मनीष सिसोदिया के पूर्व OSD गोपाल माधव को कोर्ट से मिली जमानत, रिश्वत लेते हुई थी गिरफ्तारी
Delhi-Ncr News in Hindi

मनीष सिसोदिया के पूर्व OSD गोपाल माधव को कोर्ट से मिली जमानत, रिश्वत लेते हुई थी गिरफ्तारी
कोर्ट ने माना, मतदाता पहचान पत्र नागरिकता साबित करने का पर्याप्त सबूत

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Deputy Chief Minister Manish Sisodia) को विशेष ड्यूटी पर तैनात अधिकारी गोपाल माधव को दिल्ली की एक अदालत ने जमानत दे दी.

  • Share this:
नई दिल्ली. भ्रष्टाचार के एक मामले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के पूर्व OSD गोपाल माधव को जमानत मिल गई है. दिल्ली की एक अदालत ने जमानत दी है. गौरतलब है कि बीते 7 फरवरी को  केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने दिल्ली सरकार के अफसर गोपाल कृष्ण माधव (Gopal Krishna Madhav) को गिरफ्तार किया था. गोपाल कृष्ण माधव दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) के पूर्व ओएसडी थे. सीबीआई ने दानिक्स अधिकारी गोपाल कृष्ण को दो लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा था. गोपाल कृष्ण माधव पूर्व में डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के कार्यालय में तैनात थे.

तब अधिकारियों ने बताया था कि गोपाल कृष्ण माधव नाम के अधिकारी को जीएसटी संबंधित मामले में कथित रूप से दो लाख रुपये रिश्वत लेते समय देर रात गिरफ्तार किया गया था. अधिकारियों ने कहा कि माधव को पूछताछ के लिए तत्काल सीबीआई मुख्यालय ले जाया गया. सूत्रों ने कहा कि इस मामले में मनीष सिसोदिया की कोई भूमिका सामने नहीं आई है. फिलहाल मामले की जांच जारी है.

मनीष सिसोदिया ने जायज ठहराया था
वहीं, गोपाल माधव की गिरफ्तारी को मनीष सिसोदिया ने जायज ठहराया था. उन्होंने गोपाल कृष्ण माधव पर कड़ी कार्रवाई की मांग की थी. सिसोदिया ने कहा है कि भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस है. वहीं, बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने सिसोदिया पर गंभीर आरोप लगाए थे.





सीबीआई ने ठीक किया है
तब मनीष सिसेदिया ने इस मसले पर कहा था कि सीबीआई ने ठीक किया है. ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी ही चाहिए. वो जीएसटी इंस्पेक्टर रहते हुए पकड़े गए हैं. वो मेरे साथ काम कर चुके हैं. सिसोदिया ने आगे कहा कि मेरे पास 10 - 12 ओएसडी रहते हैं. मेरी डायरेक्ट बातचीत नहीं होती है. जो भी है, सीरियस मैटर है, मैं तो खुद भ्रष्ट अधिकारियों को पकड़वाता हूं. हमने तो अपने मंत्री को नहीं छोड़ा. टाइमिंग को लेकर मैं कुछ नहीं कहना चाहता. भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस है.

ये भी पढ़ें- 

40 साल पहले एक उपन्यास ने की थी चीन में कोराना वायरस की भविष्यवाणी

इस तारीख तक बदलवानी होगी आपको चेक बुक, वरना नहीं निकाल पाएंगे Cheque से पैसा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज