Home /News /delhi-ncr /

mohammad zubair court hearing live update delhi police custody alt news nodbk

बड़ी खबर: पटियाला हाउस कोर्ट ने मोहम्मद जुबैर को 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

दरअसल, एक समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने सोमवार को उसे गिरफ्तार किया था. इसके बाद उसे पहले एक दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा गया था. (फाइल फोटो)

दरअसल, एक समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने सोमवार को उसे गिरफ्तार किया था. इसके बाद उसे पहले एक दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा गया था. (फाइल फोटो)

Delhi Police: दिल्ली पुलिस की तरफ से कोर्ट में कहा गया है कि जुबैर ने आपत्तिजनक टिप्पणी की गई थी. जिस ट्वीट की जांच पर दिल्ली पुलिस ने इनको गिरफ्तार किया है. वहीं, जुबैर के वकील वृंदा ग्रोवर ने कहा कि केवल जुबेर ही नहीं बल्कि कई सारे लोगों ने ट्वीट को रिट्वीट किया था और अपने- अपने अंदाज में उस पर चुटकी भी ली थी. लेकिन गिफ्तार सिर्फ जुबेर को ही किया गया. ग्रोवर ने कहा कि दिल्ली पुलिस सिर्फ जुबैर को परेशान कर रही है.

अधिक पढ़ें ...

दिल्ली: ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर को मंगलवार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया. पटियाला हाउस कोर्ट की चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट स्निग्धा सरवारिया की कोर्ट में पेश किया गया है. इस दौरान दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से पांच और दिनों के लिए जुबैर की हिरासत की अवधि बढ़ाने की मांग की. लेकिन कोर्ट ने मोहम्मद जुबैर को 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजने का आदेश दिया. दरअसल, एक समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने सोमवार को उसे गिरफ्तार किया था. इसके बाद उसे पहले एक दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा गया था.

दिल्ली पुलिस की तरफ से कोर्ट में कहा गया है कि जुबैर ने आपत्तिजनक टिप्पणी की गई थी. जिस ट्वीट की जांच पर दिल्ली पुलिस ने इनको गिरफ्तार किया है. वहीं, जुबैर के वकील वृंदा ग्रोवर ने कहा कि केवल जुबेर ही नहीं बल्कि कई सारे लोगों ने ट्वीट को रिट्वीट किया था और अपने- अपने अंदाज में उस पर चुटकी भी ली थी. लेकिन गिफ्तार सिर्फ  जुबेर को ही किया गया. ग्रोवर ने कहा कि दिल्ली पुलिस सिर्फ जुबैर को परेशान कर रही है.

  • दिल्ली पुलिस ने कहा आज कल ट्वीटर पर ट्रेंड चल रहा है. अपने फॉलोवर को बढ़ाने के लिए किसी समुदाय को टारगेट कर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हैं. दिल्ली पुलिस ने कहा कि जुबैर का काम है सिर्फ धार्मिक और विवादित टिप्पड़ी को ट्वीट करना है. दिल्ली पुलिस ने कहा कि जुबैर जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. दिल्ली पुलिस ने कहा कि हमने वो लैपटॉप भी रिकवर किया है, जिससे ट्वीट किया गया था.
    दिल्ली पुलिस ने जुबैर की 5 दिन की रिमांड की मांग की है. पटियाला हाउस कोर्ट ने रिमांड पर फैसला सुरक्षित रख लिया है. कोर्ट थोड़ी देर में फैसला देगा.
  • वहीं, दिल्ली पुलिस के वकील ने मोहम्मद जुबैर को पटियाला हाउस कोर्ट के मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के सामने पेश करते हुए कहा कि हमने उसे गिरफ्तार कर लिया है, क्योंकि वह जांच के दौरान सहयोग नहीं कर रहा था. जब वह जांच में शामिल हुआ, तो उसके फोन से सभी ऐप हटा दिए गए थे.
  • वृंदा ग्रोवर ने कोर्ट में दलील पेश करते कहा कि जिस ट्वीट पर गिरफ्तारी हुई है वह ट्वीट 2018 का है, उसको लेकर 2022 में किसी ने शिकायत कर दी. ग्रोवर ने कहा कि जुबैर ने फिल्म की एक तस्वीर ट्वीट कर दी थी, जिसमें लिखा था- हनुमान होटल से लेकर हनीमून  होटल तक. जुबैर ने फिल्म की तस्वीर ज्यों की त्यों ट्वीट कर दी थी. कोई एडिट नहीं की गई थी. ग्रोवर ने कहा कि जैसा हो  वैसा ही रहो. यह एक बड़ा देश है, स्वतंत्र देश है. लोग जो चाहें कह सकते हैं. कुछ भी बोलने का अधिकार है.
  • वृंदा ग्रोवर ने जुबैर को कोर्ट में फैक्ट चेकर बताया है. वह सोशल मीडिया पर झूठ का पर्दाफाश करता है. इसलिए बहुत से लोग नापंसद करते हैं. वह बैंगलोर में रहता है. उसे दिल्ली पूछताछ के लिए बुलाया गया. नोटिस किसी और केस के लिए दिया गया था और गिरफ्तारी दूसरी केस में हुई.
  • ग्रोवर ने कहा कि होटल कोई धार्मिक स्थल नहीं है. जुबैर ने किसी धार्मिक स्थल का मजाक नहीं बनाया है. उसके विकृत रूप को दिखाया है. ये तो हनीमून पर जाने वाले कपल को लेकर 1983 की फिल्म में एक मज़ाक था. ग्रोवर ने कहा कि जुबैर फैक्ट चेकर के तौर पर जिन चीज़ो के लिए स्टैंड लेते रहे हैं, उसके लिए क़ानून का दुरूपयोग करके उन्हें परेशान किया जा रहा है.
  • ग्रोवर ने कहा कि पुलिस ने जुबैर का फोन जब्त कर लिया है. वह पुलिस को पहले ही बता चुका है कि वह ट्वीट के लिए सिर्फ अपने मोबाइल का इस्तेमाल करता है लैपटॉप का नहीं. उन्हें अब जुबैर के लैपटॉप की आवश्यकता क्यों है? वह 2018 में एक अलग फोन का इस्तेमाल करता था और उसने वह फोन खो दिया. यह पहली बार नहीं कह रहा है. यह वह पहले के मामले में हाइकोर्ट के सामने पहले ही कह चुका है. और उसके पास खोई हुई रिपोर्ट भी है. मुझे धमकी देकर उन्हें खोया फोन नहीं मिलेगा. उन्हें अब लैपटॉप चाहिए. यह दिल्ली पुलिस द्वारा सत्ता का दुरुपयोग है.
  • ग्रोवर ने कहा कि वे मेरे लैपटॉप की मांग कर रहे हैं, क्योंकि जुबैर कई चीजों को चुनौती दे रहा है. अगर पुलिस दुर्भावनापूर्ण काम कर रही है तो कोर्ट अपनी आंखें बंद नहीं कर सकता।

Tags: Court, Delhi news, Delhi news update, Delhi police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर