपी, हाजो में बीजेपी छायगांव में कांग्रेस, पालसबारी में बीजेपी, जलुकबारी में बीजेपी, बोको (ST) पर कांग्रेस , गुवाहाटी ईस्ट में कांग्रेस, गुवाहाटी वेस्ट में कांग्रेस और बरखेत्री में बीजेपी विधायक हैं. 2014 के आंकड़ों के अनुसार गुवाहाटी लोकसभा सीट पर कुल मतदाताओं की संख्या 19,22,270 है. इनमें से पुरुष मतदाताओं की संख्या 9,08867 है. वहीं महिला मतदाताओं की संख्या 9,34203 है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज