• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Haryana Assembly Election 2019: चुनाव नतीजों पर बोले आनंद शर्मा- हमें जनादेश स्वीकार

Haryana Assembly Election 2019: चुनाव नतीजों पर बोले आनंद शर्मा- हमें जनादेश स्वीकार

आनंद शर्मा ने कहा, 'प्रजातंत्र में जनता ही सबसे ऊपर है. उसकी आवाज़ ऊपर उठकर हमेशा आएगी.' File Photo

आनंद शर्मा ने कहा, 'प्रजातंत्र में जनता ही सबसे ऊपर है. उसकी आवाज़ ऊपर उठकर हमेशा आएगी.' File Photo

आनंद शर्मा (Anand Sharma) ने अल्पेश ठाकोर (Alpesh Thakor) की तरफ इशारा करते हुए कहा कि गुजरात (Gujrat) में जिसको दल बदल कराकर ले गए, उसकी हार हुई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. हरियाणा विधानसभा (Haryana Assembly Election 2019) और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election 2019 results) के नतीजे लगभग आ चुके हैं. महाराष्ट्र में बीजेपी (BJP) सरकार बनाने की स्थिति में है तो हरियाणा (Haryana) में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनी है. दोनों राज्यों में कांग्रेस (Congress) ने अच्छा प्रदर्शन किया है. महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन 105 सीटों पर आगे है. वहीं हरियाणा में कांग्रेस 31 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है. कांग्रेस के प्रदर्शन पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा हरियाणा में भी लोकसभा चुनाव परिणाम में भाजपा को बढ़त थी, लेकिन इस समय जो चुनाव नतीजे सामने आए हैं वह अलग हैं. मनोहर लाल खट्टर जी का कोई नैतिक अधिकार नहीं है कि वह अपने पद पर बने रहें.

    आनंद शर्मा ने कहा कि बीजेपी के लिए आज कोई जश्न मनाने का दिन नहीं है. सरकार किसानों के प्रति, देश के नौजवानों के प्रति संवेदनहीन है. शर्मा ने कहा कि राजनीति में आज लोग सिद्धांत को छोड़कर दल बदल करने में लगे हुए हैं, लेकिन जनता की आवाज़ को दबाया नहीं जा सकता है. हरियाणा के चुनाव नतीजों में बीजेपी का 22 फीसदी वोट गिरा है. गुजरात में जिसको दल बदल कराकर ले गए, उसकी हार हुई है.

    चुनाव में बीजेपी की नैतिक हार हुई
    पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, 'हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव नतीजे सामने हैं, उन्हें देखते हुए हम जनादेश स्वीकार करते हैं. इस चुनाव में बीजेपी की नैतिक हार हुई है.' उन्होंने कहा कि बीजेपी नेताओं ने भ्रामक प्रचार प्रसार किया, शासन प्रशासन उनके साथ थे. वो अहंकार और प्रचार में इतना खो गए थे कि उस पर विराम लगने में वक़्त लगेगा. देश की आवश्यकता को समझते हुए जनता ने बिगड़ते संतुलन को संभालने की कोशिश की है.

    देश की जनता को भयभीत नहीं किया जा सकता
    आनंद शर्मा ने कहा कि सरकार गरीब के प्रति संवेदनहीन है. हमारी अर्थ्यवस्था चरमरा रही है, किसान आत्महत्या कर रहे हैं, ये सभी देश के असली मुद्दे हैं. देश के सामने गहरा संकट है, सरकार जिसकी चिंता नहीं कर रही है. आनंद शर्मा ने कहा, 'देश की जनता को भयभीत नहीं किया जा सकता. प्रजातंत्र में जनता ही सबसे ऊपर है. उसकी आवाज़ ऊपर उठकर हमेशा आएगी.'



    एग्जिट पोल गलत साबित हुए
    एग्जिट पोल के बारे में आनंद शर्मा ने कहा कि जो एग्जिट पोल में दिखाया गया, वह गलत साबित हुआ. महाराष्ट्र में जो चुनाव नतीजे आए हैं, चार महीने पहले जो परिणाम आया है, उसका उलटा हुआ है. कोई राज्य ऐसा नहीं है, जहां उपचुनाव हुए हैं वहां उनकी हार हुई है. हम उम्मीद करते हैं प्रधानमंत्री जी से कि वो गरीब किसान और जनता पर ध्यान दें.​

    यह भी पढ़ें-

    तेलंगाना की इस सीट पर उपचुनाव में रिकॉर्ड बहुमत से जीती TRS
    ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर को गुजरात उप-चुनाव में इस वजह से मिली करारी शिकस्त
    यूपी विधानसभा उपचुनावों में ऐसे घट गई बीजेपी की सीटों की संख्या

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज