होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

2 महीने तक पर्थला गोलचक्कर पर रहेगा ट्रैफिक रूट डायवर्जन, जानें प्लान

2 महीने तक पर्थला गोलचक्कर पर रहेगा ट्रैफिक रूट डायवर्जन, जानें प्लान

पर्थला फ्लाई ओवर निर्माण के चलते नोएडा ट्रैफिक पुलिस और नोएडा अथॉरिटी ने यह फैसला लिया है.  (सांकेतिक तस्वीर)

पर्थला फ्लाई ओवर निर्माण के चलते नोएडा ट्रैफिक पुलिस और नोएडा अथॉरिटी ने यह फैसला लिया है. (सांकेतिक तस्वीर)

नोएडा (Noida) को ग्रेटर नोएडा वेस्ट (Greater Noida West) से जोड़ने के लिए पर्थला फ्लाई ओवर (Parthala flyover) का निर्माण किया जा रहा है. इसके बन जाने के बाद से गाजियाबाद (Ghaziabad) जाने की राह भी आसान हो जाएगी. इसे नोएडा का सिग्नेचर ब्रिज भी बताया जा रहा है. नए रूट डायवर्जन (Traffic Diversion) प्लान के चलते गोलचक्कर के रास्ते फेज-दो और सेक्टर-80 की ओर से एनएच-9 की तरफ वाहन सीधे नहीं जा सकेंगे. इसी तरह से गौड़ सिटी की ओर से आने वाले वाहन एनएच-9 की ओर जाने के लिए गोलचक्कर का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. अगर दिन में एक बार भी आपका आना-जाना पर्थला गोलचक्कर (Parthala Golchakkar) की तरफ होता है तो यह खबर आपके लिए है. आने वाले दो महीने के लिए पर्थला गोलचक्कर पर ट्रैफिक रूट डायवर्जन रहेगा. पर्थला फ्लाई ओवर निर्माण के चलते नोएडा ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) और नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने यह फैसला लिया है. ट्रैफिक रूट डायवर्जन (Traffic Diversion) का नया प्लान 15 दिन बाद लागू कर दिया जाएगा. पर्थला फ्लाई ओवर (Parthala flyover) के मुख्य हिस्से पर स्टील का स्ट्रक्चर रखे जाने और रैंप का काम तेजी से निपटाए जाने के चलते यह प्लान तैयार किया गया है. गौरतलब रहे करीब एक लाख से ज्यादा लोग इस गोलचक्कर से रोजाना गुजरते हैं.

ऐसे किया गया है रूट डायवर्जन

जानकारों की मानें तो नए रूट डायवर्जन प्लान के तहत डीएससी रोड, फेज-दो, सेक्टर-80, 115, 118 की ओर से गढ़ी चौखंडी, सेक्टर-69, 63ए, छिजारसी व एनएच-9 की ओर जाने के लिए पर्थला गोलचक्कर से बायीं ओर मुड़कर सेक्टर-71 की ओर 400 मीटर आगे जाकर यू-टर्न लेकर सभी तरह के वाहन सेक्टर-121 से होकर जा सकेंगे. वहीं किसान चौक की ओर से पर्थला गोलचक्कर के रास्ते गढ़ी चौखंडी, छिजारसी और एनएच-9 की ओर जाने वाले वाहनों के लिए गोलचक्कर से दायीं ओर का रास्ता बंद रहेगा. वाहनों को सीधे जाकर 400 मीटर आगे से यू-टर्न लेकर सेक्टर-121 होते हुए जाना होगा.

इसके साथ ही सेक्टर-71 से किसान चौक की तरफ जाने वाले वाहनों को पहले गोलचक्कर से बायीं ओर मुड़कर सेक्टर-121 होकर एफएनजी मार्ग होते हुए जाना होगा. फिलहाल के लिए सेक्टर-121 से पर्थला की ओर जाने वाले रोड को बैरिकेड लगाकर संकरा कर दिया गया. आने वाले दिनों में इस रास्ते को पूरी तरह बंद कर दिया जाएगा. लेकिन लोगों की सहूलियत के लिए गोलचक्कर के पास यू-टर्न की व्यवस्था लागू कर दी जाएगी.

केबल सस्पेंशन के काम की वजह से किया रूट डायवर्ट

नोएडा अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो नया रूट डायवर्जन प्लान लागू होते ही पर्थला फ्लाई ओवर पर केबल सस्पेंशन का काम शुरू हो जाएगा. 1400 टन वजन का स्टील का स्ट्रक्चर पिलर पर रखा जाएगा. अहमदाबाद से अलग-अलग हिस्सों में गॉर्डर और केबिल आना शुरू हो चुका है. कुल 18 गॉर्डर इस फ्लाई ओवर पर रखे जाएंगे. 600 मीटर लम्बा यह फ्लाई ओवर तीन पिलर पर टिका होगा. क्योंकि सिग्नेचर ब्रिज की तरह ऊपर से यह 250 तारों पर टिका होगा. यह 6 लेन का फ्लाई ओवर है.

सिग्नेचर ब्रिज बन जाने से इन्हें होगा सबसे ज्यादा आराम

मास्टर प्लान रोड नंबर-3 नोएडा की सबसे व्यस्त सड़क मानी जाती है. इसी के चलते पर्थला गोल चक्कर पर भी जाम लगता है. लेकिन अब पर्थला फ्लाई ओवर (सिग्नेचर ब्रिज) बन जाने के बाद जाम के झाम से निजात मिल जाएगी. दिल्ली और नोएडा के लोग आराम से ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, हापुड़ और बुलंदशहर जा सकेंगे. इतना ही नहीं शहर के सेक्टर-51, सेक्टर-52, सेक्टर-61, सेक्टर-70, सेक्टर-71, सेक्टर-72, सेक्टर-73, सेक्टर-74, सेक्टर-75, सेक्टर-76, सेक्टर-77, सेक्टर-78, सेक्टर-79, सेक्टर-121 और सेक्टर-122 में रहने वालों को भी खासा आराम मिलेगा. नोएडा से ग्रेटर नोएडा वेस्ट जाने वालों को भी आसानी हो जाएगी.

Tags: Ghaziabad News, Greater noida news, Noida Authority, Traffic Police

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर