लाइव टीवी

LOK SABHA ELECTIONS 2019: पश्चिमी दिल्ली संसदीय सीट से दूसरी बार मैदान में प्रवेश वर्मा, फतेह कितनी मुश्किल
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: May 20, 2019, 10:00 PM IST
LOK SABHA ELECTIONS 2019: पश्चिमी दिल्ली संसदीय सीट से दूसरी बार मैदान में प्रवेश वर्मा, फतेह कितनी मुश्किल
फोटो साभार: प्रवेश वर्मा के फेसबुक वॉल से

प्रवेश वर्मा साल 2009 में ही सक्रिय राजनीति में कदम रख लिया था. साल 2009 के लोकसभा चुनाव में पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की पूरी तैयारी भी कर ली थी, लेकिन उन्हें पार्टी ने टिकट नहीं दिया.

  • Share this:
प्रवेश वर्मा दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत साहिब सिंह वर्मा के बेटे हैं. 2014 लोकसभा चुनाव में पश्चिमी दिल्ली संसदीय सीट जीत दर्ज कर वर्मा पहली बार लोकसभा पहुंचे. प्रवेश साहिब सिंह वर्मा दिल्ली बीजेपी के एक बड़ा युवा चेहरा हैं. प्रवेश वर्मा का जन्म 7 नवंबर 1977 को दिल्ली में ही हुआ है. उनकी पत्नी का नाम स्वाति सिंह हैं और उनके तीन बच्चे हैं.

प्रवेश वर्मा एक बार फिर से लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी के टिकट पर पश्चिमी दिल्ली संसदीय सीट से अपना किस्मत आजमा रहे हैं. इस सीट पर छठे चरण में 12 मई को वोट डाले जा चुके हैं. प्रवेश वर्मा साल 2009 में ही सक्रिय राजनीति में कदम रख लिया था. साल 2009 के लोकसभा चुनाव में पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की पूरी तैयारी भी कर ली थी, लेकिन उन्हें पार्टी ने टिकट नहीं दिया. साल 2013 में दिल्ली विधानसभा के चुनाव में पार्टी ने उन्हें महरौली विधानसभा से टिकट दिया और वर्मा ने जीत हासिल की थी.

बीजेपी का झंडा




पिछले लोकसभा चुनाव में प्रवेश वर्मा को 48.3% मत पड़े थे.



साल 2014 के आम चुनाव में मोदी लहर में प्रवेश वर्मा को पश्चिमी दिल्ली संसदीय सीट से बीजेपी ने उम्मीदवार बनाया और यहां से जीत हासिल कर वह पहली बार संसद पहुंचे. प्रवेश वर्मा को साल 2014 के लोकसभा चुनाव में 48.3% मत पड़े थे. प्रवेश वर्मा ने उस चुनाव में आप के उम्मीदवार जरनैल सिंह को हराया था. आप के जरनैल सिंह को इस चुनाव में 28.3% वोट हासिल हुए थे जबकि कांग्रेस के महाबल मिश्रा के हिस्से में सिर्फ 14.3% वोट पड़े थे.

लोकसभा चुनाव 2019 में आम आदमी पार्टी ने प्रवेश वर्मा के खिलाफ बलबीर सिंह जाखड़ को मैदान में उतारा है तो वहीं कांग्रेस पार्टी ने एक बार फिर से महाबल मिश्रा पर ही भरोसा जताया है. इस बार पश्चिमी दिल्ली संसदीय सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला होने के आसार हैं.

भारत का नक्शा


ग्रामीण इलाकों में पिता के नाम का फायदा 

माना जा रहा है कि पिता के नाम का प्रवेश वर्मा को काफी फायदा मिल रहा है. इस इळाके में पिता साहिब सिंह वर्मा की काफी अच्छी पकड़ थी. खुद प्रवेश वर्मा ने भी सांसद निधि फंड से अभी तक इस इलाके में 26.65 करोड़ रुपए खर्च किए हैं. हालांकि, बीते चुनाव की अपेक्षा इस चुनाव में उनकी संपत्ति में डेढ़ गुना बढ़ोत्तरी हुई है.

बता दें कि पश्चिमी दिल्ली सीट पर पंजाबी, सिख, जाट, पूर्वांचली वोटरों की संख्‍या अधिक है. पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट के अंतर्गत मादीपुर, राजौरी गार्डन, हरि नगर, तिलक नगर, जनकपुरी, विकासपुरी, उत्तम नगर, द्वारका, मटियाला और नजफगढ़ जैसे विधानसभा क्षेत्र आते हैं. यहां प्रवेश वर्मा को अकाली दल का समर्थन है और अकाली दल का ही मौजूदा विधायक भी हैं. ऐसे में वह इस चुनाव में अपने विरोधियों को कड़ी टक्कर देने की उम्मीद है.

यह भी पढ़ें: क्या संकट में है कमलनाथ सरकार? ये है MP विधानसभा का गणित

यह भी पढ़ें: Exit Polls: ये 11 राजनीतिक संकेत दे रहे हैं एग्जिट पोल्स

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 20, 2019, 4:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading