विधायक ने लगाये सरकार पर आरोप, कहा- वैक्सीनेशन सेंटर्स पर नहीं मूलभूत सुविधाएं, पीने का पानी तक नहीं 

Fintech कंपनी स्‍पाइस मनी ने ग्रामीणों की कोरोना वैक्‍सीनेशन रजिस्‍ट्रेशन में मदद की पहल की है. (सांकेतिक फौटो)

Fintech कंपनी स्‍पाइस मनी ने ग्रामीणों की कोरोना वैक्‍सीनेशन रजिस्‍ट्रेशन में मदद की पहल की है. (सांकेतिक फौटो)

वैक्सीनेशन सेंटरों में स्वास्थ्य कर्मियों को मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल रही. विधायक आरोप लगा रहे हैं कि दिल्ली सरकार की ओर से बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटरों में स्टाफ के लिए पीने का पानी तक नहीं है. शौचालय आदि की भी समस्या से जूझ रहे हैं. सरकार से इन सभी केंद्रों पर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने की मांग की है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना (Corona) की रोकथाम के लिए तीसरे चरण के तहत 18 साल से अधिक की उम्र के लोगों के लिये अब तीसरे चरण का वैक्सीनेशन अभियान शुरू हो गया है. दिल्ली सरकार (Delhi Government) की ओर से अब तक 33,93,467 लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है.

वहीं, तीसरे चरण के लिए बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटरों (Vaccination Centres) में स्वास्थ्य कर्मियों को मुहैया कराई जाने वाली मूलभूत सुविधाओं के अभाव को लेकर विधायक दिल्ली सरकार पर सवाल खड़े करने लगे हैं.

विधायक आरोप लगा रहे हैं कि दिल्ली सरकार की ओर से बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटरों में स्टाफ के लिए पीने के पानी से लेकर शौचालय आदि की समस्या को भी ध्यान में नहीं रखा जा रहा है.

अब तक दी जा चुकी है 33,93,467 को कोरोना की डोज 
बताते चलें कि मंगलवार को भी पिछले 24 घंटे में 89,297 लोगों को कोरोना वैक्सीन के डोज दिए गए. इनमें पहली डोज वालों की संख्या 61,662 रिकॉर्ड की गई. वहीं 27,635 को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज दी गई. अब तक पहली डोज लेने वालों की संख्या 26,54,809 हो चुकी है. वहीं, दूसरी डोज लेने वालों का आंकड़ा 7,38,658 हो चुका है. अब तक 33,93,467 लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है.

Youtube Video

रोहताश नगर के विधायक जितेंद्र महाजन (Jitender Mahajan) ने दिल्ली सरकार पर कोरोना काल में टीकाकरण कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों को मूलभूत सुविधाएं नहीं देने का आरोप लगाया है.



महाजन के अनुसार ये स्वास्थ्य कर्मी डॉक्टर, नर्स, वार्ड बॉय आदि अपनी जान जोखिम में डालकर कोरोना के विरुद्ध लड़ाई लड़ रहे हैं. मगर दिल्ली सरकार (Delhi Government) इन्हें मूलभूत सुविधाएं भी नहीं दे रही है.

पिछले 15 मार्च से रोहतास नगर विधानसभा के दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (DUSIB) के वेलकम स्थित समुदाय भवन परिसर में टीकाकरण चल रहा है. लेकिन इस समुदाय भवन परिसर में पानी का कोई प्रबंध नहीं है. स्वास्थ्य कर्मियों के लिए ना तो पीने का पानी है और ना ही शौचालय में पानी की कोई व्यवस्था है. महिला स्वास्थ्य कर्मियों को अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

DUSIB अधिकारियों को शिकायत के बाद भी नहीं दूर हुई समस्या

विधायक जितेंद्र महाजन के अनुसार DUSIB अधिकारियों को कई बार शिकायत करने के बाद भी इस समस्या का कोई समाधान नहीं किया गया है. दूसरी ओर मानसरोवर पार्क के गवर्नमेंट स्कूल में 18 से अधिक आयु वर्ग के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई है.

मगर यहां पर स्वास्थ्य कर्मियों के लिए पीने के पानी तथा पूरे दिन में किसी भी प्रकार के जलपान की कोई व्यवस्था नहीं है. महाजन ने दिल्ली सरकार से मांग की कि इन सभी केंद्रों पर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएं.

आप विधायक कर चुके हैं दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

बताते चलें कि आम आदमी पार्टी (Aam Adami Party) के विधायक शोएब इकबाल भी अपनी सरकार पर आरोप लगा चुके हैं और अस्पतालों में बेड और सुविधाओं के अभाव के चलते दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग भी कर चुके हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज