Home /News /delhi-ncr /

Ghaziabad ropeway News- मोहन नगर से वैशाली तक रोपवे 2024 में होगा चालू, जानें फाइनल प्‍लान?

Ghaziabad ropeway News- मोहन नगर से वैशाली तक रोपवे 2024 में होगा चालू, जानें फाइनल प्‍लान?

केन्‍द्र सरकार के साथ गाजियाबाद विकास प्राधिकरण  की बैठक में हुआ फैसला.

केन्‍द्र सरकार के साथ गाजियाबाद विकास प्राधिकरण की बैठक में हुआ फैसला.

Ropeway Vaishali to Mohannagar funding pattern: मोहन नगर से वैशाली तक रोपवे प्रोजेक्‍ट के फंडिंग पैटर्न को केन्‍द्र सरकार से स्‍वीकृति मिल गई है. केन्‍द्र सरकार ने 20 फीसदी फंड देने के लिए तैयार हो गया है. डीपीआर तैयार होने के बाद अभी तक फंडिंग को लेकर प्रोजेक्‍ट अटका हुआ था. केन्‍द्रीय सड़क परिवहन राज्‍य मंत्री और स्‍थानीय सांसद जनरल वीके सिंह की अध्‍यक्षता में हुई बैठक में फंडिंग को लेकर विस्‍तार चर्चा हुई और फंडिंग पैटर्न तय हो गया है.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. मोहन नगर से वैशाली तक रोपवे वर्ष 2024 में शुरू हो जाएगा. केन्‍द्र सरकार ने 20 फीसदी फंड देने के लिए स्‍वीकृति दे दी है. डीपीआर तैयार होने के बाद अभी तक फंडिंग को लेकर प्रोजेक्‍ट अटका हुआ था. केन्‍द्रीय सड़क परिवहन राज्‍य मंत्री और स्‍थानीय सांसद जनरल वीके सिंह की अध्‍यक्षता में हुई बैठक में फंडिंग को लेकर विस्‍तार चर्चा हुई और पैटर्न तय हो गया है. जीडीए के अधिकारियों के अनुसार जल्‍द ही रोपवे के लिए टेंडर जारी कर दिया जाएगा.

    मोहन नगर से वैशाली मेट्रो तक 5.2 किमी. लंबी दूरी तय करने के लिए रोपवे बनाया जा रहा है. इसकी अनुमानित लागत 450 करोड़ रुपये है. इसके लिए फंडिंग पैटर्न तय न होने की वजह से प्रोजेक्‍ट अटका हुआ था. पैटर्न तय होने के बाद निर्माण का रास्‍ता साफ हो गया है. गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के वीसी कृष्‍णा करुणेश के अनुसार इस प्रोजेक्‍ट को पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मोड पर पूरा करने की योजना बनाई गई है. इसके लिए 60 फीसदी खर्च निर्माण करने वाली कंपनी करेगी. 20 फीसदी जीडीए और 20 फीसदी खर्च केन्‍द्र सरकार वहन करेगा.

    जीडीए अधिकारियों के अनुसार अगर रोपवे प्रोजेक्‍ट का निर्माण करने वाली कंपनी ज्‍यादा लागत के लिए तैयार हो जाती है तो जीडीए का अंशदान कम हो जाएगा. मौजूदा समय जीडीए आर्थिक तंगी से गुजर रहा है. इन हालातों में जीडीए अधिकारी भी चाह रहे हैं कि निर्माण करने वाली कंपनी अधिक से अधिक लागत लगाए, जिससे जीडीए पर कम बोझ पड़े.

    कल बैठक में रखा जाएगा प्रस्‍ताव

    रोपवे प्रोजेक्ट के फंडिग पैटर्न का प्रस्ताव 16 दिसंबर को होने वाली जीडीए की बोर्ड बैठक में रखा जाएगा. अधिकारियों के अनुसार बैठक में स्‍वीकृत मिलना तय है. इसके बाद निर्माण प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी. अगले वर्ष निर्माण शुरू हो जाएगा और दो वर्ष में काम पूरा हो जाएगा. इस तरह 2024 तक रोपवे बनकर तैयार हो जाएगा और लोगों को मोहननगर से वैशाली मेट्रो जाने के लिए रोपवे की सुविधा मिलने लगेगी.

    ये हैं प्रस्‍तावित स्‍टेशन

    मोहन नगर से वैशाली तक रोपवे प्रोजेक्ट में चार स्टेशन प्रस्तावित हैं. इसमें वैशाली, वसुंधरा, साहिबाबाद और मोहननगर हैं. रोपवे से 15 मिनट का सफर होगा. वैशाली से मोहननगर तक आने-जाने के लिए दो ट्रैक बनाए जाएंगे. एक ट्राली में 10 लोग बैठ सकेंगे.

    Tags: Ghaziabad News

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर