Home /News /delhi-ncr /

बाहरी राज्‍यों से आने वाले लोग खाली फ्लैटों रह सकेंगे, जानें योजना?

बाहरी राज्‍यों से आने वाले लोग खाली फ्लैटों रह सकेंगे, जानें योजना?

गाजियाबाद में काफी संख्‍या में खाली पड़े हैं फ्लैट.

गाजियाबाद में काफी संख्‍या में खाली पड़े हैं फ्लैट.

rental scheme news- गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के अधिकारियों के अनुसार रेंटल स्‍कीम के तहत एनसीआर क्षेत्र के शहरी क्षेत्र में खाली संपत्तियों के लिए एक पोर्टल बनाया जाएगा. इसमें तैयार हो जाने के बावजूद की खाली पड़े फ्लैट और कार्यालयों का सर्वे कराकर पोर्टल पर उनका पंजीकरण कराया जाएगा. इसके लिए विकास प्राधिकरण, नगर निकाय, रेरा के साथ पंजीकृत डेवलपर अन्य निर्माण एजेंसयों की मदद ली जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. बाहरी राज्‍यों से आने वाले लोग एनसीआर के खाली फ्लैटों में रहेंगे. इस कदम से शिक्षा और रोजगार के लिए आने वाले लोगों को सुविधा होगी. इसके लिए रीजनल प्‍लान 2041 में रेंटल स्‍कीम तैयार की गई है, जिसमें किराए पर आवास देने का प्रस्‍ताव है. इसका सबसे बड़ा फायदा गाजियाबाद में रहने वाले लोगों को होगा. यहां पर जीडीए और आवास विकास के काफी फ्लैट खाली हैं.

    गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के अधिकारियों के अनुसार रेंटल स्‍कीम के तहत एनसीआर क्षेत्र के शहरी इलाकों में खाली संपत्तियों के लिए एक पोर्टल बनाया जाएगा. बनकर तैयार हो जाने के बावजूद की खाली पड़े फ्लैट, कार्यालयों का सर्वे कराकर पोर्टल पर उनका पंजीकरण कराया जाएगा. इसके लिए विकास प्राधिकरण, नगर निकाय, रेरा के साथ पंजीकृत डेवलपर अन्य निर्माण एजेंसयों की मदद ली जाएगी.

    इस पोर्टल पर खाली संपत्तियों को पोर्टल में दर्ज किया जाएगा. लोग पोर्टल पर जाकर अपनी पसंद की संपत्ति किराये पर ले सकेंगे. गाजियाबाद और नोएडा में ही करीब 2 लाख फ्लैट बनकर तैयार हैं या उनका निर्माण अंतिम चरण में हैं. इनमें से अधिकतर फ्लैट अभी बिके नहीं हैं. ऐसे में इन फ्लैटों को भी किराये के लिए इस्तेमाल किया जा सकेगा. इनके अलावा एनसीआर के गुरुग्राम, मानेसर, भिवाड़ी, रेवाड़ी में भी ऐसे मकानों की जरूरत होगी. मकानों की जरूरत को पूरा करने के लिए एनसीआर में एफआरए बढ़ाने का प्रस्‍ताव है.

    गाजियाबाद में 5 लाख प्रवासी

    गाजियाबाद में करीब साढ़े तीन लाख प्रवासी श्रमिक काम करते हैं. इनके अलावा निर्माण और ट्रांसपोर्ट क्षेत्र में करने वाले डेढ़ लाख श्रमिक हैं. इस क्षेत्र में करीब पांच लाख प्रवासी श्रमिक काम करते हैं. इनमें से अधिकतर किराए के मकानों में रहते हैं. भविष्य में एनसीआर क्षेत्र का विस्तार होने से इनकी संख्या और बढ़ेगी, इनके लिए मकानों की आवश्यकता भी होगी.

    Tags: Ghaziabad News, Migrants

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर