आप ने यस बैंक संकट में धर्म को किया शामिल, राघव चड्ढा बोले-18 लाख खाताधारक हिंदू

आम आदमी पार्टी ने कहा है कि येस बैंक में कुल 21 लाख ग्राहक हैं, जिसमें 18 लाख हिन्दू ग्राहक हैं.
आम आदमी पार्टी ने कहा है कि येस बैंक में कुल 21 लाख ग्राहक हैं, जिसमें 18 लाख हिन्दू ग्राहक हैं.

आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रवक्ता और विधायक राघव चड्डा (Raghav Chadha) ने बीजेपी (BJP) नेताओं से सवाल किया कि हिंदुओं की पार्टी 18 लाख हिंदुओं का पैसा क्यों डूबने दिया? Yes Bank में कुल 21 लाख ग्राहक हैं, जिसमें 18 लाख हिन्दू ग्राहक हैं, जिसमें से भगवान जगन्नाथ भी एक हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रवक्ता और विधायक राघव चड्डा (Raghav Chadha) ने दावा किया है कि येस बैंक (Yes Bank) में 18 लाख से ज्यादा हिंदू खाताधारक हैं. राघव चड्ढा ने कहा है कि आज से 6 महीने पहले पीएमसी बैंक (PMC Bank) के ग्राहक को जमा पूंजी से हाथ धोना पड़ा. पीएमसी बैंक दिवालिया हो गया. PMC तो छोटा बैंक था, लेकिन अभी येस बैंक को लेकर जो जानकारी आई है वह चौंकाने वाली है. Yes बैंक देश के निजी क्षेत्र में पांचवा सबसे बड़ा बैंक है, जो दिवालिया होने की कगार पर खड़ा है. लोगों के खून-पसीने की मेहनत की जमा पूंजी खतरे में है. इस बैंक ने पिछले 5 सालों में बड़े उद्योगपतियों को लाखों करोड़ रुपए लोन दिए और वो अब नहीं लौटा रहे हैं.

'18 लाख से ज्यादा हिंदू खाताधारक'
राघव चड्डा ने कहा, 'देश में जब एनडीए की दूसरी बार सरकार बनी तो देनदारी 55 हजार करोड़ थी जो अब बढ़कर 2 लाख 40 हजार करोड़ हो गई. बीजेपी अपने को हिंदुओ की पार्टी कहती है. आपको बताना चाहता हूं कि एक अनुमान के मुताबिक 18 लाख ज्यादा हिंदू ग्राहक हैं. किस बात की सजा हिंदुओं को दे रहे हैं. इसी पार्टी के शासन काल में हमारे भगवान जगन्नाथ ट्रस्ट के 545 करोड़ यस बैंक में है. बीजेपी ने भगवान के पैसे को नहीं छोड़ा. पीएमसी में 51 हजार ग्राहकों में से 42 हजार ग्राहक हिन्दू थे. ये पार्टी ना हिन्दू, ना मुस्लिम और ना इंसान की है. ये पार्टी कुछ उद्योगपतियों की पार्टी है.'

'बैंकिंग प्रणाली से लोगों का विश्वास उठा'
राघव चड्डा ने कहा कि आज इस मंच से बीजेपी नेताओं से सवाल करता हूं कि हिंदुओं की पार्टी 18 लाख हिंदुओ का पैसा क्यों डूबने दिया आपने. कुल 21 लाख ग्राहक हैं जिसमें 18 लाख हिन्दू ग्राहक हैं, जिसमें से भगवान जगन्नाथ भी एक हैं. बैंकिंग प्रणाली से लोगों का विश्वास उठ रहा है. दिवालिया होने पर भारत सरकार एक लाख तक की भरपाई सरकार करती है. एक दुखद चीज ये है कि कुछ खास उद्योगपतियों यस बैंक के दिवालिया होने की जानकारी थी. दिवालिया घोषित होने से पहले उन्होंने अपना धन निकाल लिया. मोदी जी के करीबी अदानी जी ने पैसा निकाल लिया.



किसी भी खाताधारक का एक पैसा नहीं डूबेगा
दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने खाताधारकों को साफ कर दिया है कि किसी भी खाताधारक का एक पैसा नहीं डूबेगा और न ही सरकार डूबने देगी. वित्त मंत्री ने निर्मला सीतारमन ने साफ कहा है कि येस बैंक के खाताधारकों को घबराने की जरूरत नहीं है. येस बैंक को फिर से पटरी पर लाने को लेकर SBI चेयरमैन रजनीश कुमार (SBI Chairman Rajnish Kumar) ने भी अपना प्लान पेश किया है. रजनीश कुमार ने RBI की ओर से जारी हुए ड्राफ्ट का जिक्र करते हुए कहा कि बैंक में जमा सभी खाताधारकों के पैसे पूरी तरह से सुरक्षित हैं. उन्होंने कहा कि हमारी टीम RBI की ओर से जारी ड्राफ्ट स्कीम पर काम कर रही है.

प्रमोटर और संस्थापक राणा कपूर के घर पर छापामारी
इधर येस बैंक मामले (Yes Bank Crisis) में प्रवर्तन निदेशालय की ओर (ED-enforcement directorate) से बैंक के पूर्व प्रमोटर और संस्थापक राणा कपूर के घर पर छापामारी चल रही है. ED के मुंबई दफ्तर राणा कपूर से लगातार पूछताछ हो रही है. ईडी ने बैंक के संस्थापक और इस संकट के सामने आने से पहले बोर्ड एग्जिट कर चुके बैंक के पूर्व सीईओ राणा कपूर के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है.

ये भी पढ़ें: ऑपरेशन बिहार: ज़मीन पर कितना मजबूत है बिहार में तीसरा विकल्प?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज