लाइव टीवी

कोरोना से जंग के लिए मोदी सरकार ने चीन को भेजी मदद, निभाया अच्छे पड़ोसी का धर्म
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 23, 2020, 1:13 PM IST
कोरोना से जंग के लिए मोदी सरकार ने चीन को भेजी मदद, निभाया अच्छे पड़ोसी का धर्म
कोरोना वायरस की वजह से चीन से इंपोर्ट प्रभावित हुआ है

Coronavirus: एक लाख सर्जिकल मास्क और 5 लाख जोड़े सर्जिकल दस्ताने सहित मेडिकल से जुड़े कई सामान चीन के सबसे ज्यादा प्रभावित शहर वुहान भेजे गए

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2020, 1:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना वायरस (Coronavirus) के संकट से निपटने के लिए मोदी सरकार (Modi Government) ने इससे सबसे ज्यादा प्रभावित चीन (China) को मदद के लिए हाथ बढ़ाया है. सरकार ने 15 टन मेडिकल सामान वुहान भेजा है जहां से कोरोना वायरस दुनिया भर में फैला. इससे पहले सरकार ने सार्क देशों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग करके उन्हें मदद की पेशकश की थी.

विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने लोकसभा में बताया कि प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए चीन के लोगों के साथ भारतीयों एवं भारत सरकार की एकजुटता व्यक्त करते हुए वहां के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को पत्र लिखा था. इसके बाद भारतीय वायुसेना के सी-17 विमान से वुहान (Wuhan) में 15 टन मेडिकल मदद (Medical Assistance) भेजी गई.

इसमें एक लाख सर्जिकल मास्क (Mask) , 5 लाख जोड़े सर्जिकल दस्ताने, 75 इंफ्यूजन पंप, 30 इंटेरल फीडिंग पंप, 21 डिफाइब्रिलेटर और 4000 एन-95 मास्क आदि शामिल हैं. मेडिकल सहायता पर 2.11 करोड़ रुपये का खर्च हुआ. सरकार के मुताबिक यह पूरी सामग्री हुबेई चैरिटी फेडरेशन को सौंपी गई.



इंडिया-चाइना इकोनॉमिक कल्चरल काउंसिल (India China Economic and Cultural Council) के सेक्रेटरी जनरल प्रोफेसर मो. साकिब ने न्यूज18 हिंदी से बातचीत में कहा कि भारत और चीन के बीच आर्थिक और सांस्कृतिक संबंध बहुत गहरे हैं. भारत सरकार चीन की जितनी मदद करना चाहती थी शायद उतनी नहीं कर पाई क्योंकि कोरोना का संकट अपने देश में भी आ गया है. इसके बावजूद काफी मेडिकल सहायता सबसे ज्यादा चुनौती का सामना कर रहे वुहान को भेजी गई है.



coronavirus outbreak, Modi government, medical assistance of china, Wuhan city, India-China relations, India China Economic and Cultural Council, mask demand, कोरोनावायरस का प्रकोप, मोदी सरकार, चीन को चिकित्सा सहायता, वुहान, भारत-चीन संबंध, इंडिया चाइना इकोनॉमिक कल्चरल काउंसिल, मास्क की मांग
भारत सरकार ने चीन को मेडिकल सहायता भेजी है (प्रतीकात्मक फोटो)


निजी तौर पर भी कुछ लोग मदद करना चाहते थे लेकिन लॉजिस्टिक समस्या की वजह से वे ऐसा नहीं कर पाए. क्योंकि सबकुछ बंद है. साकिब का कहना है कि कारोना की वजह से कारोबार ठप होने के कारण दोनों देशों के बीच व्यापार में कितना नुकसान हुआ है इसका आकलन अभी नहीं हुआ है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार कोरोना वायरस दुनिया के 186 देशों में पहुंच चुका है. चीन में इससे अब तक 3245 लोगों की जान जा चुकी है.

ये भी पढ़ें:

कोराना वायरस- लॉक डाउन के डर से आलू-प्याज के दाम बढ़े, लेकिन चिंता की कोई बात नहीं
किसानों को कितना मिल रहा है उनकी फसलों का दाम, सरकार ने संसद में दी इसकी जानकारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 11:10 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading