लाइव टीवी

गार्गी कॉलेज: छात्राओं ने सुनाई उस रात की आपबीती- दीवार फांदकर आए आदमी, अश्लील हरकतें कीं और...
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 10, 2020, 11:01 PM IST
गार्गी कॉलेज: छात्राओं ने सुनाई उस रात की आपबीती- दीवार फांदकर आए आदमी, अश्लील हरकतें कीं और...
दिल्ली के गार्गी कॉलेज में सांस्कृतिक उत्सव में प्रवेश कर कथित तौर पर छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करने के खिलाफ आयोजित प्रदर्शन को संबोधित करतीं दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल (हरे रंग के स्वेटर में).

दिल्ली (Delhi) के गार्गी कॉलेज (Gargi College) में भीड़ के घुसने के समय को याद करते हुए एक छात्रा ने कहा, 'ऊंची दीवारों पर लगी बाड़ से अधेड़ उम्र के पुरुष कूद रहे थे. छात्राओं को ऐसी किसी भी घटना से बचाने के लिए दीवारों पर बाड़ लगा दी गई थी, लेकिन उसका कोई फायदा नहीं हुआ.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 10, 2020, 11:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में गार्गी कॉलेज (Gargi College) की छात्राओं के लिए कॉलेज का एक फेस्टिवल तब बुरा सपना बन गया, जब सैकड़ों पुरुषों की भीड़ ने कैंपस में ऊंची दीवार पर लगाई गई बाड़ को फांदकर परिसर में प्रवेश किया और कथित तौर पर छात्राओं का सामूहिक रूप से यौन उत्पीड़न किया. पीड़िता छात्राओं ने शिकायतों की झड़ी लगा दी, लेकिन कॉलेज प्रशासन की ओर से कार्रवाई करने से इनकार करने पर छात्राओं ने हंगामा खड़ा कर दिया. वनस्पति विज्ञान की एक छात्रा ने बताया, ‘राजनीति विज्ञान विभाग की छात्राओं ने बताया कि ज्यादातर मध्यम आयु वर्ग के पुरुषों ने  फेस्‍ट के दौरान अश्लील हरकतें कीं. फेस्ट में मौजूद कॉलेज की सभी छात्राएं डरी हुई थी’.

छात्राओं ने सोमवार को निकाला विरोध मार्च
छात्राओं ने छेड़छाड़ के भयानक अनुभवों को सोशल मीडिया पर साझा किया और ‘रेवेरी’ फेस्टिवल की रात को छात्रों की सुरक्षा के प्रति प्रशासन के उदासीन रवैये की आलोचना की. छात्राओं ने सोमवार को विरोध मार्च भी निकाला.

दीवार फांदकर परिसर में घुस आई भीड़

कॉलेज के संस्कृत विभाग की एक छात्रा ने कहा, ‘हम अपनी स्टार नाइट की तैयारी कर रहे थे, जिसमें जुबिन नौटियाल को आना था. फेस्ट का समय हमारे लिए बहुत उत्साह और उमंग का था, लेकिन अचानक हमने एक भीड़ को कैंपस में घुसते हुए देखा. वे विशाल मैदान के अंदर चले आए और हमें अपनी सुरक्षा का ख्याल कर भागना पड़ा.’ छात्राओं ने कहा कि आमतौर पर गैर-दिल्ली विश्वविद्यालय के स्टूडेंट्स को गार्गी कॉलेज परिसर में प्रवेश के लिए पास दिए जाते हैं. इस बार अधेड़ उम्र के पुरुषों की भीड़ दीवार फांदकर परिसर में घुस आई.

मेट्रो स्टेशन तक छात्राओं से की छेड़खानी
छात्रा ने आगे कहा, ‘कुछ ही मिनटों में हवा शराब और धुएं की ‘बदबू’ से भर गई. परिसर में घुसने के तुरंत बाद बाहरी लोगों ने हमारे साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी. कई छात्राएं जान बचाने के लिए भागीं. मैं उनमें से एक थी. हालांकि, इन लोगों ने कुछ छात्राओं का मेट्रो स्टेशन तक भी पीछा किया और उनके साथ छेड़खानी की.’छात्राओं को परेशान करने आए थे पुरुष
संस्कृत विभाग की एक अन्‍य छात्रा ने बताया, ‘यह ऐसा कष्टदायक अनुभव था, जिसके कारण लड़कियां इस बात पर अड़ी हुई हैं कि प्रशासन आरोपियों पर कार्रवाई करे. दोनों छात्राओं ने आरोप लगाया कि ‘पुरूषों के गिरोह’ ने महिलाओं को परेशान करने के लिए ही परिसर में प्रवेश किया था. जब भीड़ ने परिसर में प्रवेश किया तो उस क्षण को याद करते हुए छात्राओं में से एक ने कहा, 'ऊंची दीवारों पर लगी बाड़ से अधेड़ उम्र के पुरुष कूद रहे थे. महिलाओं को ऐसी किसी भी घटना से बचाने के लिए दीवारों पर बाड़ लगा दी गई थी, लेकिन उसका कोई फायदा नहीं हुआ.'

ये भी पढ़ें - 

शाहीन बाग : मासूम की मौत का संज्ञान ले SC ने केंद्र-दिल्ली सरकार से मांगा जवाब

जामिया: प्रदर्शनकारियों की पुलिस से भिड़ंत, लगे ‘कागज नहीं दिखाएंगे’ के नारे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 11:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर