कोटा के अस्पताल में 48 घंटे में 10 बच्चों की मौत, ओम बिरला ने CM गहलोत को लिखा पत्र
Kota News in Hindi

कोटा के अस्पताल में 48 घंटे में 10 बच्चों की मौत, ओम बिरला ने CM गहलोत को लिखा पत्र
स्पीकर ओम बिरला ने कहा कि लोगों का हर दिन लोकतंत्र में भरोसा बढ़ता जा रहा है.

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) ने कहा कि कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र में स्थित जेके लोन अस्पताल में शिशुओं की असमय मौत सभी के लिए चिंता का विषय है.

  • भाषा
  • Last Updated: December 27, 2019, 11:27 PM IST
  • Share this:
कोटा/नई दिल्ली. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) ने अपने संसदीय क्षेत्र कोटा (Kota) के एक अस्पताल में पिछले दो दिनों में 10 शिशुओं (Kids) की मौत पर चिंता जताई है. कोटा के सांसद ओम बिरला ने  जेके लोन अस्पताल (JK Lone Hospital) में पिछले दो दिनों में 10 शिशुओं की मौत होने पर शुक्रवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को पत्र लिखा है. उन्होंने इस विषय की जांच-पड़ताल कराने और आवश्यक मेडिकल इंतजाम करने का अनुरोध किया.

लोकसभा अध्यक्ष ने जताई चिंता
बिरला ने कहा कि कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र में स्थित जेके लोन अस्पताल में शिशुओं की असमय मौत सभी के लिए चिंता का विषय है. उन्होंने कहा कि इस बड़े अस्पताल में योग्य चिकित्साकर्मियों और जीवन रक्षक उपकरणों के अभाव के चलते हर साल 800 से 900 शिशुओं और 200 से 250 बच्चों की मौत हो जाती है.

ओम बिरला ने की जांच की मांग
बिरला ने गहलोत को लिखे पत्र में कहा है कि जानकारी के मुताबिक अस्पताल में जीवन रक्षक उपकरण काम नहीं कर रहे हैं और योग्य चिकित्सकों और पैरामेडिकल कर्मचारी के कई पद खाली हैं. उन्होंने इसे हर साल इस अस्पताल में शिशुओं और बच्चों की मौत होने की मुख्य वजह बताया और इस विषय की जांच पड़ताल करने के लिए गहलोत से एक कमेटी गठित करने का अनुरोध किया.



बिरला ने कहा कि उन्होंने इस विषय की जांच पड़ताल करने और अस्पताल में सुविधाओं को बेहतर करने के लिए तथा सभी आवश्यक इंतजाम करने का गहलोत से व्यक्तिगत रूप से अनुरोध किया है.

ये भी पढ़ें-

पुलिस ज्यादतियों के खिलाफ UP भवन के बाहर प्रदर्शन, हिरासत में कई प्रदर्शनकारी

भारतीय सशस्त्र बल मानवाधिकार कानूनों का सम्मान करते हैं: बिपिन रावत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading