लव, सेक्स और हत्या की एक और कहानी, महिला कांस्टेबल के मर्डर की यह वजह बताई गिरफ्तार आशिक ने...
Delhi-Ncr News in Hindi

लव, सेक्स और हत्या की एक और कहानी, महिला कांस्टेबल के मर्डर की यह वजह बताई गिरफ्तार आशिक ने...
राजस्थान से पकड़े गए हत्या के आरोपी ने कहा, शादी के लिए दबाव बनाती थी. (प्रतीकात्मक फोटो)

मकान के मालिक हरविंदर ने पुलिस (Police) को बताया कि एक युवक अक्सर प्रीति के घर आता था, जिसको वह अपना भाई बताती थी. वह अक्सर प्रीति के घर ठहरता भी था और वह अपने आप को बीएसएफ का जवान बताता था.

  • Share this:
दिल्ली. साउथ वेस्ट जिला पुलिस का दावा है कि दिल्ली के पालम इलाके में हुए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की महिला कांस्टेबल (Mahila Constable ) की हत्या मामले को उसने सुलझा लिया है. हत्या के इस मामले में दिल्ली पुलिस की टीम ने नरेश यादव नाम के शख्स को गिरफ्तार (Arrest) किया है. नरेश यादव सीमा सुरक्षा बल (BSF) में कार्यरत है और वह राजस्थान (Rajasthan) मूल का रहने वाला है.

पीसीआर कॉल से मिली थी सूचना

दरअसल, साउथ वेस्ट दिल्ली के पालम इलाके में रहने वाली प्रीति बेनीवाल की मौत के बारे में 14 जुलाई को एक पीसीआर कॉल हुई थी. फोन कॉल में बताया गया था कि मंगलापुरी इलाके के डी-48 आवास में एक महिला का शव पड़ा हुआ है, जिसका नाम प्रीति बेनीवाल है. मौके पर जब दिल्ली पुलिस की स्थानीय टीम पहुंची तो पता चला कि वह दिल्ली पुलिस की सिपाही थी, जो तीसरे बटालियन अंतर्गत तिहाड़ जेल में कार्यरत थी. मौत की जानकारी मिलने के बाद आसपास यह मामला काफी चर्चा का केन्द्र बन गया. लिहाजा दिन भर पुलिस की टीम वहां रहकर मामले की तफ्तीश में जुट गई.



गला दबाकर की गई थी हत्या
संदिग्ध हालत में हुई इस मौत के मामले की तफ्तीश के लिए स्पेशल टीम बुलाई गई. उसने क्राइम लोकेशन का मैप और तमाम जानकारियां जुटाईं. पुलिस के मुताबिक प्रीति का शव बिस्तर पर पड़ा हुआ था. गौर से देखने पर ऐसा लग रहा था कि उसका गला घोंटा गया है. इस मामले पर पुलिस की टीम भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है.

मकान मालिक से हुई पूछताछ से मिला सुराग

मामले की तफ्तीश के दौरान जब उस मकान के मालिक हरविंदर से पूछताछ की गई तो पता चला कि एक युवक अक्सर उसके घर आता था, जिसको वह अपना भाई बताती थी. इसके साथ ही यह भी जानकारी मिली कि वह लड़का अक्सर इसके घर ठहरता भी था और वह अपने आप को बीएसएफ का जवान बताता था. तफ्तीश के दौरान जब पुलिस की टीम ने इस मामले में और विस्तार से सवाल-जवाब किया तो पता चला कि उस शख्स का नाम है नरेश यादव और 14 तारीख को भी जिस दिन हत्या हुई थी उसके दो दिन पहले आया था और हत्या वाले दिन में सुबह -सुबह करीब पांच बजे वहां से निकला है. लेकिन प्रीति की मौत की जानकारी करीब 12 बजे हुई. तबतक आरोपी राजस्थान जा चुका था. मामले की नजाकत को देखते हुए पुलिस की कई टीम का गठन किया गया. इस मामले में राजस्थान सहित हरियाणा में भी तलाशी अभियान चलाया गया.

राजस्थान से पकड़ा गया आरोपी

उसके बाद आरोपी नरेश को राजस्थान में हिरासत में लेकर पुलिस की टीम दिल्ली पहुंची और यहां पूछताछ के बाद औपचारिक तौर पर गिरफ्तार कर ली. हत्या का आरोपी नरेश ने इस मामले में पूछताछ के दौरान बताया था कि वह शादीशुदा है. उसके दो बच्चे हैं जो राजस्थान में रहते हैं. लेकिन प्रीति की शादी नहीं हुई थी. वे दोनों एक-दूसरे को करीब चार साल से जानते थे. प्रीति लगातार शादी करने का दवाब नरेश पर बना रही थी, इस वजह से इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया. हालांकि गिरफ्तारी के बाद भी इस मामले में दिल्ली पुलिस विस्तार से पूछताछ करने में जुटी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading