AAP विधायक राघव चड्ढा का प्रहार, कहा- बीजेपी दफ्तर बनने से हुआ मिंटो ब्रिज जलभराव
Delhi-Ncr News in Hindi

AAP विधायक राघव चड्ढा का प्रहार, कहा- बीजेपी दफ्तर बनने से हुआ मिंटो ब्रिज जलभराव
रविवार को दिल्ली में हुई मूसलाधर बारिश के चलते मिंटो रोड इलाके में बने अंडरपास में पानी भर गया. वहीं अंडरपास से गुजर रही डीटीसी की एक बस पानी में डूब गई थी

रविवार को हुई तेज बारिश से दिल्ली (Delhi) में कई जगह जलभराव की स्थिति बनने पर AAP के नेता राघव चड्ढा ने कहा कि बीजेपी का आईटीओ (ITO) पर मिंटो ब्रिज (Minto Bridge) के पास एक दफ्तर बना है. उस कंस्ट्रक्शन के चलते दिल्ली जल बोर्ड (Delhi Jal Board) की पानी की और सीवरेज की लाइनें ब्लॉक हो गई

  • Share this:
नई दिल्ली. रविवार को दिल्ली में हुई झमाझम बारिश (Heavy Rain In Delhi) की वजह से मिंटो ब्रिज (Minto Bridge) समेत आस-पास के इलाके में जलभराव (Waterlogging) पर राजनीति शुरू हो गई है. राजधानी की ऐसी बदहाल सूरत-ए-हाल को लेकर आम आदमी पार्टी की सरकार (AAP Government) से सवाल पूछे जा रहे हैं. लेकिन अब आप के विधायक और प्रवक्ता राघव चड्ढा (Raghav Chaddha) ने बीजेपी पर हमला बोला है. सोमवार को उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि बीजेपी का आईटीओ पर मिंटो ब्रिज के पास एक दफ्तर बना. उस कंस्ट्रक्शन के चलते दिल्ली जल बोर्ड (Delhi Jal Board) की पानी की और सीवरेज की लाइनें ब्लॉक हो गईं.

उन्होंने कहा कि मिंटो ब्रिज का इलाका केंद्र सरकार के अधीन आता है. इसलिए वहां की स्थिति के लिए बीजेपी जिम्मेदार है. उन्होंने कहा है कि बीजेपी की आदत अपनी जिम्मेदारियों से भागने की रही है.


'मिंटो ब्रिज का इलाका केंद्र सरकार के अधीन'



राघव चड्ढा ने कहा कि रविवार को मिंटो ब्रिज के जलभराव के हालात रेन वाटर ड्रेन और स्ट्रॉम वाटर ड्रेन के कारण बने. दिल्ली जल बोर्ड का इससे कोई संबंध नहीं है. उन्होंने कहा कि मिंटो ब्रिज का इलाका नई दिल्ली म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (NDMC) के अधीन आता है. यह केंद्र सरकार के अधिकार क्षेत्र में है फिर भी यहां ऐसी स्थिति (जलभराव) बनी. उन्होंने कहा कि बीजेपी अपनी जिम्मेदारियों से भागने का प्रयास करती है.

दरअसल रविवार सुबह हुई जोरदार बारिश से सेंट्रल दिल्ली के मिंटो ब्रिज के अंडरपास में पानी भरने से डीटीसी की एक बस जलमग्न हो गई थी. साथ ही ब्रिज के नीचे से एक ऑटो ड्राइवर युवक का शव भी बरामद हुआ था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज