अपना शहर चुनें

States

नगालैंड लोकसभा सीट: बीजेपी समर्थित एनडीपीपी के मौजूदा सांसद को मिलेगी दोबारा जीत?

नगालैंड में बीजेपी, एनडीपीपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है.
नगालैंड में बीजेपी, एनडीपीपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है.

2019 के चुनाव में इस सीट से एनडीपीपी ने अपने मौजूदा सांसद ताखेहो येपथोमी को उतारा है. बीजेपी इस बार फिर उऩका समर्थन कर रही है. कांग्रेस की ओर से के एल चिशी और नेशनल पीपल्स पार्टी की तरफ से हायथंग तोंगे उम्मीदवार हैं. निर्दलीय उम्मीदवार डॉक्टर एमएम थारोमवा भी चुनावी मैदान में हैं.

  • Share this:
नगालैंड लोकसभा सीट नगालैंड राज्य की एकलौती लोकसभा सीट है. इस सीट से नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोगेसिव पार्टी (एनडीपीपी) के ताखेहो येपथोमी सांसद हैं. 2014 के चुनाव में यहां से नगा पीपुल्स फ्रंट (NPF) के नेफियू रियो ने जीत हासिल की थी. लेकिन बाद में उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद 2018 में हुए उपचुनाव में एनडीपीपी के ताखेहो येपथोमी ने जीत हासिल की. 2018 के उपचुनाव में एनडीपीपी को बीजेपी ने समर्थन दिया था.

2019 के चुनाव में इस सीट से एनडीपीपी ने अपने मौजूदा सांसद ताखेहो येपथोमी को उतारा है. बीजेपी इस बार फिर उऩका समर्थन कर रही है. कांग्रेस की ओर से के एल चिशी और नेशनल पीपल्स पार्टी की तरफ से हायथंग तोंगे उम्मीदवार हैं. निर्दलीय उम्मीदवार डॉक्टर एमएम थारोमवा भी चुनावी मैदान में हैं.

2014 के चुनाव में यहां से एनपीएफ के नेफियू रियो ने जीत हासिल की थी. लेकिन विधानसभा चुनाव के बाद वो राज्य के मुख्यमंत्री बन गए. उनके सीएम बनने के बाद खाली हुई सीट पर 2018 में हुए चुनाव में एनडीपीपी ने कब्जा जमा लिया.



नगालैंड लोकसभा सीट पर बीजेपी-एनडीपीपी के अलावा कांग्रेस और पीपल्‍स पार्टी ने अपने उम्‍मीदवार उतारे हैं.
नगालैंड लोकसभा सीट पर बीजेपी-एनडीपीपी के अलावा कांग्रेस और नेशनल पीपल्‍स पार्टी ने अपने उम्‍मीदवार उतारे हैं.

नगालैंड लोकसभा सीट पर पहली बार 1967 में चुनाव हुए. पहले चुनाव में निर्दलीय प्रत्य़ाशी एससी जमीर को जीत मिली. हालांकि बाद में उन्होंने नगालैंड नेशनलिस्ट ऑर्गेनाइडेशन ज्वाइन कर ली. ये सीट अलग-अलग पार्टियों के पास रही है. 2018 से पहले इस सीट पर 13 बार चुनाव हुए हैं. जिनमें 5 बार कांग्रेस उम्मीदवार ने बाजी मारी है.

नगालैंड में विधानसभा की 60 सीटें हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज