होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /MCD चुनाव: शुरू हुआ आक्रामक प्रचार अभियान, गूंजे ‘कट्टर बेईमान’ और ‘धोखा रत्न’ जैसे नारे

MCD चुनाव: शुरू हुआ आक्रामक प्रचार अभियान, गूंजे ‘कट्टर बेईमान’ और ‘धोखा रत्न’ जैसे नारे

दिल्ली एमसीडी चुनाव में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो चुका है. (फोटो-न्यूज़18)

दिल्ली एमसीडी चुनाव में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो चुका है. (फोटो-न्यूज़18)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं ने आम आदमी पार्टी (आप) के नेताओं पर निशाना साधने के लिए ‘धोखा रत्न’ और ‘कट्टर बेईम ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के चुनावों से पहले राष्ट्रीय राजधानी न सिर्फ आक्रामक प्रचार अभियान और राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोपों की गवाह बनी, बल्कि नेताओं के मुंह से अलग-अलग तरह के शब्दबाण भी चले हैं. 4 दिसंबर को होने वाले एमसीडी चुनाव से पहले नेताओं के बीच तीखी जुबानी जंग देखने को मिली. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं ने आम आदमी पार्टी (आप) के नेताओं पर निशाना साधने के लिए ‘धोखा रत्न’ और ‘कट्टर बेईमान’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया. वहीं, ‘आप’ ने प्रतिद्वंद्वी पार्टी पर हमला करने के लिए ‘वीडियो मेकिंग कंपनी’ (वीडियो बनाने वाली कंपनी) और ‘विफलताओं का पहाड़’ जैसे जुमलों का सहारा लिया है.

भाजपा वर्ष 2007 से एमसीडी में सत्ता में है. अपने 15 साल के शासन के दौरान पार्टी ने नगर निकाय को एनडीएमसी (उत्तर दिल्ली नगर निगम), एसडीएमसी (दक्षिण दिल्ली नगर निगम) और ईडीएमसी (पूर्वी दिल्ली नगर निगम) में विभाजित होते और फिर 2022 की शुरुआत में इसे दोबारा एक ही निकाय के अंतर्गत आते देखा है. पिछले कुछ हफ्तों में कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों और केंद्रीय मंत्रियों ने भाजपा प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार किया है. चुनावी सरगर्मी को हवा देते हुए उन्होंने ‘आप’ नेताओं, खासकर पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पर लक्षित सियासी हमले किए हैं.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर दिल्ली के अपने समकक्ष को घेरते हुए कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी में ‘गड़बड़ी’ पैदा करने और उसे बदनाम करने के लिए केजरीवाल को ‘धोखा रत्न’ सम्मान दिया जाना चाहिए. भाजपा प्रत्याशियों के लिए प्रचार करते हुए उन्होंने कहा था, ‘हमने चीन की महान दीवार के बारे में सुना है. केजरीवाल अब ‘भ्रष्टाचार की दीवार’ बन चुके हैं.’ शिवराज ने मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन जैसे मंत्रियों का बचाव करने के लिए भी केजरीवाल पर निशाना साधा था.

ये भी पढ़ें- Arvind Kejriwal Exclusive Interview: अरविंद केजरीवाल बोले- गुजरात में AAP बनाएगी सरकार, MCD में 230 से ज्यादा सीटें जीतेगी

उन्होंने कहा था, ‘मजे की बात यह है कि केजरीवाल ने सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया को भारत रत्न देने की मांग की है. दिल्ली की मौजूदा हालत के लिए केजरीवाल को ‘धोखा रत्न पुरस्कार’ और सिसोदिया को ‘शराब रत्न पुरस्कार’ दिया जाना चाहिए.’ तिहाड़ जेल में मालिश का आनंद लेने से संबंधित सत्येंद्र जैन के कथित वीडियो का जिक्र करते हुए शिवराज ने कहा, ‘उन्हें (जैन को) ‘घोटाला रत्न’ और ‘मसाज रत्न’ दिया जाना चाहिए.’

हालांकि, ‘आप’ प्रमुख ने भाजपा पर इस वीडियो को लीक करने का आरोप लगाते हुए उसे ‘वीडियो मेकिंग पार्टी’ करार दिया है. केजरीवाल ने यह भी कहा है कि दिल्ली के लोगों ने एक राजनीतिक दल के रूप में भाजपा के कामकाज को बंद कर दिया है. मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में केजरीवाल ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा था कि निकाय चुनाव से पहले पार्टी ने ‘आप’ नेताओं को लेकर स्टिंग ऑपरेशन के जो सिलसिलेवार वीडियो जारी किए हैं, वे ‘बेहद भयानक और ऊबाऊ’ हैं, जिन्हें कोई भी नहीं देखना चाहता है.

केजरीवाल का यह बयान तिहाड़ जेल में विशेष सुविधाएं हासिल करने से जुड़े ‘आप’ के मंत्री सत्येंद्र जैन के कथित वीडियो सामने आने के बाद उनके सियासी विवाद में घिरने के मद्देनजर आया है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा धन शोधन के मामले में गिरफ्तार सत्येंद्र जैन 31 मई से सलाखों के पीछे हैं. भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने 22 नवंबर को केजरीवाल से पूरे देश से माफी मांगने और सत्येंद्र जैन को अपने मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की थी.

भाटिया ने ‘आप’ को ‘अराजक अपराधी पार्टी’ बताते हुए उस पर जेल में जैन की अय्याशी का ‘बचाव’ करने का आरोप लगाया था. आबकारी नीति में कथित अनियमितताओं के आरोपों पर भाटिया ने अगस्त में कहा था कि भ्रष्टाचार के आरोपों पर केजरीवाल की चुप्पी ने साबित कर दिया है कि वह ‘कट्टर बेईमान’ थे, न कि ‘कट्टर ईमानदार’, जैसा कि वह खुद को बताते आए हैं. पिछले कुछ महीनों से दोनों पार्टियों के बीच सियासी तनातनी तेज हो गई है.

25 नवंबर को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि दिल्ली में ‘आप’ सरकार अराजकता का पर्याय बन गई है और शराब, घोटाला व भ्रष्टाचार उसके तीन दोस्त हैं. भाजपा के लिए प्रचार करते हुए ठाकुर ने कहा था कि ‘आप’ प्रमुख ने अपने सात साल के कार्यकाल में ‘झूठ की राजनीति’ पर एक अविस्मरणीय अध्याय लिखा है. 

वहीं, ‘आप’ ने प्रतिद्वंद्वी भाजपा को दिल्ली में बढ़ते ‘कूड़े के पहाड़ों’ के मुद्दे पर घेरने की कोशिश की है. 27 नवंबर को बादली विधानसभा क्षेत्र में लोगों से संवाद के दौरान दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दावा किया था कि भलस्वा लैंडफिल साइट नगर निकाय में 15 साल के शासन के दौरान भाजपा की ‘विफलता के पहाड़’ को दर्शाती है. ‘आप’ के चुनाव प्रचार गीत का शीर्षक ‘एमसीडी में भी केजरीवाल’ है. पार्टी ने ‘केजरीवाल की सरकार, केजरीवाल का पार्षद’ अभियान भी शुरू किया है. ‘आप’ का कहना है कि यह अभियान ‘मतदाताओं को केवल ‘आप’ पार्षदों को चुनने और एक भी भाजपा पार्षद का चयन न करने के प्रति सचेत करने के लिए है.’

Tags: Delhi MCD Election, Delhi news today

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें