मनीष सिसोदिया का खुलासा- हमें कल 487 MT ऑक्सीजन मिली, SC के निर्देशानुसार मिलनी चाहिए 700 MT

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं. (twitter)

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं. (twitter)

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि दिल्ली को कल केवल 487 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिली है. जो कि बहुत कम है, जबकि वर्तमान में लगभग 700 मीट्रिक टन की जरूरत है.

  • Share this:

नई दिल्ली. ऑक्सीजन की कमी (Oxygen Shortage in Delhi) से लगातार जूझ रही दिल्ली को शुक्रवार को 487 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की सप्लाई ही मिली. इसका खुलासा उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया. उन्होंने बताया कि दिल्ली को कल केवल 487 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिली है. जो कि बहुत कम है, जबकि वर्तमान में लगभग 700 मीट्रिक टन की जरूरत है.

डिप्टी CM ने कहा कि इतनी कम ऑक्सीजन के साथ सभी अस्पतालों के लिए उचित आपूर्ति का प्रबंधन करना हमारे लिये कठिन होगा. हम माननीय सुप्रीम कोर्ट के दिल्ली को प्रतिदिन 700 मीट्रिक टन ऑक्सीजन  उपलब्ध कराने के निर्देशानुसार, केंद्र सरकार से उतनी ऑक्सीजन की आपूर्ति करने का आग्रह करते हैं.

बता दें कि इस हफ्ते केवल मंगलवार को 730 मिट्रिक टन ऑक्सीजन मिली है. केंद्र से मिली मदद के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक खत के जरिए केंद्र और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार भी जताया था. साथ ही दिल्ली को निरंतर ऑक्सीजन सप्लाई करते रहने की मांग भी रखी थी. सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी मोदी को लिखे खत में कहा, ''मैं कल दिल्ली के लोगों की ओर से 730 मिट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए आभार व्यक्त करता हूं. मेरा आपसे अनुरोध है कि आप दिल्ली को रोजाना उतनी ही मात्रा में ऑक्सीजन की आपूर्ति करें.'’

ऑक्सीजन की कमी से नहीं जाये किसी की जाान
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज की अधिकारियों के साथ एक मीटिंग में कहा कि दिल्ली में अब ऑक्सीजन की स्थिति कंट्रोल में आ रही है, इसलिए अब ऑक्सीजन की कमी की वजह से एक जान भी नहीं जानी चाहिए. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि कहीं भी बेड की कमी नहीं होनी चाहिए. 3 महीने में दिल्ली में वैक्सीनेशन ड्राइव खत्म होना चाहिए. इसके अलावा उन्होंने कहा कि DM हर रोज 2 या 3 वेक्सीनेशन सेंटर का निरक्षण करें, रिलीफ कैम्प और ओल्ड ऐज होम में सरप्राइज विजिट करें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज