कोरोना मेडिसिन Remdesivir की ब्लैक मार्केटिंग में मेडिकल स्टोर का मालिक और कर्मचारी गिरफ्तार

रेमडेसिविर की मांग बढ़ गई है.

रेमडेसिविर की मांग बढ़ गई है.

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की क्राइम ब्रांच ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली के दुर्गापुरी चौक, लोनी रोड स्थित 'गोयल मेडिकोज' के मालिक को दवाई की ब्लैक मार्केटिंग के आरोप में गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही मेडिकल स्टोर पर कार्यरत एक कर्मचारी राम अवतार शर्मा को भी गिरफ्तार किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2021, 11:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में तेजी से बढ़ते कोरोना (Corona) संक्रमण के बीच अब कोरोना मेडिसिन की भी ब्लैक मार्केटिंग जबरदस्त तरीके से होने लगी है. कोरोना मेडिसिन रेमडेसिविर (Remdesivir) और दूसरी कई दवाइयों की बड़ी किल्लत शुरू हो गई है.

ऐसे में दिल्ली सरकार ने जहां मेट्रोलॉजी डिपार्टमेंट को छापेमारी करने के आदेश दिए हैं. वहीं, दिल्ली पुलिस ने भी रेमडेसिविर (Remdesivir) दवाई की ब्लैक मार्केटिंग के आरोप में 2 लोगों को गिरफ्तार किया है.

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की क्राइम ब्रांच ने उत्तर पूर्वी दिल्ली के दुर्गापुरी चौक, लोनी रोड स्थित 'गोयल मेडिकोज' के मालिक को दवाई की ब्लैक मार्केटिंग के आरोप में गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही मेडिकल स्टोर पर कार्यरत एक कर्मचारी राम अवतार शर्मा को भी गिरफ्तार किया गया है.

आरोप है कि यह कोरोना मेडिसिन रेमडेसिविर (Remdesivir) की ब्लैक मार्केटिंग कर रहे थे. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने इनके खिलाफ आज सोमवार 19 अप्रैल को एफआईआर नं. 64/21 दर्ज की है. इनके खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 188 और 120 बी के तहत मामला दर्ज किया गया है.
दिल्ली पुलिस के मुताबिक गोयल मेडिकोज के मालिक बसंत गोयल (41 वर्ष) विवेक विहार, दिल्ली में रहते हैं. इनके साथ जिस कर्मचारी राम अवतार शर्मा (27 वर्ष) को गिरफ्तार किया गया है, वहगली नंबर 3, नार्थ छज्जूपुर, दिल्ली में रहता है. वह मूलरूप से गांव खकावाली, तहसील नागर, जिला अलवर राजस्थान का रहने वाला है.

देश में रेमडेसिविर इंजेक्‍शन की भारी किल्‍लत

क्राइम ब्रांच के मुताबिक रामअवतार को वीडियो फुटेज में देखा गया है जो कि 7 साल से गोयल मेडिकोज, दुर्गापुरी एक्सटेंशन लोनी रोड पर कार्य करता है. क्राइम ब्रांच ने इस मामले में दोनों को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही अब ब्लैक मार्केटिंग से जुड़े मामलों की तफ्तीश कर रही है.



यह मेडिसन कोरोना से पीड़ित लोगों की जान बचाने के लिए प्रयोग की जाती है. कल ही केद्र सरकार ने इस मेडिसन की कीमतों में कटौती कर लोगों को फायदा पहुंचाने का आदेश भी जारी किया था. बताते चलें कि दिल्ली ही नहीं देश रेमडेसिविर (Remdesivir) इंजेक्शन की भारी किल्लत अचानक हो गई हैै. इसके पीछे बड़ी वजह ब्लेक मार्केटिंग भी मानी जा रही है.

उधर, दिल्ली के खाद्य आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन ने भी आज विभाग के अधिकारियों के साथ मीटिंग की थी. मीटिंग में रेमडेसिविर (Remdesivir), टोसिलिजुमब (Tocilizumab) इंजेक्शन और ऑक्सीजन आदि पर ओवरचार्जिंग पर लगाम लगाने के आदेश भी लीगल मेट्रोलॉजी विभाग के अधिकारियों को दिए गए हैं.

अधिकारियों को यह भी आदेश दिए गए हैं कि वह दिल्ली के सभी जिलों में एनफोर्समेंट टीम गठित करें और दवाइयों और‍‍‍‍ पैक्ड सामान पर ओवरचार्जिंग के खिलाफ कार्यवाही के लिये छापेमारी करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज