वैक्सीन नहीं मिली तो 18 से 44 आयु वर्ग वाले वैक्सीनेशन सेंटर बंद करने पड़ेंगे: सिसोदिया

वैक्सीन नहीं मिली तो बंद करने पड़ जाएंगे 18-44 आयु वर्ग वाले वैक्सीनेशन सेंटर: सिसोदिया

वैक्सीन नहीं मिली तो बंद करने पड़ जाएंगे 18-44 आयु वर्ग वाले वैक्सीनेशन सेंटर: सिसोदिया

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि भारत सरकार की तरफ से हमारे पास चिट्ठी आई है, जिसमें कहा गया है कि मई के महीने में दिल्ली को 45 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए 3.83 लाख डोज वैक्सीन मिलेगी, लेकिन 18 से 44 उम्र वालों के लिए और वैक्सीन हमें नहीं मिलेगी. यदि ऐसा रहा तो तीन दिन बाद हमें वैक्सीनेशन सेंटर बंद करने पड़ेंगे.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने वैक्सीनेश को लेकर केन्द्र सरकार को पत्र लिखा है. पत्रकारों से बात करते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि  दिल्ली सरकार बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन का काम कर रही है. हमारी कोशिश है कि जल्द से जल्द ज्यादा से लोगों को वैक्सीन लगा सकें. इस भाव के साथ वैक्सीन लगा रहे हैं कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को सुरक्षित कर सकें, लेकिन वैक्सीन का अभाव है. भारत सरकार की तरफ से हमारे पास चिट्ठी आई है, जिसमें कहा गया है कि मई के महीने में दिल्ली को 45 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए 3.83 लाख डोज वैक्सीन मिलेगी, लेकिन 18 से 44 उम्र वालों के लिए और वैक्सीन हमें नहीं मिलेगी. यदि ऐसा रहा तो तीन दिन बाद हमें वैक्सीनेशन सेंटर बंद करने पड़ेंगे.

अब दिल्ली के सरकारी स्कूलों में 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए जो वॉक-इन की सुविधा शुरू हुई है, यानी बड़े स्तर पर इस आयु वर्ग का वैक्सीनेशन जारी है, इसमें केंद्र सरकार से भी हमें सहयोग की अपेक्षा है. अभी दिल्ली के पास में 45 प्लस के लिए अगले 4 दिन की वैक्सीन है, लेकिन केंद्र की तरफ से आगामी दिनों में पौने चार लाख वैक्सीन और मिल जाएगी.

सिसोदिया ने कहा, "हमने सवाल उठाया था कि विदेशों में सप्लाई के बाद वैक्सीन की कमी हुई, लेकिन जितनी भी सप्लाई हो रही है उसने हमारी कोशिश है वैक्सीनेशन सुचारू रूप से चलता रहे. इसी 18 से 44 उम्र के लिए हमारे पास आज के बाद केवल 3 दिन की वैक्सीन बचेगी, तो इस आयु वर्ग के लिए भी हमें और वैक्सीन उपलब्ध कराएं."

केंद्र सरकार को चिट्ठी में ये तीन प्रमुख बातें:
1. 18+ के लिए और वैक्सीन उपलब्ध कराएं, जैसे 45 प्लस के लिए करा रहे हैं. सरकार खरीदने को तैयार है. अगर वैक्सीन नहीं मिली तो आज से 3 दिन के बाद हमें 18 से 44 आयु वर्ग वाले वैक्सीनेशन सेंटर बंद करने पड़ेंगे.

2. जितनी भी वैक्सीन देश में बन रही है, जिसका एलोलोकेशन केंद्र सरकार कर रही है, उसका डाटा सार्वजनिक हो, उसमें पारदर्शिता होनी चाहिए कि केंद्र को कितनी वैक्सीन मिली, उसमें से राज्यों को कितनी दी गई और राज्यों को अलग से कितनी मिली. प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों को कितनी सप्लाई मिली यह भी सार्वजनिक हो.

3. तीसरी मांग की है कि जिस तरह से आपने चिट्ठी लिखकर बताया कि मई के महीने में 45 + के लिए इतनी वैक्सीन देंगे, उसी तरह से जून और जुलाई का भी बता दें, ताकि हम अपना पूरा प्रोग्राम और सिस्टम उसी हिसाब से बनाएं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज