महापौरों की चेतानवी-दिल्ली सरकार ने 10 दिन के अंदर नहीं दिया निगमों का बकाया पैसा तो 11वें दिन से सीएम आवास के सामने देंगे धरना

अरविंद केजरीवाल 29 अक्टूबर को 'ग्रीन दिल्ली एप' का करेंगे शुभारंभ.
अरविंद केजरीवाल 29 अक्टूबर को 'ग्रीन दिल्ली एप' का करेंगे शुभारंभ.

दिल्ली (Delhi) नगर निगम के तीनों महापौरों (Mayors) ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) को चेतावनी है कि अगर 10 दिनों में निगम का पैसा नहीं दिया गया तो वो सीएम आवास (CM House) के सामने धरना देंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 28, 2020, 4:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नगर निगम (Municipal Corporation) के बकाया फंड के लिए तीनों नगर निगम के महापौर (Mayor) ने सोमवार को सुबह से लेकर शाम तक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) से मिलने के लिए मुख्यमंत्री निवास के धरना दिया, लेकिन मुख्यमंत्री ने उनसे मुलाकात नहीं की. शाम को स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन अपनी आवास की ओर लौटते समय मुख्यमंत्री आवास के बाहर तीनों महापौरों से मुलाकात की.

इसके बारे में जानकारी देते हुए उत्तरी नगर निगम महापौर जय प्रकाश, पूर्वी दिल्ली नगर निगम के महापौर निर्मल जैन और दक्षिणी नगर निगम की महापौर अनामिका मिथलेश सिंह ने प्रेसवार्ता को संबोधित किया. उत्तरी दिल्ली नगर निगम महापौर जय प्रकाश ने कहा कि नगर निगम महापौर को दिल्ली का प्रथम नागरिक कहा जाता है, वह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलने के लिए सुबह से शाम तक मुख्यमंत्री आवास के बाहर जमीन पर बैठे रहे, लेकिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनसे मुलाकात नही की.यह बहुत ही शर्म की बात है कि 2 करोड़ से ज्यादा लोगों की नुमाइंदगी करने वाले तीनों नगर निगम के महापौर से मुख्यमंत्री ने मिलना जरूरी नहीं समझा.

दिल्ली बीजेपी ने CM केजरीवाल पर साधा निशाना, कहां डकार गए बजट का 60 हजार करोड़ रुपया



उन्होंने बताया कि ढाई महीने पहले भी वह केजरीवाल से मिलने गए थे और उन्हें नगर निगम की आर्थिक स्थिति से अवगत कराया था. साथ ही एक रिपोर्ट बना कर दी थी, जिसमें नगर निगम कर्मचारियों द्वारा कोरोना काल में किए जा रहे उत्कृष्ट कार्यों का विवरण था. उस समय केजरीवाल ने आश्वस्त किया था कि अगले 15 दिनों के अंदर ही वह निगम का पैसा जारी करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं किया गया. उसके बाद से महापौरों का फोन उठाना भी केजरीवाल ने बंद कर दिया.


दस दिनों में पैसा मिलेने का आश्वासन मिला है
उन्होंने कहा कि फिलहाल दिल्ली सरकार की ओर से हमें आश्वासन दिया गया है कि अगले 10 दिनों के अंदर निगम का बकाया पैसा जारी कर दिया जाएगा. अगर दिल्ली सरकार अगले 10 दिनों के अंदर निगमों का बकाया पैसा जारी नहीं करती है और निगम कर्मचारियों को वेतन नहीं देती है, तो 11वें दिन से फिर तीनों निगमों के महापौर सीएम आवास के वाहर धरने पर बैठ जाएंगे. निगम  के तीनों महापौर ने आरोप लगाया कि सीएम केजरीवाल और उनकी सरकार ने जिस तरह का दुर्व्यवहार दिल्ली के प्रथम नागरिक महापौर के साथ कल किया है वो बेहद अपमानित करने वाला और निंदनीय है. इसके लिए मुख्यमंत्री केजरीवाल को माफी मांगनी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज