होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /दिल्ली मेयर चुनाव: APP ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा, कल होगी सुनवाई, जानें क्या है मांग

दिल्ली मेयर चुनाव: APP ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा, कल होगी सुनवाई, जानें क्या है मांग

'आप' ने मनोनीत पार्षदों के वोट डालने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. (पीटीआई फाइल फोटो)

'आप' ने मनोनीत पार्षदों के वोट डालने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. (पीटीआई फाइल फोटो)

MCD Mayor Polls: दिल्ली नगर निगम अधिनियम 1957 के तहत महापौर और उप महापौर का चुनाव नगर निकाय सदन की पहली बैठक में ही हो ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. दिल्ली मेयर चुनाव मामले को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और जल्द सुनवाई की मांग की. हालांकि, शीर्ष न्यायालय ने इससे इनकार कर दिया और कहा कि वह बुधवार को सुनवाई करेगी. ‘आप’ ने मनोनीत पार्षदों के वोट डालने के फैसले को चुनौती दी है.

दरअसल, दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) सदन अपने महापौर को चुनने में एक महीने में तीसरी बार सोमवार को नाकाम रहा, जिसके बाद ‘आप’ ने कहा कि उन्होंने दिल्ली के मेयर पद का चुनाव समयबद्ध तरीके से एवं अदालत की निगरानी में कराने के लिए उच्चतम न्यायालय का रुख करने का फैसला किया है.

दिल्ली नगर निगम अधिनियम 1957 के तहत महापौर और उप महापौर का चुनाव नगर निकाय सदन की पहली बैठक में ही हो जाना चाहिए. हालांकि नगर निकाय चुनाव हुए दो महीने का समय बीत चुका है पर अब तक शहर को नया महापौर नहीं मिला है.

इससे पहले एमसीडी सदन की बैठक छह जनवरी और 24 जनवरी को दो बार बुलाई गई थी, लेकिन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आम आदमी पार्टी (आप) के पार्षदों के हंगामे की वजह से पीठासीन अधिकारी ने महापौर का चुनाव कराए बिना कार्यवाही स्थगित कर दी.

एमसीडी चुनाव में ‘आप’ 134 पार्षदों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी, जबकि भाजपा को 104 सीटों पर जीत मिली थी। कांग्रेस ने नौ सीटें जीती थीं.

Tags: AAP, BJP, Delhi MCD, Supreme Court

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें