• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने का निर्णय बुरा लगा, नहीं मानी मेरी बात: मल्लिकार्जुन खड़गे

सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने का निर्णय बुरा लगा, नहीं मानी मेरी बात: मल्लिकार्जुन खड़गे

खड़गे का मानना है कि सिंधिया ने अपनी शिकायतों को आगे रखा. (फोटो साभार: ANI)

ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद कांग्रेस के सीनियर नेताओं ने इसे सही कदम नहीं माना. सिंधिया के इस निर्णय से पहले कांग्रेस के इन नेताओं ने उन्हें समझाने का भी प्रयास किया था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद कांग्रेस के सीनियर नेताओं ने इसे सही कदम नहीं माना है. सिंधिया के इस निर्णय से पहले कांग्रेस के इन नेताओं ने उन्हें समझाने का भी प्रयास किया था. कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) का मानना है कि उन्होंने किसी की बात नहीं सुनी. इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी मीडिया से बातचीत में ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपना दोस्त बताया था. राहुल ने कहा कि ज्‍योतिरादित्‍य अकेले ऐसे मित्र हैं जो कभी भी घर पर आ सकते हैं. राहुल ने कहा कि वो पहले भी आ सकते थे.

    समझाई थी ये बात

    एएनआई से बातचीत में खड़गे ने कहा कि सिंधिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा था कि हर किसी के जीवन में व्यक्तिगत लाभ और हानि होती है. आप 4 बार सांसद रहे हैं और कई पदों पर रहे हैं, इसीलिए कांग्रेस छोड़ना सही नहीं है. खड़गे का मानना है कि सिंधिया ने अपनी शिकायतों को आगे रखा, जिसके बाद उन्होंने कांग्रेस से नाता तोड़ लिया.



    तीन दिन पहले हुई थी बातचीत

    खड़गे ने यह भी कहा कि सिंधिया का कांग्रेस छोड़ने के निर्णय से मुझे बुरा लगा. उन्होंने बताया कि तीन दिन पहले उनकी इस मामले पर उनसे बातचीत हुई थी. इस दौरान उन्होंने कहा था कि आपको (ज्योतिरादित्य सिंधिया) पार्टी छोड़ने की कोई जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि वे युवा और एक अच्छे वक्ता भी हैं. खड़गे का मानना है कि पार्टी एक विचारधारा पर बनी है और इस विचारधारा को मानने वाले सभी लोगों को इसे मजबूत बनाना चाहिए.

    'अकेले ऐसे मित्र जो कभी भी घर आ सकते हैं'

    मध्य प्रदेश में मची सियासी हलचल के बाद सिंधिया के भाजपा में जाने को लेकर अब कांग्रेस के नेताओं की प्रतिक्रिया आ रही है. बुधवार की दोपहर सिंधिया के भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के कुछ ही देर बाद पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी थी. राहुल से जब पत्रकारों ने सवाल किया कि सिंधिया खेमे की ओर से आरोप है कि वह आपसे मुलाकात करना चाह रहे थे, लेकिन मुलाकात हो नहीं पा रही थी. इस पर राहुल ने जवाब देते हुए ये कहा. उन्‍होंने कहा, ज्‍योतिरादित्‍य और मैं साथ में पढ़े हैं. वह मेरे ऐसे अकेले मित्र हैं जो कभी भी घर आ सकते हैं.

    ये भी पढ़ें: 
    BJP ज्वाइन करते ही सिंधिया को मिला तोहफा, कुछ घंटों में बने राज्यसभा उम्मीदवार
    राज्यसभा चुनाव के लिए BJP ने खोले पत्ते, सीपी ठाकुर के बेटे विवेक ठाकुर बने उम्मीदवार


    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज