लाइव टीवी

दिल्ली हिंसा पर गृह राज्यमंत्री का बड़ा बयान- दुनिया में भारत की छवि खराब करने की रची गई साजिश
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 11:25 PM IST
दिल्ली हिंसा पर गृह राज्यमंत्री का बड़ा बयान- दुनिया में भारत की छवि खराब करने की रची गई साजिश
दिल्ली के मौजपुर में CAA और NRC के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन पर गृह मंत्रालय ने कड़ा बयान दिया है.

गृह मंत्रालय (MHA) लगातार दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के संपर्क में है और हालात की पल-पल की जानकारी ले रहा है. पुलिस कमिश्नर (CP) अमूल्य पटनायक कंट्रोल रूम में खुद मौजूद हैं और ग्राउंड पर मौजूद अफसरों से लगातार ब्रीफिंग ले रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 11:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के मौजपुर (Maujpur) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन पर गृह मंत्रालय ने बयान दिया है. देश के गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी (MoS Home G.Kishan Reddy) ने कहा है कि यह दुनिया में भारत की छवि को नीचा दिखाने के लिए किया जा रहा है. दिल्ली पुलिस का एक हेड कंस्टेबल शहीद हो गया है. कांग्रेस पार्टी और कुछ राजनीतिक दलों से पूछना चाहता हूं कि इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? यह भारत की छवि को खराब करने की साजिश है. मैं इसकी निंदा करता हूं. शांतिपूर्ण विरोध के लिए जाना आपका अधिकार है, लेकिन यह तरीका नहीं है. यह किस तरह का विरोध है? मैं चेतावनी देना चाहता हूं. हिंसा और आगजनी बर्दाश्त नहीं की जाएगी और कड़ी कार्रवाई की जाएगी. दिल्ली पुलिस को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया है.'

गृह मंत्रालय रख रही है नजर
इस घटना के बाद गृह मंत्रालय लगातार दिल्ली पुलिस के संपर्क में है और हालात की पल-पल की जानकारी ले रहा है. पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक कंट्रोल रूम में खुद मौजूद हैं और ग्राउंड पर मौजूद अफसरों से लगातार ब्रीफिंग ले रहे हैं.

Union Minister of State for Home G Kishan Reddy: Rahul Gandhi, the Congress party and those people who are supporting protests against CAA should tell who is responsible for damaging the image of India. pic.twitter.com/FUdMxbJ242






बता दें अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दो दिनों की भारत यात्रा पर हैं. इसी यात्रा के बीच में दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट में भी सीएए और एनआऱसी को लेकर विरोध शुरू हो गए हैं. इससे पहले उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर इलाकों में प्रदर्शनकारियों ने कम से कम दो घरों में आग लगा दी, जिससे तनाव और बढ़ गया है. इन इलाकों में सोमवार को लगातार दूसरे दिन सीएए समर्थक और विरोधी समूहों के बीच झड़पें हुईं. प्रदर्शनकारियों ने एक-दूसरे पर पथराव किया. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े. पुलिस ने समूहों को शांत कराने के भी प्रयास किए. अधिकारियों के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने इलाके में लगी आग बुझाते समय दमकल की एक गाड़ी को भी नुकसान पहुंचाया.

दिल्ली सरकार भी हिंसा पर चिंतित
इधर दिल्ली के कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने भी दिल्ली हिंसा को लेकर बड़ा बयान दिया है. गोपाल राय ने कहा, 'आप सभी से मेरा अनुरोध है कि क्षेत्र के अंदर शांति बनाए रखें कुछ लोग जानबूझकर क्षेत्र के अंदर भय और तनाव का माहौल तैयार करना चाहते हैं. मैंने अभी-अभी उपराज्यपाल से इस मामले में बातचीत की है, उन्होंने आश्वस्त किया है कि वहां पर अतिरिक्त पुलिस बल भेज कर शांति व्यवस्था क़ायम करने की कोशिश की जा रही है. आप सब से अनुरोध है कि धैर्य बना के रखे हैं अपना संयम न खोएं.'

जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशन बंद
दिल्ली मेट्रो ने इलाके में तनाव के बीच जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर स्टेशनों पर प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए. डीएमआरसी ने ट्वीट किया, ‘जाफराबाद तथा मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश एवं निकास द्वार बंद कर दिए गए हैं. इन स्टेशनों पर ट्रेनें नहीं रुकेंगी.’

गौरतलब है कि जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार पिछले 24 घंटों से बंद हैं. सीएए के खिलाफ बड़ी संख्या में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने रविवार को सड़क अवरुद्ध कर दी थी जिसके बाद जाफराबाद में सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच झड़प शुरू हो गई थी. दिल्ली के कई अन्य इलाकों में भी ऐसे ही धरने शुरू हो गए हैं.

ये भी पढ़ें: 

क्या पुरानी सोने की ज्वेलरी की हो सकती है हॉलमार्किंग, जानिए ऐसे ही सवालों के जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 7:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर