राकेश टिकैत के नाम पर बने कई ट्विटर हैंडल, फर्जी ट्वीट में फंस गए केजरीवाल

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) अपने समर्थकों के साथ गाजीपुर बॉर्डर पर देर रात से धरने पर बैठे हैं. पुलिस उनको नोटिस देकर जगह खाली करने के लिए कह  चुकी है.

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) अपने समर्थकों के साथ गाजीपुर बॉर्डर पर देर रात से धरने पर बैठे हैं. पुलिस उनको नोटिस देकर जगह खाली करने के लिए कह चुकी है.

किसान नेता राकेश टिकैत के नाम पर ट्विटर पर फर्जी अकाउंट की भरमार हो गई है. इसके चलते अब टिकैत को अपने आधिकारिक अकाउंट पर सही अकाउंट्स बताने पड़े रहे हैं. इस फर्जी अकाउंट्स ने दिल्ली के मुख्यमंत्री Arvind Kejriwal को भी चकमा दे दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 5:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. किसान आंदोलन ( Kisan Andolan) को लेकर किसान नेताओं ने अपनी आवाज को पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया का बड़ा सहारा लिया हुआ है. ऐसे में अब सोशल मीडिया के चक्कर में बड़े-बड़े नेता भी फंस गए हैं. कल रात्रि किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) के नाम से एक ट्वीट किया गया जिसके सही या गलत की पहचान भी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) नहीं कर सके.

दरअसल, राकेश टिकैत के फर्जी अकाउंट से गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) के आंदोलन स्थल पर बिजली पानी मुहैया कराने की मांग दिल्ली के मुख्यमंत्री से की गई थी.

फर्जी ट्वीट पर बिजली-पानी की व्यवस्था करने के आदेश दे दिए

इस फर्जी ट्वीट में दिल्ली के मुख्यमंत्री ऐसे फंस गए कि उनको पता ही नहीं चला कि आखिर यह ट्वीट राकेश टिकैत के अकाउंट से किया गया या कोई उनके नाम से फर्जी ट्वीट कर रहा है. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने इस ट्वीट पर तुरंत संज्ञान लेते हुए आंदोलन स्थल पर बिजली-पानी की व्यवस्था करने के आदेश दे दिए. जब इस तरह की खबर मीडिया में फैली तो भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने अब ट्वीट के जरिए यह बताया है कि हमारा आधिकारिक ट्विटर हैंडल @RakeshTikaitBKU एवं @OfficialBKU हैं. साथ ही यह बात भी सामने आ रही है कि उन्होंने यह कहा है कि वो सिर्फ यूपी का पानी ही पीएंगे.
Youtube Video


हिंसा के बाद टिकैत के नाम से कई फर्जी ट्विटर अकाउंट

इस बीच देखा जाए तो किसान आंदोलन से पहले और 26 जनवरी के उपद्रव व हिंसा के बाद से राकेश टिकैत के नाम से कई फर्जी ट्विटर अकाउंट बन गए हैं. इन अकाउंट्स की भरमार के चलते स्वयं राकेश टिकैत को शेयर कर अपने ट्विटर हैंडल को बताना पड़ा है.



हम यूपी का पानी ही पीएंगे: राकेश टिकैत

टिकैत ने पानी बिजली पानी को लेकर कहा कि हम यूपी का पानी ही पीएंगे, अगर प्रशासन ने हमारी बिजली पानी बहाल नहीं की, तो हम यहीं सब-मर्सबल खोद कर पानी निकाल लेंगे. हम नहीं चाहते कि हमारे लिए दिल्ली से पानी के टैंकर आएं. वो टैंकर बॉर्डर के उस तरफ ही खड़े रहेंगे. हम अपनी जमीन का ही पानी पीएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज