लाइव टीवी

नागरिकता संशोधन विधेयक से लेकर महाराष्ट्र की राजनीति तक, पढ़ें- पीयूष गोयल ने क्या-क्या कहा

News18Hindi
Updated: December 10, 2019, 9:44 PM IST
नागरिकता संशोधन विधेयक से लेकर महाराष्ट्र की राजनीति तक, पढ़ें- पीयूष गोयल ने क्या-क्या कहा
सवालों का जवाब देते हुए पीयूष गोयल

लोकमत नेशनल कॉन्क्लेव 2019 (Lokmat National Conclave 2019) में शामिल हुए केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) से लेकर महाराष्ट्र की राजनीति पर पूछे गए सवालों का जवाब दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2019, 9:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) पर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि कांग्रेस ने एक व्यक्ति के स्वार्थ के लिए देश का बंटवारा किया. पाकिस्तान में अल्पसंख्यक 23 फीसदी से घटकर सिर्फ 3 फीसदी रह गए. पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने कहा कि 1947 में कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश के दो टुकड़े किए. पाकिस्तान-बांग्लादेश की नींव कांग्रेस ने रखी. महात्मा गांधी इसके विरोध में थे. कांग्रेस ने एक व्यक्ति के स्वार्थ के लिए देश का बंटवारा किया.

पीयूष गोयल ने कहा कि किसी मुस्लिम परिवार को इस देश में नुकसान नहीं हुआ है, कुछ दलों का एजेंडा है कि मुसलमानों को पिछड़ा रखो. मोदी सरकार ने धर्म के आधार पर विकास योजनाएं नहीं चलाई, किसी से धर्म पूछकर गैस और शौचालय नहीं दिया. रेल मंत्री पीयूष गोयल लोकमत नेशनल कॉन्क्लेव 2019 (Lokmat National Conclave 2019) में नेटवर्क 18 के भूपेंद्र चौबे के सवालों का जवाब दे रहे थे.

किसी के साथ अन्याय नहीं होने देंगे
पीयूष गोयल ने कहा कि हम किसी के साथ अन्याय नहीं होने देंगे, लेकिन घुसपैठियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. हर देश में नागरिकता कानून होते हैं, उसी के हिसाब से नागरिकता दी जाती है. उन्होंने कहा कि कुछ राजनीतिक दल देश का और शरणार्थियों का नुकसान कर रहे हैं. जहां देश का कानून कहेगा वहां घुसपैठी जाएंगे. हम धर्म के आधार पर कुछ नहीं कर रहे हैं.

मिली जुली सरकारों से देश को नुकसान हुआ
केंद्रीय रेल मंत्री ने कहा कि मिली-जुली सरकारें, जिनका कोई विजन नहीं है, उससे देश को नुकसान होता है. पूर्व में कमजोर नेतृत्व के चलते देश की छवि बिगड़ी. भ्रष्टाचार हुआ जिससे अंतराष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि गिरी.

महाराष्ट्र में अगर अकेले लड़ते तो बहुमत मिलतामहाराष्ट्र की राजनीति पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए गोयल ने कहा, "शिवसेना के अरविंद सावंत के लिए मैंने गली-गली कैंपेन किया है, दक्षिण मुंबई की जनता शिवसेना को वोट नहीं देना चाहती थी. हमें क्या मालूम था कि बेवफाई होगी." उन्होंने कहा कि बीजेपी-शिवसेना का चुनाव पूर्व गठबंधन था, अगर हम अकेले लड़ते तो बहुमत मिलता. हमने अपनी दोस्ती निभाई. झूठी अफवाह फैलाकर शिवसेना ने गठबंधन धर्म नहीं निभाया. शिवसेना ने सिद्धातों को समझौता से करके महाराष्ट्र में सरकार बनाई है. अब तो अपने को हिंदू सम्राट कहने से भी वे (शिवसेना) डरते हैं.

ये भी पढ़ें-

नागरिकता संशोधन बिल: ओवैसी बोले- इस तरह का कानून बनाकर जिन्ना को जिंदा कर रहे हैं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 9:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर