लाइव टीवी

तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट: शशि थरूर को टक्कर दे पाएंगे बीजेपी के राजशेखरन?

News18Hindi
Updated: April 22, 2019, 8:24 PM IST
तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट: शशि थरूर को टक्कर दे पाएंगे बीजेपी के राजशेखरन?
file photo

यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे शशि थरूर तिरुवनंतपुरम सीट से लगातार दो बार से सांसद बनकर लोकसभा पहुंच रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2019, 8:24 PM IST
  • Share this:
यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे शशि थरूर तिरुवनंतपुरम सीट से लगातार दो बार से सांसद बनकर लोकसभा पहुंच रहे हैं. इस बार वो भी यहां से मैदान में हैं. शशि थरूर कांग्रेस के उन प्रमुख चेहरों में से हैं जो केरल से चुनाव जीतकर आते हैं. उन्हें रोकने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने मिजोरम के पूर्व राज्यपाल कुम्मानम राजशेखरन को उतारा है. राजजशेखरन ने मार्च महीने की शुरुआत में राज्यपाल के पद से इस्तीफा दे दिया था.

राजशेखरन के बारे में कहा जा रहा है कि संघ ​परिवार के एक वर्ग ने तिरुवनंतपुरम के लिए उपयुक्त उम्मीदवार के लिए उनका नाम सुझाया था. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी तिरुवनंतपुरम सीट को महज लगभग 16,000 वोटों से हार गई थी. राजशेखरन की उम्मीदवारी के साथ ही तिरुवनंतपुरम निर्वाचन क्षेत्र पर मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है. इस सीट पर थरूर, राजशेखरन और सीपीआई के पूर्व मंत्री सी दिवाकरन में कड़ी टक्कर है.

क्या हैं चुनावी समीकरण

चुनाव प्रचार करते बीजेपी के प्रत्याशी राजशेखरन


इस लोकसभा क्षेत्र में सात विधानसभाएं आती हैं. ये क्षेत्र हैं- तिरुवनंतपुरम, कझाकुट्टम, वट्टीयूरकावू, नेमम, कोवलम, नेयाट्टिंकारा और पारासला सीटे हैं. 2011 की जनगणना के मुताबिक इस लोकसभा क्षेत्र की जनसंख्या 17,03,709 है. इनमें 27 प्रतिशत शहरी और करीब 73 प्रतिशत ग्रामीण जनसंख्या है. एसएसी/एसएसटी समुदायद की संख्या करीब साढ़े दस प्रतिशत के आसपास है. 2016 की वोटर लिस्ट के मुताबिक यहां करीब साढ़े तेरह लाख वोटर हैं. 2014 के चुनाव में 68.63 प्रतिशत वोटिंग हुई थी. बीते चुनाव में शशि थरूर बीजेपी के उम्मीदवार से सिर्फ 16,000 वोटों से जीते थे.

यह भी पढ़ें: वायनाड लोकसभा सीट: क्या दक्षिण में संदेश दे पाने में कामयाब होंगे राहुल?

यह भी पढ़ें: वाराणसी लोकसभा क्षेत्र: बीजेपी का मजबूत गढ़ है 'बनारस', 7 में से 6 बार दर्ज की है जीतयह भी पढ़ें: इलाहाबाद लोकसभा क्षेत्र: कांग्रेस के लिए 'सूखा कुआं ' बना नेहरू का गृह जनपद, 30 साल में जीत मयस्सर नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 22, 2019, 8:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर