छोटी Oxygen यूनिट बंद करने के खिलाफ धरना, BJP MLA बोले-सांसत में फंसी होम आइसोलेशन के मरीजों की जान

दिल्ली सरकार के नए फैसले के बाद  होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे मरीजों की जान सांसत में आ गई है.

दिल्ली सरकार के नए फैसले के बाद होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे मरीजों की जान सांसत में आ गई है.

Oxygen Crisis in Delhi: दिल्ली सरकार की ओर से छोटी ऑक्सीजन एजेंसियों को बंद कर दिया गया है. इसकी वजह से इन मरीजों को घर पर मिल रही सुविधा बंद हो गई है. और मरीजों की जान अब आफत में आ गई है. सरकार के इस फैसले के खिलाफ अब भाजपा विधायक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 91 हजार से ज्यादा है. इनमें से 50,000 से ज्यादा मरीज होम आइसोलेशन (Home Isolation) में है. अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी के चलते मरीज होम आइसोलेशन में ही अपना इलाज करा रहे हैं. लेकिन अब दिल्ली सरकार (Delhi Government) के नए फैसले के बाद होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे मरीजों की जान सांसत में आ गई है.

दिल्ली सरकार की ओर से छोटी ऑक्सीजन एजेंसियों (Small Oxygen Agencies) को बंद कर दिया गया है. इसकी वजह से इन मरीजों को घर पर मिल रही सुविधा बंद हो गई है. और मरीजों की जान अब आफत में आ गई है. दिल्ली सरकार के इस फैसले के खिलाफ अब भाजपा (BJP) विधायक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

रोहताश नगर विधानसभा से भाजपा विधायक जितेंद्र महाजन (Jitender Mahajan) और चारों निगम पार्षदों व अन्य नेताओं ने आज सरकार के इस फैसले के खिलाफ धरना दिया. आदेश को वापस लेने की पुरजोर मांग की जिससे कि होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे मरीजों की जान को बचाया जा सके.

Youtube Video

विधायक महाजन के मुताबिक होम आईसोलेशन में छोटे-छोटे नर्सिंग होम में हजारों लोग अपना इलाज करवा रहे हैं, जिनके रिश्तेदार छोटे-छोटे सिलेंडर में स्थानीय ऐजेंसियों से आक्सीजन भरवा कर अपने मरीजों की देखभाल कर रहे हैं.

गत कुछ दिन में दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने अधिकांश स्थानीय आक्सीजन ऐजेंसियों को बंद करवा उनके स्टाक को अधिग्रहीत कर लिया है.

सरकार के इस अधिग्रहण से होम आईसोलेशन (Home Isolation) एवं छोटे नर्सिंग होम में इलाज करा रहे मरीजों के सामने जीवन संकट उत्पन्न हो गया है.



केजरीवाल सरकार की इस मनमानी के विरोध में भाजपा विधायक जितेंद्र महाजन के नेतृत्व में निगम पार्षद प्रवेश शर्मा, अजय शर्मा, सुमनलता नागर एवं  रीना महेश्वरी और डीएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ. हरीश गुप्ता आदि ने आज मानसरोवर पार्क में धरना दिया.

महाजन ने कहा है कि यह बेहद दु:खद है दिल्ली में कोविड संक्रमण एवं आक्सीजन उपलब्धता दोनों का संकट अपने चर्म पर पहुँच चुका है. केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) इनके समाधान में पूरी तरह विफल है.

महाजन ने कहा यह दु:खद है कि केजरीवाल सरकार आक्सीजन सप्लाई बढ़ाने में नाकाम रहने के बाद अब छोटी गैस ऐजेंसियों एवं फ्री आक्सीजन सेवा करने वालों को भी परेशान कर रही है.

इसके चलते होम आईसोलेशन एवं छोटे नर्सिंग होम में भर्ती मरीजों के समक्ष जीवन संकट बढ़ गया है। उन्होंने मांग की है कि सरकार अविलंब ऐसी तुगलकी कार्रवाई बंद करे.

दिल्ली सरकार इन ऑक्सीजन सिलेंडर को जब्त कर के अपने द्वारा बनाए गए कोविड-19 सेंटर्स को चलाना चाहती है जबकि इस महामारी के दिनों में यह ऑक्सीजन सप्लाई करने वाले गोदाम हजारों मरीजों की लाइफ लाइन बन गए हैं. दिल्ली सरकार द्वारा एक तरफ जहां बड़े हॉस्पिटल्स में साधनों के अभाव के कारण प्रवेश नहीं दे पा रही है, वहीं दिल्ली की जनता को गुमराह करने के लिए नए कोविड-19 सेंटर खोलने का नाटक कर रही है.

लगभग 20 दिन पहले दिल्ली सरकार ने यमुना स्पोर्ट्स कंपलेक्स में 1000 बेड का कोविड-19 सेंटर खोलने की घोषणा की थी. परंतु साधनों के अभाव में इस कोविड केयर सेंटर में आज तक भी 100 से अधिक मरीजों को एडमिट नहीं किया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज