FSSAI का चौंकाने वाला खुलासा, देश में 41% दूध की क्वालिटी नहीं है ठीक
Delhi-Ncr News in Hindi

FSSAI का चौंकाने वाला खुलासा, देश में 41% दूध की क्वालिटी नहीं है ठीक
FSSAI ने देशभर में सर्वे कराकर दूध के सैम्पल लिए थे. इसी सर्वे के बाद ये रिपोर्ट आई है कि 41 प्रतिशत दूध की क्वालिटी ठीक नहीं है.

सर्वे रिपोर्ट (Survey Report) में FSSAI का कहना है या तो गाय (Cow) को ठीक से खाना नहीं मिल पा रहा है या फिर दूध में पानी (Water) मिलाकर बेचा जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2019, 4:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दूध की शुद्धता को लेकर फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) ने एक सर्वे रिपोर्ट (Survey Report) जारी की है. इस रिपोर्ट के अनुसार 41% प्रोसेस्ड और कच्चा दूध, क्वालिटी (Milk Quality) के मापदंड पर खरा नहीं उतरा है. 41% दूध में फैट और SNF यानी सोलिडस नॉट फैट की मात्रा कम पाई गई है. बावजूद इसके यह दूध सुरक्षित नहीं है.रिपोर्ट में इसकी दो वजह बताई गई हैं.

देशभर में ऐसे चली दूध की जांच
सर्वे के तहत दूध के 6432 सैंपल लिए गए थे. ये सर्वे देशभर में मई, 2018 से अक्टूबर, 2018 तक चला था. इस दौरान 50 हजार से अधिक जनसंख्या वाले 1103 शहरों से दूध के सैंपल लिए गए थे. जिसके बाद सेफ्टी और स्टैंडर्ड को मानक बनाकर दूध की जांच की गई थी.

FSSAI ने दिल्ली के बारे में किया ये खुलासा किया
खोया, पनीर और घी में मिलावट को लेकर लगातार शिकायतें मिल रही हैं. FSSAI ने बताया कि वो दिल्ली सरकार के साथ मिलकर इस पर काम कर रहे हैं. दिल्ली में इन उत्पादों की निगरानी की जा रही है, इसका नतीजा नवंबर के पहले सप्ताह में आ जाएगा. जिसके बाद दिल्ली वाला ये तरीका देशभर में अपनाया जाएगा.



दूध की जांच में FSSAI को देशभर में क्या मिला


जांच के लिए, लिए गए 6432 सैंपल में से 368 सैंपल में अफलटॉक्सिन एम-1 पाया गया है. अफलटॉक्सिन एम-1 दूध में फोडर और फीड के जरिये जाता है. अफलटॉक्सिन एम-1 प्रोसेस्ड दूध में सबसे अधिक पाया जाता है. जांच में यह तमिलनाडु में सबसे ज्यादा, 551 में से 88 सैंपल में पाया गया. वहीं दिल्ली में 262 सैंपल में से 38 सैंपल और केरल में 187 में से 37 सैंपल में पाया गया. यही नहीं मध्य प्रदेश के 335 सैंपल में से 23 सैंपल में सबसे ज्यादा अफलटॉक्सिन एम-1 पाया गया. साथ ही महाराष्ट्र में 678 में से नौ, यूपी में 729 सैंपल में से आठ में सबसे ज्यादा अफलटॉक्सिन एम-1 मिला.

जांच के दौरान दूध में ये भी मिला
12 मिलावटी सैंपल में से छह में हाइड्रोजन पेरोक्साइड, तीन में डिटर्जेंट, दो में यूरिया और एक सैंपल में न्यूट्रालिजर पाया गया. 6432 सैंपल में से 156 में maltodextrin और 78 में शुगर पाया गया. सबसे अधिक मामले प्रोसेस्ड मिल्क में पाये गए जो नहीं होना चाहिए.

(रिपोर्ट- अनिल कुमार)

ये भी पढ़ें-

ट्रैफिक पुलिस: अब तेज आवाज़ करने वाले हॉर्न और साइलेंसर की बारी!

BHU में बोले Amit Shah ‘कब तक हम वामपंथियों-इतिहासकारों को गाली और दोष देंगे’  
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज