लाइव टीवी

नतीजों से पहले बोले मनीष सिसोदिया- बेचैनी तो है लेकिन जीत को लेकर निश्चिंत
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 8:59 AM IST
नतीजों से पहले बोले मनीष सिसोदिया- बेचैनी तो है लेकिन जीत को लेकर निश्चिंत
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने कहा है कि, हम जीत को लेकर निश्चिंत हैं क्योंकि आम आदमी पार्टी की अरविंद केजरीवाल ने 5 साल तक काम किया है.

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) के परिणाम आने से पहले मंगलवार को कहा कि, 'बेचैनी तो होगी ही, लेकिन भरोसा भी है. हम जीत को लेकर निश्चिंत हैं..

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 8:59 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) के उप मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) के परिणाम आने से ठीक पहले कहा है कि, 'रिजल्ट से पहले बेचैनी तो होगी ही, लेकिन जीत का भरोसा भी है. हम जीत को लेकर निश्चिंत हैं, क्योंकि आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल ने 5 साल तक काम किया है. बिना किसी डर के काम किया है, शिक्षा और स्वास्थ्य पर काम किया है. टाइम बढ़ने दीजिए फिर विपक्ष की सीटें भी घटेंगी.'




मनीष सिसोदिया की पत्नी सीमा सिसोदिया ने कहा कि – अच्छा रिजल्ट आएगा, बहुत अच्छी उम्मीद कर रहे हैं. सुबह उठकर रोज हम लोग पूजा कर रहे हैं. 11-12 बजे तक रिजल्ट आ ही जाएगा. सिसोदिया की मां ने कहा कि, 'जीत की पूरी उम्मीद है. पब्लिक हमारे साथ है. काम किया है. आशीर्वाद देना हमारा काम है'. उन्होंने जोर देकर कहा कि, 'निश्चित रूप से अच्छा काम करने के कारण बहुत उम्मीदें हैं. पिछली बार से अधिक बहुमत से आम आदमी पार्टी की सरकार बनने वाली है.'

पहले होती है पोस्टल वोटों की गिनतीनियम 54A के मुताबिक, जब भी पोस्टल बैलेट और EVM दोनों के जरिए वोटिंग होती है, हमेशा पोस्टल बैलेट पहले गिने जाते हैं. किसी भी कीमत पर पोस्टल बैलेट पहले ही राउंड में गिने जाते हैं. EVM के वोटों की गिनती पोस्टल बैलेट की गिनती शुरू होने के 30 मिनट बाद शुरू होती है. भले ही 30 मिनट में पोस्टल बैलेट की गिनती पूरी नहीं हुई हो, लेकिन इससे अधिक रुकने की अनुमति नहीं होती है.

नियुक्त किए गए थे 40,000 सुरक्षाकर्मी
चुनावों के लिए दिल्ली में करीब 40,000 सुरक्षाकर्मियों, होमगार्ड के 19,000 जवानों और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की 190 कंपनियां तैनात की गई थीं. उत्तराखंड, हरियाणा और उत्तर प्रदेश से बुलाए गए होमगार्ड के जवानों ने मतदान केंद्रों पर सुरक्षा में स्थानीय पुलिस की मदद की थी.

जब्त किए 504 गैरकानूनी हथियार
पुलिस ने बताया कि आचार संहिता लागू होने के कारण विशेष अभियान के तहत 99,210 लीटर अवैध शराब, 774.1 किलो मादक पदार्थ जब्त किए गए हैं. इसके अलावा 504 गैरकानूनी हथियार जब्त किए गए हैं और 7,397 लाइसेंसी हथियार एहतियाती तौर पर जमा करवा लिए गए हैं.

15,750 मतदान केंद्र बनाए गए
आपको जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली में 70 विधानसभा सीटों के लिए 8 फरवरी को मतदान हुआ था. दिल्ली में मतदान के लिए 15,750 मतदान केंद्र बनाए गए थे, जहां दिल्ली के एक करोड़ 47 लाख 86 हजार 389 वोटर अपने लिए विधायक और नई सरकार चुनेंगे. दिल्ली विधानसभा चुनाव में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप), बीजेपी और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है, लेकिन माना जा रहा है कि मुख्य मुकाबला आप और बीजेपी के बीच ही है.

ये भी पढे़ं - 

गार्गी कॉलेज: छात्राओं ने सुनाई उस रात की आपबीती- दीवार फांदकर आए आदमी, अश्लील हरकतें कीं और...

शाहीन बाग: SC ने बच्ची की मौत का लिया संज्ञान, दिल्‍ली सरकार से मांगा जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 8:13 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर